अब होगी जिनपिंग से पूछताछ! उइगर मुसलमानों ने उठाया ये कदम, फंस गया चीन

चीन पर मानवाधिकार उल्लंघन और शोषण के आरोप में अंतर्राष्ट्रीय अपराध न्यायालय (ICC) मामला दर्ज हुआ है।चीन सरकार के खिलाफ कोर्ट में उइगर समुदाय के मुसलमान पहुँच गए है।

नई दिल्ली : चीन इन दिनों संकट में हैं। कोरोनावायरस को लेकर तो पहले ही दुनिया के तमाम देश चीन पर आरोप लगा रहे हैं, तो वहीं दूसरे देशों की सीमाओं पर घुसपैठ और कब्जा करने की चीन की आदतों के कारण भी वह कई देशों के निशाने पर हैं। इसके अलावा अब चीन पर मानवाधिकार उल्लंघन और शोषण के आरोप में अंतर्राष्ट्रीय अपराध न्यायालय (ICC) मामला दर्ज हुआ है।चीन सरकार के खिलाफ कोर्ट में उइगर समुदाय के मुसलमान पहुँच गए है।

इंटरनेशनल कोर्ट पहुंचा चीन में उइगर मुसलमानों पर उत्पीड़न का मामला

मुस्लिमों के उत्पीड़न का आरोप चीन पर लगातार लगता रहा है। इस कड़ी में अब उइगर मुसलमान इंटरनेशनल कोर्ट तक पहुँच गए। उइगर समुदाय से जुड़ी संस्था ईस्ट टर्किश गवर्नमेंट और ईस्ट तुर्किस्तान नेशनल अवेकनिंग मूवमेंट ने चीन के खिलाफ कोर्ट में मुसलमानों का नरसंहार, मानवाधिकार उल्लंघन और शोषण का मामला दर्ज कराया है।

ये भी पढ़ेंः PoK में चीन को झटका: लोग हुए खिलाफ, डैम प्रोजेक्ट का विरोध शुरू

जिनपिंग सरकार के खिलाफ कोर्ट बैठा सकती है जांच, पूछताछ संभव

ऐसे में अब चीन से उइगर समुदाय के किये गए अत्याचार मामले में पूछताछ की जा सकती है। ऐसा पहली बार होगा कि चीन से अंतरराष्ट्रीय कानूनों के अंतर्गत उइगर समुदाय पर जारी अत्याचार से संबंधित पूछताछ की जाएगी। अंतराष्ट्रीय कोर्ट में ये शिकायत लंदन के वकीलों के एक समूह ने की है। जिसमें कहा गया कि चीन ने उइगर समुदाय पर अत्याचार किया और कानून का उल्लंघन करते हुए हजारों मुसलमानों को कंबोडिया और तजिकिस्तान डिपोर्ट कर दिया।

जिनपिंग और कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़े 80 लोगों का नाम केस में शामिल

वहीं इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट ने भी इस केस में रूचि ली है। केस में चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग और सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़े 80 लोगों का नाम शामिल है। चीन और कंबोडिया दोनों ही ICC के सदस्य हैं, ऐसे में ये कोर्ट के दायरे में आते हैं।

ये भी पढ़ेंः अमेरिका का बड़ा बयान, चीन के खिलाफ भारत को देंगे सैन्य मदद, बौखलाया ड्रैगन

कोर्ट का अधिकारी है कि इनसे पूछताछ कर सके और जांच बैठा सके। हालाँकि इसबात पर शंका है कि चीन कोर्ट को जवाब देगा। अभी तक चीन ने इस मामले में किसी को जवाब नहीं दिया और न ही उनपर कोई जांच हुई।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।