Top

मुस्लिम कट्टरता पर बटी दुनिया, इमरान का गंदा खेल, महातिर का बयान खतरे की घंटी

फ्रांस में शिक्षक का गला काटने की घटना से इस्‍लामी आतंकवाद की जो नई शुरुआत हुई है वह मुस्लिम देशों और मुस्लिम संगठनों की कड़ी प्रतिक्रिया के बाद फलती-फूलती दिखाई दे रही है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 30 Oct 2020 4:42 AM GMT

मुस्लिम कट्टरता पर बटी दुनिया, इमरान का गंदा खेल, महातिर का बयान खतरे की घंटी
X
फ्रांस में टीचर की हत्या के बाद से मुस्लिम कट्टरता पर दुनिया बंट गई है। मैक्रों के बयान पर मुस्लिम देश फ्रांस के खिलाफ हो गए हैं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अखिलेश तिवारी

लखनऊ: फ्रांस में आतंकी घटनाओं के बाद मुस्लिम देशों के सामने आए रुख के साथ ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का गंदा खेल शुरू हो गया है। फ्रांस और सउदी अरब में हुई घटनाओं के बाद मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्‍मद के बयान ने आग में घी डालने का काम किया है। पूरी दुनिया इस्‍लामी आतंकवाद के नाम पर बंटती दिखाई दे रही है।

फ्रांस में शिक्षक का गला काटने की घटना से इस्‍लामी आतंकवाद की जो नई शुरुआत हुई है वह मुस्लिम देशों और मुस्लिम संगठनों की कड़ी प्रतिक्रिया के बाद फलती-फूलती दिखाई दे रही है। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पश्चिम देशों खास तौर पर यूरोपियन व फ्रांस के खिलाफ मुस्लिम देशों की एकजुटता की जो मुहिम दो दिन पहले चलाई थी उसका असर होता दिखाई दे रहा है।

फ्रांस में आपातकाल

सउदी अरब में फ्रांसीसी दूतावास के एक गार्ड को चाकू मारने की घटना के अलावा फ्रांस में एक चर्च में आतंकी हमला हुआ है। इसकी चारों ओर से निंदा हो रही है। यूरोप, अमेरिका , भारत समेत कई देशों ने आतंकवाद की लडाई में फ्रांस का साथ देने का ऐलान कर दिया है। फ्रांस में आपातकाल घोषित किया गया है।

ये भी पढ़ें...गरीबों के हमदर्द सभी दल, वोट भी लेंगे लेकिन MP-MLA बनाएंगे करोड़पति

Imran Khan

इमरान खान का फ्रांस पर इस्‍लामोफोबिया को बढ़ावा देने का आरोप

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पश्चिमी देशों खासतौर पर फ्रांस पर आरोप लगाया है कि वह इस्‍लामोफोबिया को बढ़ावा दे रहा है लेकिन उनका बयान आने के अगले ही दिन सउदी अरब और फ्रांस की आतंकी घटनाओं ने इस्‍लामी आतंकवाद को लेकर दुनिया को सोचने के लिए मजबूर कर दिया है। पूरी दुनिया में अब यह आवाज उठने लगी है कि मुस्लिम कटटरपंथियों को रोका जाना जरूरी है। आतंकी वारदात की चारों ओर निंदा भी की जा रही है। लेकिन कटटरपंथियों के समर्थन में उठ रही आवाजों से खतरा बढ गया है। ऐसे में इस्‍लामी आतंकवाद के नाम पर दुनिया के दो हिस्‍सों में बंटने का खतरा पैदा हो गया है। जिस तरह के हालात सामने आ रहे हैं इसमें इस्‍लाम के नाम पर मुस्लिम देशों के अलग-थलग होने की आशंका की जा रही है।

Mahathir Bin Mohamad

ये भी पढ़ें...मौसम विभाग का अलर्ट: इन राज्यों में होगी बारिश और बर्फबारी, ठंड ने तोड़ा रिकॉर्ड

फ्रांसीसियों की हत्‍या करने का पूरा हक है: मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री

इस बीच मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्‍मद का चौंकाने वाला बयान आया है जो मुस्लिम कटटरता का समर्थक है। इस बयान की भी चारों ओर निंदा हो रही है। महातिर मोहम्‍मद ने कहा कि पूर्व में किए गए नरसंहारों को देखते हुए मुस्लिमों को क्रोधित होने और फ्रांसीसियों की हत्‍या करने का पूरा हक है। उन्‍होंने फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के कटटरवादी इस्‍लाम वाले बयान के जवाब में यह बात कही है।

ये भी पढ़ें...भारत इस देश के साथ: आतंकी हमलों का हुआ शिकार, पीएम मोदी ने किया बड़ा एलान

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Newstrack

Newstrack

Next Story