Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

NDA ने पलटी बाजी: रूझानों में पूर्ण बहुमत, महागठबंधन का हुआ ये हाल

मौजूदा रुझानों के मुताबिक एनडीए ने 129 सीटों पर बढ़त बना ली है जबकि महागठबंधन अब पिछड़कर 96 सीटों पर पहुंच गया है। लोजपा 7 सीटों पर जबकि अन्य दलों के प्रत्याशी 11 सीटों पर आगे चल रहे हैं। 

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 10 Nov 2020 6:06 AM GMT

NDA ने पलटी बाजी: रूझानों में पूर्ण बहुमत, महागठबंधन का हुआ ये हाल
X
NDA ने पलटी बाजी: रूझानों में पूर्ण बहुमत, महागठबंधन का हुआ ये हाल
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार विधानसभा की 243 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों में हुए मतदान के बाद आज मतगणना के दौरान शुरुआती दो घंटों के बाद बाजी पूरी तरह पलट गई। शुरुआती दो घंटों में महागठबंधन को बढ़त मिलती दिखी, लेकिन उसके बाद एनडीए ने ऐसी बाजी पलटी कि सब लोग हैरान रह गए।

मौजूदा रुझानों के मुताबिक एनडीए ने 129 सीटों पर बढ़त बना ली है जबकि महागठबंधन अब पिछड़कर 96 सीटों पर पहुंच गया है। लोजपा 7 सीटों पर जबकि अन्य दलों के प्रत्याशी 11 सीटों पर आगे चल रहे हैं। रुझानों से साफ है कि बिहार में एक बार फिर एनडीए की सरकार बनने जा रही है।

यह भी पढ़ें: UP उपचुनाव: जौनपुर की मल्हनी सीट से धनंजय सिंह आगे, दूसरे नबंर पर बीजेपी

tesjaswi (फोटो- ट्विटर)

शुरुआत में महागठबंधन था आगे

सुबह 8:00 बजे मतगणना शुरू होने के बाद महागठबंधन ने तेजी से बढ़त बनाई और उसने एनडीए को काफी पीछे छोड़ दिया था मगर जल्द ही एनडीए ने अंतर पाटते हुए धीरे-धीरे ऐसी मजबूती पकड़ी की महागठबंधन पीछे होने लगा। 3 घंटे बाद ऐसी स्थिति बन गई कि एनडीए बहुमत से 7 सीटें आगे निकलते हुए 129 सीटों पर पहुंच गया जबकि महागठबंधन पिछड़ते हुए 96 सीटों पर जा पहुंचा।

भाजपा सबसे मजबूत बनकर उभरी

मतदान के रुझानों से साफ है कि भाजपा काफी मजबूत बनकर उभरी है और उसे राजद और जदयू से भी ज्यादा सीटें मिलती दिख रही हैं। मोदी ने भाजपा उम्मीदवारों को जिताने के लिए बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान 12 रैलियां की थी और साफ है कि मोदी की मतदाताओं से की गई अपील का काफी असर दिखा है और लोगों ने भाजपा को जमकर वोट दिए हैं।

यह भी पढ़ें: Film Review: इस फिल्म से हिले अक्षय कुमार, अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन

इस बार के मतदान में महिलाओं की भूमिका काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है और चुनाव नतीजों से साफ है कि महिलाओं में एनडीए के पक्ष में जमकर वोटिंग की है।

bihar assembly elections (फोटो- सोशल मीडिया)

सबसे पहले आएंगे इन सीटों के नतीजे

जानकार सूत्रों के अनुसार फतुहा और बख्तियारपुर विधानसभा सीटों के नतीजे सबसे पहले आएंगे। फतुहा विधानसभा में 405 और बख्तियारपुर विधानसभा में 410 मतदान केंद्र हैं। आयोग से जुड़े सूत्रों का कहना है कि इन दोनों विधानसभा सीटों पर कम मतदान केंद्र होने की वजह से मतों की गिनती जल्दी होने की संभावना है।

यह भी पढ़ें: दो घंटे की मतगणना में बनती दिखीं दो सरकारें, जानिए कैसे और अब क्या हुआ

दूसरी ओर दीघा, कुम्हरार और बांकीपुर विधानसभा क्षेत्र के परिणाम आने में देर लगने की संभावना है। इन तीनों विधानसभा क्षेत्रों में मतदान केंद्रों की संख्या ज्यादा है।

मतगणना के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था

243 विधानसभा सीटों के लिए 38 जिलों में 55 मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। मतगणना के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। मतगणना केंद्रों पर सुरक्षा के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की 19 कंपनियां तैनात की गई हैं और हर मतगणना केंद्र पर तीन स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है ताकि सियासी दलों के कार्यकर्ताओं और एजेंटों के बीच किसी प्रकार का टकराव न हो सके।

भाजपा को जीत का भरोसा

अधिकांश एग्जिट पोल राजद नेता तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले विपक्षी महागठबंधन को आगे बता रहे हैं मगर भाजपा को अभी भी पूरा भरोसा है कि नतीजे एनडीए के पक्ष में ही आएंगे। भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने मतगणना से पहले राज्य में भारी बहुमत से एनडीए की सरकार बनने का बड़ा दावा किया है।

यह भी पढ़ें: तेजस्वी के खास 3 लोग: नतीजों से पहले हो रही है इनकी चर्चा, यहां जाने

उन्होंने कहा कि मतदाताओं के रुझान से एक बात साफ है कि नीतीश कुमार एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री पद की कमान संभालेंगे। पटना समेत कई शहरों में जीत के जश्न की तैयारियां जोर-शोर पर चल रही है। विभिन्न सियासी दलों के दफ्तरों में उम्मीदवारों के समर्थक और कार्यकर्ताओं के लिए खाने-पीने की व्यवस्था की गई है।

महिला मतदाताओं का जमकर मतदान

जानकार सूत्रों का कहना है कि चुनाव में इस बार पिछले चुनाव की तरह महिला मतदाताओं ने पुरुष मतदाताओं के मुकाबले अधिक मतदान किया है। 2015 के विधानसभा चुनाव में 60.5 फ़ीसदी महिला मतदाताओं ने मतदान किया था जबकि 53.3 फीसदी पुरुष मतदाताओं ने मतदान में हिस्सा लिया था।

इस बार के विधानसभा चुनाव में भी करीब 60 फ़ीसदी महिला मतदाताओं ने मतदान किया है। इसलिए चुनाव नतीजों का फैसला करने में महिला मतदाताओं की भूमिका काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है।

यह भी पढ़ें: Bihar Results: तेजस्वी का नेताओं को सख्त निर्देश, PM मोदी पर कही ये बात

नौकरशाहों को नतीजों का बेसब्री से इंतजार

एग्जिट पोल के नतीजे आने के बाद आईएएस और आईपीएस से लेकर सचिवालय के बाबुओं को परिणाम का बेसब्री से इंतजार है। बहुत से अफसर उन्हें दोनों खेमों में बधाइयां देने का सिलसिला भी शुरू कर दिया है ताकि चुनाव के बाद जिस की सरकार बने उसमें हिसाब किताब सही बना रहे।

वैसे अधिकांश अफसर अभी भी चुनाव नतीजों को लेकर निश्चिंत नहीं है और बड़ा सोच समझकर राजनीतिक चर्चा कर रहे हैं। वे इस बात का पता लगाने में जुटे हुए हैं कि अबकी बार किसकी सरकार बनने जा रही है।

रिपोर्ट- अंशुमान तिवारी

यह भी पढ़ें: Bihar Results: तेजस्वी का नेताओं को सख्त निर्देश, PM मोदी पर कही ये बात

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Shreya

Shreya

Next Story