Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बिहार में कोरोना बढ़ाः भारी बारिश से बने बाढ़ के हालात, सुरक्षा में जुटा प्रशासन

बिहार का रिकवरी रेट 88.01 प्रतिशत है, जो राष्ट्रीय औसत से लगभग 11 प्रतिशत अधिक है। पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 1,727 नये मामले सामने आये हैं।

Shivani

ShivaniBy Shivani

Published on 5 Sep 2020 4:04 PM GMT

बिहार में कोरोना बढ़ाः भारी बारिश से बने बाढ़ के हालात, सुरक्षा में जुटा प्रशासन
X
बिहार में बाढ़ की स्थिति को देखते शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से आलाधिकारियों के बीच बैठक हुई। इस दौरान कोरोना और बाढ़ के हालातों पर चर्चा हुई ।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटनाः बिहार में कोरोना के प्रसार और नदियों का जलस्तर बढ़ने से बनी बाढ़ की स्थिति को देखते शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से पुलिस विभाग के आलाधिकारियों, सचिव स्वास्थ्य, अपर सचिव, आपदा प्रबंधन और जल संसाधन विभाग के प्रभारी, बाढ़ अनुश्रवण सेल के अधिकारीयों के बीच बैठक हुई। इस दौरान कोरोना संक्रमण की रोकथाम और विभिन्न नदियों के जलस्तर को लेकर किये जा रहे कार्यों के संबंध में चर्चा की गयी।

बिहार के आलाधिकारियों की बैठक

सचिव सूचना एवं जन-सम्पर्क अनुपम कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय जितेंद्र कुमार, अपर सचिव आपदा प्रबंधन रामचंद्र डू एवं जल संसाधन विभाग के प्रभारी पदाधिकारी, बाढ़ अनुश्रवण सेल ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं विभिन्न नदियों के जलस्तर को लेकर सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों के संबंध में अद्यतन जानकारी दी।

Bihar coronavirus flood situation officials meeting (2)

सचिव, सूचना एवं जन-सम्पर्क अनुपम कुमार ने बताया कि कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर सरकार द्वारा पूरी तत्परता के साथ लगातार सभी आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। कोरोना संक्रमण से पिछले 24 घंटे में 1,965 लोग स्वस्थ हुए हैं और अब तक 1,28,376 लोग कोविड-19 संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं।

ये भी पढ़ेंः विपक्ष की चुप्पी: संसद में प्रश्नकाल पर जिद्द, पर राज्य विधानसभाओं पर बोलती बंद

बिहार का रिकवरी रेट 88.01 प्रतिशत है, जो राष्ट्रीय औसत से लगभग 11 प्रतिशत अधिक है। विगत 24 घंटे में कोविड-19 के 1,727 नये मामले सामने आये हैं। वर्तमान में बिहार में कोविड-19 के 16,734 एक्टिव मरीज हैं। पिछले 24 घंटे में अभी तक का सबसे ज्यादा 1,50,483 सैंपल्स की जांच की गई है और अब तक की गयी कुल जांच की संख्या 38,71,733 है।

Jink

अनुपम कुमार ने बताया कि अब एक्टिव मरीजों की संख्या में निरंतर कमी हो रही है और रिकवरी का प्रतिशत बढ़ रहा है। प्रतिदिन टेस्ट की संख्या बढ़ रही है, जबकि पॉजिटिविटी कम हो रही है और स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है। उन्होंने बताया कि रोजगार सृजन पर सरकार का विशेष ध्यान है और लॉकडाउन पीरियड से लेकर अभी तक 05 लाख 60 हजार 246 योजनाओं के अंतर्गत 14 करोड़ 64 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है।

ये भी पढ़ेंः Ease Of Doing Business Ranking: UP की बड़ी छलांग, इस स्थान पर उत्तराखंड

अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय जितेन्द्र कुमार ने बताया कि सरकार द्वारा 01 अगस्त से लागू अनलॉक-3 के तहत जारी गाइडलाइन्स का अनुपालन कराया जा रहा है। पिछले 24 घंटे में 490 वाहन जब्त किये गये हैं और 16 लाख 66 हजार रूपये की राशि जुर्माने के रुप में वसूल की गई है। इस दौरान 01 कांड दर्ज किया गया है और 01 व्यक्ति की गिरफ्तारी हुई है।

Nitish Kumar

इस प्रकार 1 अगस्त से अब तक 90 कांड दर्ज किये गए हैं और 166 व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई है। कुल 21,764 वाहन जब्त किए गए हैं और करीब 06 करोड़ 09 लाख 87 हजार 320 रुपए की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। उन्होंने बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने वाले लोगों पर भी लगातार कार्रवाई की जा रही है।

ये भी पढ़ेंः ‘AAP’ की एंट्री: UP सरकार की नाक में किया दम, सपा-कांग्रेस की सुस्ती की दूर

पिछले 24 घंटे में मास्क नहीं पहनने वाले 8,616 व्यक्तियों से 04 लाख 30 हजार 800 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। इस प्रकार 01 अगस्त से अब तक मास्क नहीं पहनने वाले 1,67,687 व्यक्तियों से 83 लाख 84 हजार 350 रूपये की जुर्माना राशि वसूल की गयी है। कोविड-19 से निपटने के लिये उठाये जा रहे कदमों और नए दिशा-निर्देशों का पालन करने में अवरोध पैदा करने वालों के खिलाफ सख्ती से कदम उठाये जा रहे हैं।

Mathura Heavy Rain

ये भी पढ़ेंः अब मनचलों की खैर नहीं: उनके पेंच कसने आ गयी है महिला पिंक पुलिस, देखें तस्वीरें

जल संसाधन विभाग के प्रभारी पदाधिकारी, बाढ़ अनुश्रवण सेल ने बताया कि गंडक नदी में बाल्मीकिनगर बराज पर आज 88,300 क्यूसेक जलश्राव प्रवाहित हुआ है और इसकी प्रवृत्ति बढ़ने की है। गंगा का जलस्तर गांधी घाट, हाथीदह एवं कहलगांव में खतरे के निशान से क्रमशः 13 सेंटीमीटर, 27 सेंटीमीटर एवं 14 सेंटीमीटर ऊपर है। कोशी नदी में 1,05,400 क्यूसेक जलश्राव प्रवाहित हुआ है और इसकी प्रवृति स्थिर है। सोन नदी में इन्द्रपुरी बराज पर आज 32,489 क्यूसेक जलश्राव प्रवाहित हुआ है और इसकी प्रवृत्ति बढ़ने की है। महानंदा नदी का जलस्तर तैयबपुर और ढेंगराघाट पर बढ़ने की प्रवृत्ति है लेकिन दोनों स्थलों पर खतरे के निशान से नीचे प्रवाहित हो रहे है।

नदियों का जलस्तर बढ़ाः

इसके अलावा अन्य नदियों का जलस्तर सभी गेज स्थलों पर या तो स्थिर है या फॉलिंग ट्रेंड में है। वर्षापात के पूर्वानुमान के मुताबिक अगले तीन दिनों तक बिहार और नेपाल के सभी नदियों के बेसिन में लाइट टू मोडरेट वर्षापात होने की संभावना व्यक्त की गयी है। जल संसाधन विभाग द्वारा सतत् निगरानी एवं चैकसी बरती जा रही है।

ये भी पढ़ेंः सावधान वाहन चालक: सरकार की बड़ी तैयारी, अब कबाड़ में जाएगी आपकी पुरानी गाड़ी

अपर सचिव आपदा प्रबंधन रामचंद्र डू ने बताया कि बिहार की विभिन्न नदियों के बढ़े जलस्तर को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क है। अब धीरे-धीरे बाढ़ की स्थिति में सुधार हो रहा है। नदियों के बढ़े जलस्तर से बिहार के 16 जिलों के कुल 130 प्रखंडों की 1,333 पंचायतें प्रभावित हुई हैं, जहाँ आवश्यकतानुसार राहत शिविर चलाए जा रहे हैं। सारण जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों में 05 कम्युनिटी किचेन चलाए जा रहे हैं, जिनमें प्रतिदिन 22,710 लोग भोजन कर रहे हैं।

corona-testing

ये भी पढ़ेंः धमाके में उड़ी मस्जिद: मिनटों में मिट गया नामो-निशान, मौतों से मचा हाहाकार

सभी बाढ़ प्रभावित जिलों में एन0डी0आर0एफ0 और एस0डी0आर0एफ0 की टीमें प्रतिनियुक्त हैं और अब तक प्रभावित इलाकों से एन0डी0आर0एफ0, एस0डी0आर0एफ0 और बोट्स के माध्यम से 5,50,792 लोगों को निष्क्रमित किया गया है। उन्होंने बताया कि अभी तक बाढ़ प्रभावित 16,54,063 परिवारों के बैंक खाते में प्रति परिवार 6,000 रुपये की दर से कुल 992.43 करोड़ रुपये जी0आर0 की राशि भेजी जा चुकी है। सभी लाभान्वित परिवारों को एस0एम0एस0 के माध्यम से सूचित भी किया गया है। आपदा प्रबंधन विभाग संपूर्ण स्थिति पर लगातार निगरानी रख रहा है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani

Shivani

Next Story