धमाके में उड़ा आशियाना: अब टेंट को बनाया ऐसा खूबसूरत घर, युद्ध ने किया सब बर्बाद

19 वर्षीय विस्साम दियाब को सीरिया में चल रहे गृह युद्ध (Civil war) के चलते अपना घर छोड़ना पड़ा था, जिसके बाद वो तुर्की के बॉर्डर के पास एक टेंट में रह रहे हैं, जिसे उन्होंने खूबसूरत ढंग से सजाया है। 

tent house

धमाके में उड़ा आशियाना: अब टेंट को बनाया ऐसा खूबसूरत घर, युद्ध ने किया सब बर्बाद (सांकेतिक फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: जहां पर आपने अपना बचपन जिया हो, जहां बड़े हुए हो, उस जगह को छोड़ना काफी कठिन और चुनौतीपूर्ण काम होता है। लेकिन कभी-कभी परिस्थितियों को देखते हुए इंसान ऐसे फैसले लेने पर मजबूत हो जाता है। ऐसा ही कुछ हुआ 19 वर्षीय विस्साम दियाब के साथ, जिन्हें सीरिया में चल रहे गृह युद्ध (Civil war) के चलते अपना घर छोड़ना पड़ा।

टेंट में जिंदगी गुजार रहे विस्साम दियाब

विस्साम दियाब हमा प्रांत के काफर जिता (Kafr Zita) के रहने वाले हैं। अपना घर छोड़ने के बाद विस्साम एक टेंट में अपनी जिंदगी गुजार रहे हैं, लेकिन इस टेंट में वो तमाम चीजें हैं, जिनके जरिए दियाब अपने बचपन की यादें ताजा कर लेते हैं। उन्होंने इसी टेंट को अपना खूबसूरत सा घर बना लिया है। उनका यह टेंट तुर्की के बॉर्डर पर है।

यह भी पढ़ें: नल से आग निकली: तेज लपटों से भाग खड़े हुए लोग, कांप उठी इस देश की सरकार

ऐसे सजाया अपने टेंट को

इस टेंट में दियाब ने अपने बचपन की यादों से रिलेटेड काफी सारी चीजें रखी हुई हैं। उन्होंने अपने इस सुंदर से टेंट में खूब सारे पौधे लगाए हैं। यही नहीं यहां पर उन्होंने जैतून के पेड़ लगे हैं। उन्होंने अपने टेंट को बिल्कुल वैसे ही रखा है, जैसे उनका असल घर था। विस्साम ने अपने टेंट में अपने पुराने घर को रिक्रिएट करने की कोशिश की, जिसमें उन्होंने सफलता हासिल की है।

पुरानी यादें की ताजा

बता दें कि विस्साम दियाब ने सालों पहले युद्ध में अपना घर खो दिया था। जिसके बाद वो तुर्की के बॉर्डर पर एक टेंट में रहते हैं। ये Atmeh क्षेत्र का इलाका है। विस्साम को पढ़ने का बहुत शौक है, इसलिए उन्होंने अपने टेंट में कई सारी किताबें रखी हैं। साथ ही उन्होंने किताबों के आसपास पौधे भी लगाए हैं। इससे उस जगह की सुंदरता और बढ़ गई है।

यह भी पढ़ें: Pak के पूर्व PM की बेटी की सगाई आज, मेहमानों को इन शर्तों का करना होगा पालन

रिफ्यूजी कैंप में भी रह चुके हैं दियाब

जानकारी के मुताबिक, इससे पहले दियाब रिफ्यूजी कैंप में भी रह चुके हैं। लेकिन बाद में कोरोना के डर की वजह से उन्होंने अपने माता-पिता के लिए एक अलग टेंट लगाया और खुद इसे डिजाइन किया। उनके पेरेंट्स और दो बहनें पास के ही टेंट में रहते हैं। विस्साम अपने भाई को बमबारी में खो चुके हैं।

खाली समय का ऐसे कर रहे इस्तेमाल

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विस्साम ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि चार चाल बीत चुके हैं, लेकिन हम वापस घर नहीं जा पाए हैं। मैंने जो भी इस टेंट के साथ किया वो खुद के सेटल होने के लिए किया है। दियाब अब खाली वक्त में Oud भी बजाना सीख रहे हैं। वो यूट्यूब के जरिए क्लासेस ले रहे हैं।

यह भी पढ़ें: कर्ज में डूबा चीन: अब लगेगा तगड़ा झटका, निवेशकों की भी बढ़ी चिंता

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App