कोविड-19: अमेरिका में कोरोना से हाहाकार, 24 घंटे में 1480 लोगों की मौत

अमेरिका में कोरोना वायरस का कहर जारी है। एक खबर के मुताबिक, ‘जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी’ ने आंकड़ा जारी किया है कि अमेरिका में अभी तक एक दिन के भीतर सबसे ज्यादा 1480 लोगों की मौत हुई है। यह आंकड़ा गुरुवार शाम से लेकर शुक्रवार शाम तक है। अमेरिका में एक दिन में इस संक्रमण से मरने वालों की यह संख्या अबतक की सबसे बड़ी संख्या है।

Published by suman Published: April 4, 2020 | 9:59 am

वॉशिंगटन अमेरिका में कोरोना वायरस का कहर जारी है। एक खबर के मुताबिक, ‘जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी’ ने आंकड़ा जारी किया है कि अमेरिका में अभी तक एक दिन के भीतर सबसे ज्यादा 1480 लोगों की मौत हुई है। यह आंकड़ा गुरुवार शाम से लेकर शुक्रवार शाम तक है। अमेरिका में एक दिन में इस संक्रमण से मरने वालों की यह संख्या अबतक की सबसे बड़ी संख्या है। अभी तक वहां एक दिन में मरने वालों की संख्या 1169 थी।

 

यह पढ़ें….भारत में कोरोना का टूटा रिकॉर्ड: 24 घंटों में 15 मौतें और संक्रमण के 502 नए मामले

अब तक पूरे अमेरिका में मरने वालों की संख्या 7 हजार का आंकड़ा पार कर चुका है। सबसे अधिक मौतें न्यूयॉर्क में हुई हैं जहां 3 हजार से अधिक कोविड19 मरीजों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। बेहतर गुणवत्ता वाले मेडिकल सप्लाई की कमी को लेकर मेडिकल स्टाफ प्रदर्शन पर उतर आए हैं। न्यूयॉर्क और कैलिफॉर्निया राज्य में जगह-जगह तख्ता और बैनर लिए नर्सों और अन्य हेल्थ स्टाफ का प्रदर्शन जारी है। उनकी मांग है कि सरकार उन्हें बेहतर उपकरण उपलब्ध कराए, क्योंकि अगर इसके अभाव में उनकी जान चली गई तो फिर लोगों को बचाना मुश्किल हो जाएगा।

 

यह पढ़ें….यहां बना देश का पहला कोरोना मेडिकल कॉल सेंटर,आप भी ले सकते हैं जानकारी

 

अमेरिका में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। पूरे देश में 276,500 लोग कोरोना की चपेट में हैं। अब स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए सेना की जिम्मेदारी बढ़ा दी गई है। उल्लेखनीय है कि अब तक सेना सिर्फ मेकशिफ्ट अस्पतालों को बनाने और मेडिकल आपूर्ति के काम में लगी हुई थी। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को कहा कि युद्ध जैसी इस स्थिति से लड़ने के लिए कोई भी बेहतर तरीके से तैयार नहीं है। उन्होंने कहा, ‘हम कोरोना वायरस से लड़ने में अपने प्रयास के तहत सेना की जिम्मेदारी बढ़ाने जा रहे हैं। क्योंकि इस युद्ध जैसी स्थिति से लड़ने के लिए कोई बेहतर तरीके से तैयार नहीं है। हम युद्ध जैसी स्थिति में है। एक अदृश्य दुश्मन सामने खड़ा है।’