पाकिस्तान: इस हिन्दू लड़की के साथ जो कुछ हुआ, सुनकर कांप उठेगी रूह

पाकिस्तान की 15 वर्षीय नाबालिग हिंदू लड़की महक ने स्थानीय अदालत में कहा कि मैं इस्लाम नहीं कबूल करना चाहती है। उसने बताया कि मेरी जिस मुस्लिम शख्स से अली रजा मिर्ची के साथ शादी हुई है, उसके साथ भी नहीं रहना।

इस्लामाबाद: पाकिस्तान की 15 वर्षीय नाबालिग हिंदू लड़की महक ने स्थानीय अदालत में कहा कि मैं इस्लाम नहीं कबूल करना चाहती है। उसने बताया कि मेरी जिस मुस्लिम शख्स से अली रजा मिर्ची के साथ शादी हुई है, उसके साथ भी नहीं रहना। उसने गुहार लगाई कि उसे उसके मां-बाप के पास भेज दिया जाए।

महक के वकील नारायणदास कपूर ने बताया कि कोर्ट के बाहर और अंदर मौलवियों की भारी संख्या में मौजूदगी को देखते हुए जज ने बंद कमरे के अंदर मामले की सुनवाई की।

ये भी पढ़ें…विदेश मंत्रालय ने क्यों कहा- पाकिस्तान अगर मदद मांगता है तो विचार किया जाएगा…

21 जनवरी को दिया बयान, मर्जी से की है शादी

इससे पहले 21 जनवरी को महक ने अदालत में माना था कि उसने अपनी मर्जी से इस्लाम कबूल किया है और अली रजा से अपनी मर्जी से शादी की है। हालांकि वह अपने बयान से पलट गई है और कोर्ट से बताया कि उसने गलती से यह बयान दिया था।

 

15 जनवरी को अपहरण के बाद जबरन हुआ निकाह

बता दें कि पाकिस्तान के सिंध प्रांत स्थित जैकबाबाद से 15 जनवरी को महक का अपहरण कर लिया गया था। आरोप है कि उसका निकाह जबरन अली रजा के साथ करवा दिया गया। इसको लेकर सिंध में हिंदुओं ने भारी विरोध-प्रदर्शन किया। कई उदारवादी मुस्लिम संगठनों ने भी इसमें हिस्सा लिया।

ये भी पढ़ें…भारत-पाकिस्तान में टकराव: घोड़े पर हुआ बवाल, निशाने पर ओलंपिक

डर के चलते दिया गलत बयान

वकील ने बताया कि 21 जनवरी को महक ने भारी दबाव और धमकियों के डर से कोर्ट के सामने गलत बयान दिया था। कोर्ट के आदेश पर महक की उम्र पता की गई तो वह महज 15 साल 8 महीने निकली।

ये भी पढ़ें…कोरोना वायरस: पाकिस्तान सरकार शर्म करो, वीडियो हुआ वायरल, जानिए पूरा मामला

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App