Top

भड़की भयानक हिंसा: 18 सुरक्षाकर्मियों समेत 69 लोगों की मौत, सेना की गई तैनात

नाइजीरिया में पुलिस की बर्बरता के खिलाफ हो प्रदर्शन के बाद हिंसा भड़क गई है। इस हिंसा में 18 सुरक्षाकर्मियों समेत 69 लोगों की मौत हो गई है। नाइजीरिया के राष्ट्रपति मुहम्मदू बुहारी ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने इस हिंसा के लिए उपद्रव को जिम्मेदार बताया है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 25 Oct 2020 3:25 AM GMT

भड़की भयानक हिंसा: 18 सुरक्षाकर्मियों समेत 69 लोगों की मौत, सेना की गई तैनात
X
नाइजीरिया में पुलिस की बर्बरता के खिलाफ हो प्रदर्शन के बाद हिंसा भड़क गई है। इस हिंसा में 18 सुरक्षाकर्मियों समेत 69 लोगों की मौत हो गई है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: नाइजीरिया में पुलिस की बर्बरता के खिलाफ कई प्रदर्शन हो रहा है। अब प्रदर्शनों के बाद हिंसा भड़क गई है। इस हिंसा में 18 सुरक्षाकर्मियों समेत 69 लोगों की मौत हो गई है।

नाइजीरिया के राष्ट्रपति मुहम्मदू बुहारी ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने इस हिंसा के लिए उपद्रव को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों ने बहुत ही संयम से काम लिया।

माना जा रहा है कि राष्ट्रपति की इन टिप्पणियों के बाद नाइजीरिया में तनाव और बढ़ सकता है। मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल का कहना है कि सैनिकों ने प्रदर्शनकारियों पर गोलियां बरसाईं। इसमें कम से कम 12 प्रदर्शनकारियों की जान चली गई है। इस घटना की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निंदा हो रही है।

ये भी पढ़ें...रेहड़ी-पटरी दुकानदारों को बड़ा तोहफा देंगे PM मोदी, खुशी से खिल उठेंगे चेहरे

दंगाईयों ने की सैनिकों और पुलिसकर्मियों की हत्या

बुहारी ने बयान जारी कहा है कि गुरुवार तक दंगाइयों ने 11 पुलिसकर्मियों और सात सैनिकों की हत्या कर दी। उन्होंने कहा कि अशांति का यह दौर जारी है। राष्ट्रपति ने कहा कि सही इरादे से शुरू हुए प्रदर्शन पर उपद्रवियों ने कब्जा कर लिया है, लेकिन इस बयान पर कई लोगों ने निराशा जाहिर की है।

Nigeria

दो हजार कैदी जेल से फरार

बता दें कि इससे पहले नाइजीरिया में करीब दो हजार कैदी जेल से भाग गए थे। प्रदर्शनकारी भीड़ ने दो जेलों पर हमला बोल दिया जिसके बाद कैदी फरार हो गए। पुलिस की बर्बरता के खिलाफ लोग सड़क हैं और दो हफ्ते से ज्यादा समय से प्रदर्शन कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें...महबूबा के बयान पर भाजपा का बड़ा हमला, सेक्युलर लॉबी की चुप्पी पर उठाए सवाल

इसके बाद वहां दंगा रोधी विभाग के पुलिस महानिरीक्षक ने नाइजीरिया की जेलों के आसपास सुरक्षा बढ़ाने के आदेश दिए थे। पुलिस ने बयान जारी किया था लोगों की जिंदगी और संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से रोकने के लिए कानून की पूरी ताकत का इस्तेमाल किया जाएगा। लेकिन इसके बाद हिंसा का दौर जारी है।

इसलिए हो रहा है प्रदर्शन

नाइजीरिया में लोग विरोध प्रदर्शन स्पेशल ऐंटी-रॉबरी स्क्वॉड (SARS) के खिलाफ कर रहे हैं। पुलिस की इस यूनिट के खिलाफ लंबे वक्त से एक्सटॉर्शन, टॉर्चर और हत्या करने जैसे बड़े आरोप लग रहे हैं। प्रदर्शनों के बाद घोषणा की गई है कि SARS को खत्म किया जाएगा और उसकी जगह स्पेशल वेपन्स ऐंड टैक्टिक (SWAT) टीम बनाई जाएगी।

ये भी पढ़ें...पाकिस्तान की दोस्त चीन और सऊदी अरब ने कर दी ऐसी हालत, कांपने लगे इमरान

लोगों को पुलिस के इस बयान पर विश्वास नहीं है। उनका कहना है कि यह नाटक है सिर्फ नाम बदला जा रहा है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जब तक उनसे किए गए वादे पूरे नहीं किए जाते तब तक सड़कों आंदोलन करते रहेंगे।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story