×

अधूरा रहेगा मिशन मंगल: Perseverance Rover के सामने बड़ी चुनौती, जानें क्या होगा

नासा के परसेवरेंस रोवर के सामने मंगल ग्रह (Mars) पर एक बड़ी चुनौती आ सकती है। इसके बाद से चिंता जताई जा रही है कि कहीं परसेवरेंस रोवर भी इस तूफान की चपेट में ना आ जाए।

Shreya
Updated on: 26 Feb 2021 8:16 AM GMT
अधूरा रहेगा मिशन मंगल: Perseverance Rover के सामने बड़ी चुनौती, जानें क्या होगा
X
अधूरा रहेगा मिशन मंगल: Perseverance Rover के सामने बड़ी चुनौती, जानें क्या होगा
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: नासा का परसेवरेंस रोवर (Perseverance Rover) सफलतापूर्वक मंगल ग्रह (Mars) पर लैंड हो गया है। लैंडिंग के बाद मंगल ग्रह की कई खूबसूरत फोटोज भी भेज चुका है। लेकिन इस बीच रोवर के सामने एक मुसीबत आने की संभावना जताई जा रही है। और वो खतरा है तूफान का। जिसके बाद सवाल उठने लगा है कि क्या परसेवरेंस रोवर इस तूफान को झेल पाएगा।

मंगल ग्रह पर अक्सर आते हैं बड़े तूफान

बता दें कि लाल ग्रह (मंगल) पर अक्सर तूफान आते रहते हैं। तूफान इतने तेज होते हैं तो बड़े बड़े पत्थरों को भी चकनाचूर कर देते हैं। यही नहीं इस दौरान बिजलियां भी कड़कती हैं। अब एक बार फिर मंगल ग्रह पर धूल का तूफान आने वाला है। इस तूफान में बिजलियां भी कड़केंगी। इस Storm की वजह से मंगल ग्रह पर वातावरण (Atmosphere) बैंगनी (Purple) कलर का हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: पेट्रोल 2 रुपए मेंः यहां बिक रहा कौड़ियों के भाव तेल, जानें क्या है वजह

क्या टिक पाएगा Perseverance Rover?

अब इसके बाद से चिंता जताई जा रही है कि कहीं परसेवरेंस रोवर भी इस तूफान की चपेट में ना आ जाए। इस मामले में ओरेगॉन यूनिवर्सिटी के जियोलॉजिस्ट जोशुआ मेंडेज हार्पर ने कहा कि मार्स परसेवरेंस रोवर (Mars Perseverance Rover) जिस जेजेरो क्रेटर में है, वहां पर कुछ दिन पहले ही तूफान आया था। लेकिन अगला तूफान आने तक रोवर को कोई भी खतरा नहीं है।

यह भी पढ़ें: बच्चा पैदा करना पड़ा भारी: देना पड़ा 1 करोड़ का फाइन, जानें क्या है मामला

storm on mars (फोटो क्रेडिट- नासा)

नासा का मकसद होगा पूरा

लेकिन जब तूफान आएगा तो लाल ग्रह का रंग बैंगनी में बदल जाएगा और रोवर के सामने कई बार बिजलियां कड़कती हुई दिखाई देंगी। जोशुआ मेंडेज हार्पर ने कहा कि यह जल्द ही होगा। इसलिए नासा ने जिस काम के लिए रोवर को मंगल ग्रह पर भेजा है, वह मकसद भी पूरा होगा। यानी मार्स पर उठ रहे तूफान, बिजली, धूल, इलेक्ट्रिक चार्ज आदि की स्टडी करने को मिलेगी।

प्राचीन जीवन मौजूद होने का मिलेगा सबूत

जोशुआ ने कहा कि Mars पर आने वाले इस तूफान की जांच करते वक्त ही रोवर को यह मौका मिलेगा कि वह लाल ग्रह पर Organic पदार्थों की खोज कर सके। अगर मार्स परसेवरेंस रोवर इसमें कामयाब होता है तो यह एक बड़ी खोज होगी। क्योंकि जब इस तरह के तूफान आते हैं तो वह अपने साथ कई तरह की चीजों को एक साथ लेकर चलते हैं। साथ ही कई तरह की रासायनिक प्रोसेस होती हैं, जो इस बात का प्रमाण दे सकती हैं कि मंगल पर प्राचीन जीवन मौजूद था।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तानी एक्टर का बड़ा खुलासा, इस महिला ने किया शोषण, बाॅलीवुड पर कही ये बात

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story