यहां खूनी हिंसा: इससे भड़के लोग, 46 पुलिस अधिकारियों सहित 80 लोग घायल

बहुत से देशों का माहौल गर्माया हुआ है। पहले हांगकांग की पब्लिक भड़की हुई थी। लेकिन ऐसा ही माहौल अब स्पेन में देखने को मिल रहा है।

नई दिल्ली: बहुत से देशों का माहौल गर्माया हुआ है। पहले हांगकांग की पब्लिक भड़की हुई थी। लेकिन ऐसा ही माहौल अब स्पेन में देखने को मिल रहा है। यहां की जनता स्पेन से केटलोनिया अलग होने की मांग कर रही हैं। जिस वजह से यहां की हिंसा का माहौल बना हुआ है। 16 अक्टूबर बुधवार की रात यहां कैटेलोनिया समर्थक अलगाववादी नेताओं को 9 से 13 वर्ष की सजा सुनाने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुआ।

प्रदर्शन में 46 पुलिस अधिकारियों सहित 80 लोग घायल हो गए हैं। स्पेन के कार्यवाहक पीएम के कार्यालय के एक बयान में कहा गया है कि इस दौरान 33 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

ये भी देखें:सीएम योगी का फरमान: 30 अक्टूबर तक गड्ढा मुक्त होनी चाहिए प्रदेश की सड़कें

ये है पूरा मामला

असल में 14 अक्टूबर सोमवार को स्पेन की सुप्रीम कोर्ट ने 9 कैटलेनिया समर्थक अलगाववादी नेताओं को 9 से 13 साल की सजा सुनाई। इसमें कैटलन के पूर्व वाइस प्रेजिडेंट भी शामिल हैं। इस प्रदर्शन को बढ़ावा देने के लिए इन्हें आरोपी ठहराया गया। स्पेन के ऑटोनमस क्षेत्र की तरह ही कैटेलोनिया है और इस क्षेत्र के लोग यहां लंबे समय से अपनी आजादी के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं।

संघर्ष 1930 के दौर से कैटेलोनियावासी कर रहे हैं

कैटेलोनिया की आजादी का संघर्ष 1930 के दशक से जुड़ा हुआ है। कैटेलोनिया अपनी आजादी के लिए हमेशा से लड़ता रहा है।

काफी ज्यादा हिंसक हुआ विरोध

सुप्रीम कोर्ट ने जबसे 9 लोगों को सजा सुनाई है उसके बाद से ही विरोध तेज हो गया। इस दौरान आपत्ति करनेवालों और पुलिस में भी झड़प हुई। 40 हजार लोग सड़कों पर इस फैसले के विरोध में आ गए। आपत्ति करनेवालों ने पुलिस अधिकारियों पर तरह-तरह की वुस्तएं फेंकी। इसके अलावा कचरे के डिब्बे में भी आग लगा दी। पुलिस ने भड़कती इस हिंसा को रोकने के लिए लाठीचार्ज भी किया।

ये भी देखें:PM मोदी ने कहा- सतारा मेरी गूरु भूमि, विपक्ष कर रही सावरकर को बदनाम

कैटेलोनिया के इलाके में रहने वाले अधिकांश नागरिक और राजनीतिक संगठन अलग देश के पक्ष में है, लेकिन यहां पर ऐसे भी संगठन हैं जो स्पेन से इस इलाके के अलग होने का विरोध कर रहे हैं।