पाकिस्तान का हुआ बुरा हाल, अब टमाटर का सपना देखेगा पाक

मोदी सरकार के जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद पाकिस्तान ने भारत से होने वाले निर्यात पर पूरी तरह रोक लगा दी है। पाकिस्तान के उठाये गए इस कदम के बाद पाकिस्तानी जनता के लिए मुसीबत खड़ी हो गई है।

पाकिस्तान का हुआ बुरा हाल, अब टमाटर का सपना देखेगा पाक

पाकिस्तान का हुआ बुरा हाल, अब टमाटर का सपना देखेगा पाक

मोदी सरकार के जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद पाकिस्तान ने भारत से होने वाले निर्यात पर पूरी तरह रोक लगा दी है। पाकिस्तान के उठाये गए इस कदम के बाद पाकिस्तानी जनता के लिए मुसीबत खड़ी हो गई है। दरअसल, भारत से निर्यात किये जाने वाले सामानों पर रोक लगाने के बाद पाकिस्तान में टमाटर 300 रुपये किलो हो गये हैं। टमाटर का बढ़े हुए इस दाम से पाकिस्तानी जनता बुरी तरह जूझ रही है।

यह भी पढ़ें: PAK को आर्टिकल 370 और जम्मू-कश्मीर पर तगड़ा झटका, भारत संग आया रूस

बता दें कि भारत से रोज हरी सब्जियां और टमाटर-प्याज भारी मात्रा में पाकिस्तान निर्यात किया जाता था। मगर आर्टिकल 370 के हटाए जाने के बाद पाकिस्तान ने भारत से होने वाले सामानों पर रोक लगा दी है। जिसके बाद टमाटर के दामों में हुए इस इजाफे से अब पाकिस्तानी जनता के होश उड़े हुए हैं।

यह भी पढ़ें: आर्टिकल 370 पर बौखलाए PAK ने बंद की दिल्ली-लाहौर बस सर्विस

वहीं पाकिस्तान के इस कदम पर भारत के ट्रक ऑपरेटर्स का कहना है कि, अगर पाकिस्तान को ये लगता है कि इस कदम से भारत के किसानों, ट्रक ऑपरेटर्स और अन्य किसी व्यापारियों का किसी तरह का कोई नुकसान है तो ये उनकी मुर्खता है। उनके इस कदम से पाकिस्तान में टमाटर के दामों में जो वृद्धि होगी उससे हाहाकार मच जायेगा।

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर और आर्टिकल 370 पर मुस्लिम देशों ने छोड़ा पाकिस्तान का साथ

जम्मू और कश्मीर के मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय मुद्दा बनाना चाहता है पाकिस्तान

भारत के जम्मू कश्मीर मामले को अंतरिम बताने के बावजूद पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में हुए इस फैसले को अंतर्राष्ट्रीय मुद्दा बनाने में जुटा है। हालांकि पाकिस्तान के समर्थन में कोई भी देश आगे नहीं आ रहा है। जिससे निराश होकर पाकिस्तान लगातार ऐसे फैसले ले रहा है।

यह भी पढ़ें: आर्टिकल 370 हटाने के विधेयक को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी, जानिए क्या होगा अब

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद ये पाकिस्तान का पहला कारनामा नहीं है। इससे पहले पाकिस्तान ने भारत से राजनयिक सारे रिश्ते खत्म कर दिये थे। उसके बाद उसने भारत से व्यापारिक रिश्तों को भी खत्म कर दिया। फिर उसके बाद समझौता एक्सप्रेस और थार एक्सप्रेस ट्रेनों को रोक दिया था और अब दिल्ली-लाहौर बस सेवा को भी रोक दिया गया है।