हांगकांग में प्रदर्शन: अमेरिका ने लिया बड़ा फैसला, आगबबूला हुआ चीन

हांगकांग के मुद्दे पर अब चीन पूरी तरह से घिर चुका है। अब अमेरिका उसके लिए नई मुसीबत बन रहा है। अमेरिकी संसद ने प्रदर्शनकारियों के हक में एक बिल पास किया। इस बिल से चीन को जरूर आगबबूला होगा।

नई दिल्ली: हांगकांग के मुद्दे पर अब चीन पूरी तरह से घिर चुका है। अब अमेरिका उसके लिए नई मुसीबत बन रहा है। अमेरिकी संसद ने प्रदर्शनकारियों के हक में एक बिल पास किया। इस बिल पर चीन आगबबूला हो गया है।

हांगकांग में प्रदर्शनकारी लोकतांत्रिक आजादी को लेकर पिछले छह महीने से आंदोलन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए चीन ने लगातार सख्त रवैया अपना लिया है। इसी की वजह से चीन और हांगकांग की सरकार पर अब मानवाधिकार उल्लंघन के आरोप लग रहे हैं।

यह भी पढ़ें…महाराष्ट्र में सरकार बनने का रास्ता साफ! जल्द होगा बड़ा ऐलान

अमेरिका लगातार प्रदर्शनकारियों के समर्थन में बयानबाजी कर रहा है जिसकी वजह से चीन और अमेरिका के बीच रिश्ते लगातार खराब हो रहे हैं। ट्रेड वार के बाद इन रिश्तों में कड़वाहट की यह दूसरी सबसे बड़ी वजह है। इस बिल को कानून बनाने के लिए जरूरी होगा कि अमेरिका का विदेश मंत्रालय हांगकांग को मिले विशेष दर्जे और व्यापार में मिली छूट की सालाना समीक्षा करे।

बता दें कि हांगकांग को यही विशेष दर्जा इसे चीन से अलग करता है। अगर इसके संवैधानिक ढांचे से किसी तरह की छेड़छाड़ होती है या इसको मिले विशेष दर्जे में बदलाव किया जाता है तो अमेरिका को हांगकांग के साथ हो रहे व्यापार पर विचार करना होगा।

यह भी पढ़ें…सरकार ने टेलीकॉम कंपनियों को दी ये बड़ी राहत, मिली इतने साल की मोहलत

अमेरिकी सीनेट में पास किए गए बिल को ‘हांगकांग ह्यूमन राइट्स एंड डेमोक्रेसी एक्ट’ नाम दिया गया है। कांग्रेस में भी इसको पूरा समर्थन मिला है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हस्ताक्षर के बाद यह बिल कानून में तब्दील हो जाएगा।

यह भी पढ़ें…पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल परीक्षण, दुश्मनों को कर देगी तबाह

हालांकि ट्रंप मानवाधिकार से जुड़े मामलों में कम ही अपनी राय देते हैं। इसी वजह से ट्रंप ने इस बिल पर अभी तक कोई भी बयान नहीं दिया है। हालांकि, प्रदर्शनकारियों ने अमेरिका से इस बिल को जल्द ही कानून बनाने की अपील की है।