Top

पाकिस्तान को तगड़ा झटका: सऊदी अरब ने की कड़ी कार्रवाई, कांपने लगे इमरान

सऊदी अरब ने पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। कश्मीर को लेकर सऊदी अरब पर टिप्पणी करना पाकिस्तान को महंगा पड़ गया है। सऊदी अरब ने पाकिस्तान को ऐसा झटका दिया है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 8 Aug 2020 4:05 PM GMT

पाकिस्तान को तगड़ा झटका: सऊदी अरब ने की कड़ी कार्रवाई, कांपने लगे इमरान
X
पाकिस्तान को तगड़ा झटका: सऊदी अरब ने की कड़ी कार्रवाई, कांपने लगे इमरान
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इस्लामाबाद: सऊदी अरब ने पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। कश्मीर को लेकर सऊदी अरब पर टिप्पणी करना पाकिस्तान को महंगा पड़ गया है। सऊदी अरब ने पाकिस्तान को ऐसा झटका दिया है जिससे उबरना उसके लिए बहुत मुश्किल होगा।

पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था चौपट हो चुकी है। प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश को इस मुश्किल से निकालने के लिए सऊदी अरब से कच्चा तेल उधार लेने के लिए 3 साल की डील की थी। लेकिन सऊदी सरकार ने पाकिस्तान को तगड़ा झटका दिया है और इस डील को समय से पहले ही समाप्त कर दिया है।

मई के बाद से ही सऊदी अरब ने पाकिस्तान को कच्चा तेल नहीं दिया है। इसके साथ ही सऊदी अरब की सरकार ने पाकिस्तान को इस लेकर कोई जवाब भी नहीं दिया है।

मोहम्मद बिन सलमान मोहम्मद बिन सलमान

यह भी पढ़ें...दूसरा बेरुत ब्लास्ट! जोरदार धमाके से दहला ये देश, मची तबाही

सऊदी अरब ने पाकिस्तान को दिया तगड़ा झटका

मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान के बर्ताव के कारण सऊदी अरब ने अपने वित्तीय समर्थन को भी वापस भी ले ली है। सऊदी अरब ने अक्टूबर 2018 में पाकिस्तान को 3 साल के लिए 6.2 बिलियन डॉलर का वित्तीय पैकेज देने की घोषणा की थी। इसमें 3 बिलियन डॉलर की नकद सहायता राशि भी शामिल थी। इसके साथ ही बाकी के पैसों के बदले पाकिस्तान को तेल और गैस की सप्लाई होनी थी।

यह भी पढ़ें...सामने आया दिशा की आखिरी पार्टी का वीडियो, देखें कौन-कौन लोग थे शामिल

इस समझौते के मुताबिक, सऊदी अरब ने पाकिस्तान को नकदी और तेल की सुविधा सिर्फ एक साल के लिए दिया था, हालांकि बाद में इसको बढ़ाकर तीन साल के लिए कर दिया गया। इस 3 बिलियन डॉलर की नकद सहायता के लिए पाकिस्तान 3.3 प्रतिशत की दर से ब्याज सऊदी को दे रहा था।

Imran Khan इमरान खान

यह भी पढ़ें...मुकेश अंबानी की संपत्ति: फिर बने दुनिया के चौथे सबसे रईस, इतना है पैसा

पाकिस्तानी पेट्रोलियम विभाग के प्रवक्ता साजिद काजी का कहना है कि यह करार मई महीने में ही समाप्त हो गया था। वित्त विभाग इसके नवीकरण की कोशिश में लगा है। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान सरकार को सऊदी अरब सरकार के जवाब का इंतजार है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story