Top

आतंकियों का खूनी खेल: सात मजदूरों की हत्या की, तीन महिला डॉक्टरों को भी मारा

नंगरहार के प्रांतीय पुलिस प्रमुख जनरल जुमा गुल हेमट ने इस हमले के बारे में बताया कि मारे गए सभी मजदूर सोर्ख रॉड जिले के प्लास्टर कारखाने में काम करते थे। उन्होंने बताया कि सभी मजदूर अफगानिस्तान के अल्पसंख्यक शिया हजारा समुदाय के थे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 5 March 2021 3:22 AM GMT

आतंकियों का खूनी खेल: सात मजदूरों की हत्या की, तीन महिला डॉक्टरों को भी मारा
X
नंगरहार के प्रांतीय पुलिस प्रमुख जनरल जुमा गुल हेमट ने इस हमले के बारे में बताया कि मारे गए सभी मजदूर सोर्ख रॉड जिले के प्लास्टर कारखाने में काम करते थे।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

काबुल: अफगानिस्तान में आतंकियों का खूनी खेल जारी है। आतंकी आए दिन बम धमाके कर रहे हैं और लोगों की हत्या कर रहे हैं। अब अफगानिस्तान में आतंकियों ने 7 मजदूरों की गोली मारकर हत्या कर दी है। इससे पहले तीन महिला डॉक्टरों को मारा था।

शिया हजारा समुदाये के थे मजदूर

नंगरहार के प्रांतीय पुलिस प्रमुख जनरल जुमा गुल हेमट ने इस हमले के बारे में बताया कि मारे गए सभी मजदूर सोर्ख रॉड जिले के प्लास्टर कारखाने में काम करते थे। उन्होंने बताया कि सभी मजदूर अफगानिस्तान के अल्पसंख्यक शिया हजारा समुदाय के थे।

मारे गए मजदूरों में काबुल, मध्य बामियान और उत्तरी बल्ख प्रांतों में कारखाने में मजदूरी करने के लिए आए थे। इस हत्याकांड में चार आतंकियों को गिरफ्तार किया है।

ये भी पढ़ें...लॉकडाउन 28 मार्च तक: देश में हुआ बड़ा एलान, प्रतिबंधों में मिली कुछ छूट

लेकिन मजदूरों की हत्या की जिम्मेदारी किसी संगठन ने नहीं ली है। जिस इलाके में मजदूरों की हत्या की गई है उसमें में दाएश का काफी असर है। अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट को दाएश के नाम से जाना जाता है। इस आतंकी संगठन ने शिया समुदाय को खिलाफ लड़ाई छेड़ी हुई है। आईएसआईएस लगातार हजारा समुदाय के लोगों पर हमले करता रहता है। इनमें अधिकांश काम करने वाले लोग मजदूर होते हैं।

ये भी पढ़ें...इमरान खान का इस्तीफा! हो सकता है बड़ा एलान, सेना प्रमुख- ISI के डीजी से मुलाकात

बम विस्फोट की ली जिम्मेदारी

इस्लामिक स्टेट आतंकी संगठन ने एक महिला डाॅक्टर की हत्या की ली है। आतंकवादी संगठन का कहना है कि उसके लड़ाकों ने महिला के वाहन पर रखे एक चिपचिपे बम में विस्फोट किया। आतंकियों ने कहा कि महिला ने पूर्वी नंगरहार प्रांत की राजधानी जलालाबाद में अफगान खुफिया सेवा के लिए काम की थी।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story