×

US के पूर्व सुरक्षा सलाहकार का बड़ा खुलासा, ट्रंप का दोबारा सत्ता में आना हुआ मुश्किल

यूएस के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन के एक बयान ने डोनाल्ड ट्रम्प की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। बोल्टन का बयान यूएस की राजनीति में बड़ा मुद्दा बन गया है, जो आगामी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित कर सकता है।

Shivani Awasthi
Updated on: 19 Jun 2020 6:16 AM GMT
US के पूर्व सुरक्षा सलाहकार का बड़ा खुलासा, ट्रंप का दोबारा सत्ता में आना हुआ मुश्किल
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: कोरोना संकट और रंग भेद विवाद के बीच अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव होने हैं। इसी बीच देश के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (Former National Security Adviser) के एक बयान ने डोनाल्ड ट्रम्प की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन का बयान यूएस की राजनीति में बड़ा मुद्दा बन गया है, जो आगामी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित कर सकता है।

पूर्व सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने बताया- ट्रम्प पद पर राष्ट्रपति के लिए अनफिट

दरअसल, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ एक बयान देते हुए कहा कि ट्रंप देश का नेतृत्व करने के लिए अनफिट हैं। एक मीडिया इंटरव्यू के दौरान जॉन बोल्टन ने कहा कि उन्होंने नहीं लगता कि ट्रम्प राष्ट्रपति कार्यालय के लिए फिट हैं। उन्होंने ये भी कहा कि डोनाल्ड ट्रम्प को दोबारा सत्ता में लाये जाने या राष्ट्रपति बनाने की कोई वजह दिखाई नहीं दिखाई।

ट्रम्प को दोबारा राष्ट्रपति बनाने की कोई वजह नहीं

जॉन बोल्टन ने एक किताब भी लिखी, जिसमें उन्होंने दावा किया कि रिपब्लिकन पार्टी के नेता और देश के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कई गलत काम किए। उन्होंने इसमें चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से यूएस का चुनाव जीतने में मदद मांगने की बात का भी जिक्र किया। किताब की प्रतियां अभी बाजार में आई नहीं है, लेकिन जल्द ही आने की उम्मीद है।

ये भी पढ़ेंः चीनी सेना का खुलासा: इंडियन आर्मी को बनाया बंधक, अब चुुप नहीं बैठेगा भारत

लिबरल डेमोक्रेट नेता नैंसी पेलोसी ने किया जॉन बोल्टन के बयान का समर्थन

जॉन बोल्टन की बात का समर्थन लिबरल डेमोक्रेट नेता और यूएस हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने दिया। उनकी भी ट्रम्प को लेकर यही प्रतिक्रिया है। जॉन बोल्टन की किताब में डोनाल्ड ट्रंप पर लगाए गए आरोपों को लेकर नैंसी पेलोसी डेमोक्रेट लीडर्स से भी बात कर रहे हैं। अगर ऐसा होता है तो जॉन बोल्टन को कांग्रेस के सामने पूछताछ का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अमेरिका में 3 नवंबर को होने वाले चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप को कड़ी चुनौती मिलेगी। बता दें कि उनके खिलाफ राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के बिडेन खड़े हैं।

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर इन मुद्दों पर घिरे ट्रम्प

बहरहाल बोल्टन के बयान से ट्रम्प की मुश्किलें बढ़ गयी हैं, वो भी तब जब वह तीन तरफ से पहले ही घिरे हुए हैं। बता दें कि इन दिनों डोनाल्ड ट्रम्प तीन बड़े मुद्दों पर फंसे हुए हैं और आलोचनाओं के शिकार हो रहे हैं। इनमे पहले तो यूएस में कोरोना वायरस का कहर है, जिसे काबू करने में सरकार फेल साबित हुई है।

ये भी पढ़ेंः LAC पर चीन के बुलडोजर: चुपके-चुपके कर रहे ये काम, तस्वीरों से साजिश का खुलासा

वहीं दूसरा मुद्दा रंग भेद हैं। हाल ही में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद से आंदोलन शुरू हो गया है। वाइट हॉउस पर सैंकड़ों लोग प्रदर्शन करने पहुँच गए। तीसरा मुद्दा यूएस पुलिस की अमानवीयता का है, लोगों में इसे लेकर भी रोष है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story