Top

अभी-अभी पाकिस्तान ने सिखों पर लगाया ये बड़ा बैन, जानें पूरा मामला

पाकिस्तान के ननकाना साहिब में भीड़ ने सिखों के पवित्र स्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पथराव कर दिया और सिखों के खिलाफ नारेबाजी की। इसके कारण सिखों को नगर कीर्तन करने पर बैन लगा दिया गया है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 4 Jan 2020 10:47 AM GMT

अभी-अभी पाकिस्तान ने सिखों पर लगाया ये बड़ा बैन, जानें पूरा मामला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के ननकाना साहिब में भीड़ ने सिखों के पवित्र स्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पथराव कर दिया और सिखों के खिलाफ नारेबाजी की।

इसके कारण सिखों को नगर कीर्तन करने पर बैन लगा दिया गया है। पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्ट के अनुसार क्षेत्र में अब भी तनाव बरकरार है जिसके कारण नगर कीर्तन की इजाजत नहीं मिली है।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति पाकिस्तान भेजेगी प्रतिनिधिमंडल

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के अध्यक्ष गोविंद सिंह लोंगोवाल ने कहा कि हम चार सदस्यीय एक प्रतिनिधिमंडल पाकिस्तान भेज रहे हैं। वे पाकिस्तानी सूबे के गवर्नर से मुलाकात कर हालात का जायजा लेंगे।

ननकाना साहिब गुरुद्वारा हमला: भारत ने पाक पर दिखाई सख्ती, कहा- तुरंत लें एक्शन

ये भी पढ़ें...ननकाना साहिब गुरुद्वारा हमला: भारत ने पाक पर दिखाई सख्ती, कहा- तुरंत लें एक्शन

जानिए घटनाक्रम

बता दें कि शुक्रवार को सैकड़ों लोगों ने गुरुद्वारे को घेर लिया था। इस भीड़ की अगुवाई मोहम्मद हसन के परिवार ने की थी, जिस पर सिख लड़की जगजीत कौर का जबरन धर्मांतरण कराने का आरोप है। घटना के बाद बड़ी तादाद में पुलिस तैनात की गई है, लेकिन हालात तनावपूर्ण हैं। घटना से सिख समुदाय में आक्रोश है।

जानकारी के अनुसार जगजीत कौर उर्फ आयशा के साथ शादी करने वाले मोहम्मद एहसान के भाई मोहम्मद इमरान के साथ आए मुसलमानों ने गुरुद्वारा साहिब को घेर लिया था।

पहले उन्होंने गुरुद्वारा साहिब के मुख्य प्रवेश द्वार के बाहर बैठकर प्रदर्शन किया। इसके बाद गुरुद्वारे के मुख्य प्रवेश द्वार पर पथराव किया गया।

ये भी पढ़ें...पाकिस्तान में भीड़ ने ननकाना साहिब पर किया बड़ा हमला, जान बचाकर भागे सिख

गेट बंद करने पर गुरुद्वारा साहिब के भीतर भी पत्थर फेंके गए। प्रदर्शनकारियों ने धमकी दी कि इस शहर का नाम बदलकर गुलाम-ए-मुस्तफा कराएंगे। कोई सिख ननकाना में नहीं रहेगा। यह प्रदर्शन लगभग चार घंटे चला था। इस कारण गुरुद्वारे के आसपास की दुकानें बंद हो गईं।

इस दौरान गुरुद्वारे में मौजूद संगत डरकर प्रदर्शनकारियों के जाने के बाद भी काफी देर तक वहीं बैठी रही। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने कई पत्थरबाजों को गिरफ्तार किया है। इसके बाद संगत वहां से निकली। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

ये भी पढ़ें...डोनाल्ड ट्रंप के फैसले से भारत को तगड़ा झटका! जानिए क्या होगा असर

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story