×

कभी सोच नहीं सकते! भेड़ के साथ 100 बार किया ऐसा काम, लोगों ने कहा कैसे किया भाई

रूस के साइबेरिया में एक अजीबोगरीब प्रतियोगिता हुई। यहां तुवा गणराज्य में किसानों की ओर से आयोजित नाडिम फेस्टिवल में जिंदा भेड़ को कंधों पर लादकर उठक-बैठक लगाने वाला (शीप स्वाक्टिंग कॉन्टेस्ट) एक कंपीटीशन रखा गया। हैरान करने वाली बात यह है कि इस बार यह एक विदेशी युवक ने जीता।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 28 July 2019 10:44 AM GMT

कभी सोच नहीं सकते! भेड़ के साथ 100 बार किया ऐसा काम, लोगों ने कहा कैसे किया भाई
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

माॅस्को: रूस के साइबेरिया में एक अजीबोगरीब प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। यह आयोजन साइबेरिया के तुवा गणराज्य में किसानों की ओर से किया गया था। इस आयोजन नाम है नाडिम फेस्टिवल। इस फेस्टिवल में जिंदा भेड़ को कंधों पर लादकर उठक-बैठक करने वाला (शीप स्वाक्टिंग कॉन्टेस्ट) एक कंपीटीशन का आयोजन होता है। सबसे चौकाने वाली बात यह है कि इस बार यह एक विदेशी लड़के ने जीता।

यह फेस्टिवल किसानों द्वारा मनाया जाता है जो सोमवार को खत्म हो गया। इसमें कई कंपीटीशन का आयोजन किया गया। पिछले 1000 साल में इस कॉन्टेस्ट को कोई विदेशी नहीं जीत पाया था, लेकिन इस सीजन यह रिकॉर्ड धाराशाही हो गया। शीप स्वाक्टिंग कंपीटीशन में स्विट्जरलैंड के डॉ. गिनो कास्परी ने 50 किलो की भेड़ के साथ 100 से अधिक बार उठक-बैठक की।

यह भी पढ़ें...OMG: इस रेस्टोरेंट में टॉयलेट सीट पर बैठ कर टॉयलेट प्लेट में खाते है खाना, आप खाएंगे या कहेंगे SHIT

रिपोर्ट के मुताबिक इनाम में डॉ. कास्परी को सर्टिफिकेट के साथ उस भेड़ को भी गिफ्ट के रूप में दिया गया जिसे उठाकर उन्होंने कंपीटीशन में जीत हासिल की। यह भेड़ इसलिए उनको दी गई कि वह इसे अपने घर बेर्न शहर ले जाकर लोगों को दिखा पाएं। इस प्रतियोगिता में 30 लोगों ने हिस्सा लिया था। इस दौरान बहुत से लोग एक दूसरे को चैलेंज देते हुए देखे गए। ऐसे में डॉ. कास्परी ने इस चुनौती को स्वीकार कर लिया।

शीप स्वाक्टिंग कंपटीशन में महिलाएं हिस्सा लेती हैं, लेकिन उनका आयोजन अलग से किया जाता है। महिलाओं को उम्र के मुताबिक कम वजन वाली भेड़ या फिर अकेले ही उठक-बैठक लगाने को कहा जाता है।

यह भी पढ़ें...होगे बड़के अमीर! इधर छोटकी ने तो खरीद डाली पूरी बिल्डिंग, हिला दिया दुनिया को

साइबेरिया में हर साल चार दिवसीय नाडिम फेस्टिवल का आयोजन होता है। इसमें ऊंटों की दौड़, तीरंदाजी, मुक्केबाजी और शीप स्वाक्टिंग जैसे इवेंट शामिल हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story