वियाग्रा की वजह से मौत के घाट उतारे गए 19 लोग, सभी शव बरामद

हर गर्मियों में, लोग इस बहुमूल्य जड़ी-बूटी की खोज में मीलों दूर से आते हैं, जो पूरे एशिया और अमेरिका में 100 अमरीकी डॉलर (लगभग 7,000 रुपये) प्रति ग्राम से भी अधिक में यह जड़ी-बूटी बिकती है।

वियाग्रा की वजह से मौत के घाट उतारे गए 19 लोग, सभी शव बरामद

वियाग्रा की वजह से मौत के घाट उतारे गए 19 लोग, सभी शव बरामद

मेक्सिको: मेक्सिको में पुलिस ने एक पुल से 19 शव लटकते हुए बरामद किए हैं। इनमें से सात शव क्षत विक्षत अवस्था में सड़क किनारे पड़े मिले। इनके हाथ बंधे हुए थे। साथ ही, इनके पास से ‘देशभख्त बनिए, वियाग्रा को खत्म कीजिए’ लिखे हुए बैनर भी बरामद हुए हैं। गुरुवार को पुलिस को ये 19 शव मिले।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक आज, गांधी परिवार से नहीं होगा पार्टी का नया अध्यक्ष

यही नहीं, पुलिस को शव के पास से एक और बैनर मिला है, जिसमें ड्रग माफिया ने प्रतिद्वन्द्वियों को धमकी दी है। मालूम हो, साल 2006-2012 के बीच मादक पदार्थ का धंधा करने वाले गिरोहों अपने चरम सीमा पर थे। तब वह काफी हिंसा भी करते थे। ऐसे में अब माना जा रहा है कि इस हिंसा के जरिये उन गिरोहों ने वापसी कर ली है।

यह भी पढ़ें: कई राज्यों में बाढ़ ने किया तांडव, पानी की वजह से दर्जनों की मौत

बता दें कि अपने कामोतेजक गुणों के लिए हिमालयी वियाग्रा के नाम से प्रसिद्ध दुर्लभ जड़ी-बूटी यार्सागुम्बा केवल 10,000 फुट से अधिक ऊंचे हिमालय के पहाड़ों में पाया जाता है। इस दुर्लभ औषधि की बिक्री अमेरिकी और एशियाई चुनावों में काफी अधिक होती है।

यह भी पढ़ें: एम्स के आईसीयू में भर्ती अरुण जेटली, पीएम मोदी समेत मिलने पहुंचे कई बड़े नेता

हर गर्मियों में, लोग इस बहुमूल्य जड़ी-बूटी की खोज में मीलों दूर से आते हैं, जो पूरे एशिया और अमेरिका में 100 अमरीकी डॉलर (लगभग 7,000 रुपये) प्रति ग्राम से भी अधिक में यह जड़ी-बूटी बिकती है।