आतंकियों पर बरसे मोर्टार: सेना ने मार गिराया कमांडर, महिला समेत 3 बच्चों की मौत

अफगानिस्तान के बल्ख प्रांत में सेना ने हवाई हमले करते हुए आतंकवादी संगठन तालिबान के एक जिला कमांडर समेत तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया। विशेष बलों के प्रमुख ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

नई दिल्ली: अफगानिस्तान के उत्तरी इलाके में तालिबान की तरफ से किए गए एक मोर्टार हमले में तीन बच्चों और एक महिला की मौत हो गई है।रिपोर्ट के मुताबिक यह हमला गुरुवार को फारयाब प्रांत के क्वासर जिले में किया गया औैर इसमें एक महिला तथा तीन बच्चों की मौत हो गई और एक अन्य महिला घायल भी हो गई।

आतंकी संगठन के एक जिला कमांडर समेत तीन ढेर

अफगानिस्तान के बल्ख प्रांत में सेना ने हवाई हमले करते हुए आतंकवादी संगठन तालिबान के एक जिला कमांडर समेत तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया। विशेष बलों के प्रमुख ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

आतंकियों पर बरसे मोर्टार: सेना ने मार गिराया कमांडर, महिला समेत 3 बच्चों की मौत

ये भी पढ़ें—टैक्स दरों में हो सकता है बड़ा बदलाव, इस माह के अंत तक होगी GST की बैठक

अफगान नेशनल आर्मी स्पेशल ऑपरेशंस कोर ने एक बयान जारी कर कहा,“अफगानिस्तान वायु सेना ने बल्ख प्रांत के चिमटल जिले में गुरुवार रात हवाई हमले किये जिसमें तालिबान का जिला प्रमुख शाह मोहम्मद जबर और दो अन्य डिवीजनल कमांडर मौलवी कदीम और हेननायत मारे गये।”

इसके पहले हमले में 11 आतंकियों की ​हुई थी मौत

बता दें कि अफगानिस्तान में आतंकी हमले आए दिन होते रहते हैं। यहां के जाजवान क्षेत्र में देर रात विशेष अभियान के तहत सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 11 तालिबानी आतंकवादी और सरकार समर्थक स्थानीय नेता समेत 13 लोग मारे गये थे।

आतंकियों पर बरसे मोर्टार: सेना ने मार गिराया कमांडर, महिला समेत 3 बच्चों की मौत

सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि यह मुठभेड़ जाजवान सारी पुल के करीब सोमवार रात हुई जब तालिबानी आतंकवादियों ने विद्रोही सेनानियों के रूप में पहचाने जाने वाले सरकार समर्थित ट्राइबल मिलिशिया समूह पर हमला किया।

ये भी पढ़ें—जूता मार होली: यहां के इस अजीब रिवाज जान, हैरत में पड़ जाएंगे आप

इस मुठभेड़ में निशाना स्थानीय नेता तोफान था जिसने विद्रोही लड़ाकों के दल का नेतृत्व किया था और जो कि इस हमले में मारा गया। देशभर में इस साल जनवरी में कुल आठ लोग मारे गये हैं। सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि 11 आतंकवादियों की लाशें स्थानीय गांववासियों को या अफगान रेड क्रिसेंट आर्मी को सौंप दी जाएगी।

बता दें कि किसी जमाने में देश पर शासन करने वाले तालिबान आतंकवादियों ने 2001 के अंत में बेदखल होने से पहले सशस्त्र विद्रोह का नवीनीकरण किया और सरकारी सैनिकों के अलावा नागरिकों की भी हत्या की। अफगानी सेना द्वारा आतंकवादी ठिकानों पर हवाई हमले के जवाब में तालिबानी आतंकवादियों ने प्राय: जिला कार्यालयों, सैन्य शिविरों और सुरक्षा जांच चौकियों पर हमले किये हैं।

आतंकियों पर बरसे मोर्टार: सेना ने मार गिराया कमांडर, महिला समेत 3 बच्चों की मौत

इसके पहले 31 आतंकवादियों ने परिवार के साथ किया था आत्मसमर्पण

बता दें कि दिसंबर महीने में अफगानिस्तान सरकार की तरफ से बताया गया था कि 31 आईएसआइएस आतंकवादियों ने 62 महिलाओं और बच्चों के साथ पूर्वी प्रांत नंगरहार में अफगान सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। आतंकवादियों ने खुद को अचिन जिले में सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था।

ये भी पढ़ें—दिल्ली चुनाव में चले थप्पड़: लांबा ने सरेआम आप कार्यकर्ता को धोया, जानें पूरा मामला

इससे पहले भी अफगानिस्तान के नांगरहार प्रांत में आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट (IS) के सदस्यों ने सुरक्षाबलों के सामने 25 नवंबर को भी सरेंडर किया था। उन आतंकियों ने भी अपने परिवार के साथ ही आत्मसमर्पण किया था।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App