×

खुली मस्जिदें: खौफनाक मंजर की तैयारी, इन देशों में बंटेगा कोरोना

पूरी दुनिया के 1.8 अरब मुसलमानों के लिए इस साल का रमजान बिल्कुल अलग है। कोरोना वायरस की वजह से हर जगह लॉकडाउन लगा है ऐसें में मुसलमानों को घरों में रह कर ही इसका पालन करना पड़ेगा।

Vidushi Mishra
Updated on: 24 April 2020 11:11 AM GMT
खुली मस्जिदें: खौफनाक मंजर की तैयारी, इन देशों में बंटेगा कोरोना
X
खुली मस्जिदें: खौफनाक मंजर की तैयारी, इन देशों में बंटेगा कोरोना
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया पर बुरे साए की तरह छाया हुआ है, वहीं आज से रमजान का महीना भी शुरू हो गया है। पूरी दुनिया के 1.8 अरब मुसलमानों के लिए इस साल का रमजान बिल्कुल अलग है। कोरोना वायरस की वजह से हर जगह लॉकडाउन लगा है ऐसें में मुसलमानों को घरों में रह कर ही इसका पालन करना पड़ेगा। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग और एक साथ जमा होने पर रोक लगाई गई है। वैसे तो दुनिया के ज़्यादातर इस्लामिक देशों में लॉकडाउन है लेकिन इन हालातों में भी जहां इस्लामिक समूहों का बोल-बाला है वहां रमज़ान के दौरान मस्जिदें खुली हैं और लोग साथ में नमाज़ भी अदा कर रहे हैं। लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का जमकर उल्लंघन कर रहें हैं।

ये भी पढ़ें... CM योगी ने किया ऐलान: मजदूरों व श्रमिकों के लिए खुशी की खबर, शुरू हुई तैयारी

मस्जिदें खुली रखने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया

ऐसे में कई देशों में रमजान के चलते रोज़ा खोलने के दौरान रात में कर्फ़्यू लगा दिया है। रोज़ा खोलने के दौरान लोग समूहों में खाते थे और इसी को रोकने के लिए ही ऐसा किया गया है जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा सके।

बता दें कि पाकिस्तान के साथ ही इंडोनेशिया में भी मस्जिदें खुली रहने की ख़बर आई है। पाकिस्तान के डॉक्टरों ने मस्जिदें खुली रखने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है और कहा है कि इससे संक्रमण बढ़ने का ख़तरा है। पाकिस्तान ने पहले मस्जिद बंद रखने का फ़ैसला किया था लेकिन बाद में कुछ शर्तों के साथ फ़ैसला बदल दिया था।

वहीं इंडोनेशिया के अचे प्रांत में मुसलमान बड़ी संख्या में गुरुवार रात मस्जिद में सामूहिक नमाज़ में इकठ्ठा हुए। यह रमज़ान शुरू होने से पहले की नमाज़ थी। लेकिन अधिकतर लोगों ने फेस मास्क लगा रखे थे, फिर भी सब बहुत ही पास-पास थे। यहां इन लोगों ने इंडोनेशिया की सरकार की गाइडलाइन का भी उल्लंघन किया।

ये भी पढ़ें...बड़ी खबर: तीन लाख से अधिक कर्मचारियों का डीए फ्रीज, आदेश जारी

सबसे ज़रूरी चीज़ है ख़ुद को साफ़ सुथरा रखना

ऐसे में इंडोनेशिया से पुतरी सराह नाम के एक नमाज़ी ने कहा, ''कोरोना वायरस से डर है लेकिन नमाज़ के लिए निकलने में कोरोना से डर नहीं लगता। सबसे ज़रूरी चीज़ है ख़ुद को साफ़ सुथरा रखना। हम हाथ धो रहे हैं और मास्क भी पहन रहे हैं।

वहीं वाहयुका नाम के एक और नमाज़ी ने कहा कि वो बच्चों के दबाव में मस्जिद आए हैं। उन्होंने कहा, ''मुझे साथ में नमाज़ अदा करने में डर लग रहा है इसलिए मैं लाइन से बिल्कुल दूर हूं।''

इन खतरनाक हालातों में लोग इस तरह से सरकार के नियम-कानूनों का उल्लंघन कर रहे है, जो बेहद खौफनाक है। इन लोगों को अभी ये भी पता है कि इनका अंजाम कितना बुरा है।

ये भी पढ़ें...लांच हुई बजाज की बाइक: आ गई BS6 वर्जन, जानें इसकी कीमत

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story