×

Today Special: विश्व पशु दिवस, आप भी जतायें जन्तुओं के प्रति प्यार

आपको बता दें कि डोमिंगो फॉस्टिनो सारमिएंटो के साथ मिलकर डॉ. ल्यूकस ने सोसाइडेड अर्जेंटिना प्रोटेक्टोरा डि एनीमैलेस की स्थापना की थी। इस संस्था को अर्जेंटिना सोसायटी ऑफ प्रोटेक्शन ऑफ एनीमल्स भी कहा जाता है। उल्लेखनीय है कि विश्व पशु दिवस मनाने की शुरुआत इटली के फ्लोरेंस में 1931 में हुई।

Harsh Pandey

Harsh PandeyBy Harsh Pandey

Published on 4 Oct 2019 8:54 AM GMT

Today Special: विश्व पशु दिवस, आप भी जतायें जन्तुओं के प्रति प्यार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: विश्व पशु दिवस प्रत्येक वर्ष 4 अक्टूबर को पूरे दुनिया में मनाया जाता है। विश्व पशु दिवस का मुख्य उद्देश्य मनुष्यों के साथ-साथ अन्य जीव-जंतुओं के जीवन और अधिकारों की रक्षा के प्रति जागरूकता फैलाने तथा मानव जीवन में पशुओं के महत्व एवं योगदान को दर्शाने का है।

यह भी पढ़ें. ओह तेरी! पत्नी कहेगी पति से, बिस्तर पर ‘ना बाबा ना’

दरअसल, विश्व पशु दिवस को 4 अक्टूबर 2014 को दुनिया भर में मनाया जाता है। इस दिवस को जानवरों के प्रति प्रेम स्वभाव जगाने और उन्हें सम्मान देने के लिए मनाया जाता है। आज का दिन विश्व पशु प्रेमी दिवस के नाम से भी जाना जाता है।

यह भी पढ़ें. 10 करोड़ की होगी मौत! भारत-पाकिस्तान में अगर हुआ ऐसा, बहुत घातक होंगे अंजाम

इसके साथ ही कहा जाता है कि इस दिवस को दुनिया भर में राष्ट्रीयता, विश्वास, धर्म और राजनीतिक विचारधारा के विभिन्न तरीकों से मनाया जाता है।

मिशन पशु कल्याण...

साथ ही आपको बताते चलें कि विश्व पशु दिवस व्यक्तियों, समूहों और संगठनों के समर्थन और भागीदारी के माध्यम से दुनिया भर में पशु कल्याण मानकों में सुधार करने के उद्देश्य के साथ मनाया जाता है।

यह भी पढ़ें. अरे ऐसा भी क्या! बाथरूम में लड़कियां सोचती हैं ये सब

यह दिवस अपने आप में अद्वितीय है, यह दिवस दुनिया भर के पशु कल्याण आंदोलन को एकजुट करती है और प्रत्येक देश के सभी जानवरों को सम्मिलित करती है।

सैंट फ्रैंसिस का फीस्ट डे...

साथ ही आपको बता दें कि 4 अक्टूबर सैंट फ्रैंसिस का फीस्ट-डे होता है। बता दें कि सैंट फ्रैंसिस को पशुओं और पर्यावरण का हितैषी संत माना जाता है।

यह भी पढ़ें: पाक में खून की नदियां! सामने आई दिल दहला देने वाली ये रिपोर्ट

डॉ. ल्यूकस की पुण्यतिथि...

आज के दिन पूरी दुनिया, हर धर्म या संप्रदाय के लोग बिना किसी भेदभाव के मनाते हैं। अर्जेंटीना में इस दिन को डॉ. ल्यूकस इग्नेशियो अल्बैरासिन की पुण्यतिथि मनाई जाती है।

आपको बता दें कि डोमिंगो फॉस्टिनो सारमिएंटो के साथ मिलकर डॉ. ल्यूकस ने सोसाइडेड अर्जेंटिना प्रोटेक्टोरा डि एनीमैलेस की स्थापना की थी। इस संस्था को अर्जेंटिना सोसायटी ऑफ प्रोटेक्शन ऑफ एनीमल्स भी कहा जाता है।

उल्लेखनीय है कि विश्व पशु दिवस मनाने की शुरुआत इटली के फ्लोरेंस में 1931 में हुई।

विश्व पशु दिवस...

विश्व पशु दिवस लुप्तप्राय प्रजातियों की दुर्दशा उजागर करने के उपाय के रूप में फ्लोरेंस, इटली में परिस्थिति विज्ञानशास्री के एक सम्मेलन में वर्ष 1931 में शुरू किया गया था।

कुछ इस तरह जतायें जन्तुओं के प्रति आभार...

विश्व पशु दिवस ही क्या, प्रत्येक व्यक्ति को प्रत्येक जीव-जंतुओं की रक्षा करना चाहिए। यह हम सभी का कर्तव्य है।

आपको बता दें कि जीव जंतुओं के बिना मानव जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। जीव-जंतु, इंसानों कि तरह बोल नहीं सकते इसलिये हमें उनके दुख-सुख स्वास्थ्य बीमारी दशा में उपचार करना हमारा कर्तव्य है, हमें किसी भी स्थिती-परिस्थिती में उनको तंग नहीं करना चहिये।

पर्यावरण, वनस्पति, पेड़-पौधे, पशु और पक्षी का हमारे जीवन में बहुत महत्व रखते हैं, यह सब हमारे मित्र है। पशु प्यार के भूखे होते है, हमें इन्हें मारना नहीं चहिये।

साथ ही आपको बता दें कि जानवर हो या मनुष्य सभी प्रेम के पात्र है। भग्वान ने जीव-जंतुओं को जुंबा नहीं दिया इसलिए वह हमसे कुछ कह नहीं पाते है। हमें उनसे प्रेम के साथ व्यवहार करना चाहिए। उनको तकलिफ़ नहीं देना नहीं चाहिए।

जीव-जंतुओं की रक्षा करना हमारा कर्तव्य, जीव जंतुओं के बिना मानव जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती।

Harsh Pandey

Harsh Pandey

Next Story