भारत के खिलाफ ये फैसला लेकर इमरान खान ने कर दी बड़ी गलती

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद भारत के साथ कारोबार बंद करने का फैसला लिया है। पाकिस्तान के इस कदम से भारत को कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है।

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद भारत के साथ कारोबार बंद करने का फैसला लिया है। पाकिस्तान के इस कदम से भारत को कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है।

इसकी वजह यह है कि पाकिस्तान पर भारत की निर्भरता न के बराबर है, जबकि पड़ोसी देश रोजमर्रा की जरूरत की तमाम चीजें भारत से मंगाता है। पाकिस्तान प्याज और टमाटर जैसी खाद्य वस्तुओं के अलावा केमिकल्स के लिए भारत पर निर्भर है। जानकारों के मुताबिक इस फैसले से पाकिस्तान को ही झटका लगेगा।

यह भी पढ़ें…पाकिस्तान : पूर्व PM नवाज शरीफ की बेटी मरियम गिरफ्तार, ये है पूरा मामला

टमाटर और प्याज भारत से जाते हैं जानकारों का कहना है कि पाकिस्तान का कारोबार इस ट्रेड को रोकने से प्रभावित होगा। वे बताते हैं कि लॉन्ग टर्म की बात हो या फिर शॉर्ट टर्म की इस फैसले से पाकिस्तान को ही होगा नुकसान। पाकिस्तान टमाटर और प्याज तक के लिए भारत पर निर्भर है।

पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से आने वाली चीजों पर 200 फीसदी कस्टम ड्यूटी लगाई है। पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के बीच कारोबार निचले स्तर पर थे। भारत ने हमले के बाद पाकिस्तान से आने वाली चीजों पर 200 पर्सेंट कस्टम ड्यूटी कर दी थी। कॉमर्स मिनिस्ट्री के डॉटा के मुताबिक इस फैसले के चलते पाक से होने वाले आयात में 92 पर्सेंट की गिरावट आई थी।

यह भी पढ़ें…तिलमिलाए पाक का समझौता एक्सप्रेस पर वार, नहीं हो रहा 370 हजम

साल 2017 में पाकिस्तान के ताजे फलों का एक बड़ा बाजार भारत में है। यहां तक पाकिस्तान का आम भी भारत में ज्यादा पसंद किया जाता है। आंकड़े बताते हैं कि 2017 में 89.62 मिलियन डॉलर यानी 63 करोड़ रुपये के फल भारत ने खरीदे। पाकिस्तान से आने वाले फल आमतौर पर पहले कश्मीर या फिर दिल्ली की फल मंडी में आते हैं।