थैंक यू पाकिस्तान! ऐसे बचाया 150 भारतीयों कि जान, जानें पूरा मामला   

जयपुर से ओमान की राजधानी मस्कट जा रहे एक भारतीय विमान को पाकिस्तान के एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (एटीसी) ने दुर्घटना का शिकार होने बचा लिया। भारतीय विमान के पायलट ने खराब मौसम के कारण अलर्ट जारी किया था। जिसके बाद पाकिस्तान नागर विमानन प्राधिकरण के एक हवाई यातायात नियंत्रक ने भारतीय विमान को दुर्घटनाग्रस्त होने बचा लिया। 

नई दिल्ली: पाकिस्तान हमेशा भारत के खिलाफ सीमा पर कोई न कोई सैनिक कार्यवाईया आतंकवादी गतिविधियां करता रहता है। सीमा पर सीज फायर का उलंघन भी करता है जिसके कारण पकिस्तान की हमेशा भारत में निंदा होती है। लेकिन इस बार मामला अलग है।

ये भी देखें : घर बैठे खोलें अकाउंट: अब इन बचत योजनाओं में करें निवेश, होगा फायदा

भारतीय विमान के पायलट ने जारी किया था अलर्ट

बता दें कि जयपुर से ओमान की राजधानी मस्कट जा रहे एक भारतीय विमान को पाकिस्तान के एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (एटीसी) ने दुर्घटना का शिकार होने बचा लिया। भारतीय विमान के पायलट ने खराब मौसम के कारण अलर्ट जारी किया था। जिसके बाद पाकिस्तान नागर विमानन प्राधिकरण के एक हवाई यातायात नियंत्रक ने भारतीय विमान को दुर्घटनाग्रस्त होने बचा लिया।

विमान बृहस्पतिवार को कराची क्षेत्र के ऊपर से उड़ान भर रहा था

रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के सिंध प्रांत के चोर इलाके में भारतीय विमान का असामान्य मौसमी स्थितियों से सामना हुआ। विमान में 150 यात्री सवार थे। विमान बृहस्पतिवार को कराची क्षेत्र के ऊपर से उड़ान भर रहा था तभी विमान आकाशीय बिजली की चपेट में आ गया और लगभग उसी वक्त वह 36 हजार फीट की ऊंचाई से गिरकर अचानक 34 हजार फीट की ऊंचाई पर आ गया।

ये भी देखें : रजत शर्मा ने DDCA से दिया इस्तीफा, लगाए ये बड़े आरोप

पाकिस्तान के हवाई यातायात नियंत्रक ने, चेतावनी पर की तुरंत प्रतिक्रिया

इसके बाद पायलट ने आपात प्रोटोकॉल जारी किया और पास के स्टेशनों को खतरे की सूचना दी। पाकिस्तान के हवाई यातायात नियंत्रक ने भारतीय पायलट की चेतावनी पर तुरंत प्रतिक्रिया की और आसपास के क्षेत्र में विमान को शेष यात्रा के लिए पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र में घने हवाई यातायात के माध्यम से निर्देशित किया।

पांच महीने बंद था पाक का यह हवाई क्षेत्र

इस साल भारत के साथ गतिरोध के मद्देनजर करीब पांच महीने के प्रतिबंध के बाद पाकिस्तान ने 16 जुलाई को अपने हवाई क्षेत्र भारत के लिए खोल दिए थे। बालाकोट में भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने 26 फरवरी को अपना हवाई क्षेत्र बंद कर दिया था।

ये भी देखें : यहां किसानों ने पुलिस पर बोला धावा, ये है पूरा मामला

पिछले महीने कश्मीर मुद्दे को लेकर पाकिस्तान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सऊदी अरब की यात्रा के मद्देनजर उनके विमान के लिए अपने हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल से इंकार कर दिया था। पाकिस्तान द्वारा उठाये गये इस साकारात्म कदम की सराहना होनी चाहिए। यह दोनों देश के लोगों के लिए एक अच्छे संदेश की तरह है।