CBSE ने किया ये बड़ा ऐलान, परीक्षा में बैठने के लिए छात्रों…

सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं में बैठने के लिए 75 प्रतिशत उपस्थिति को अनिवार्य कर दिया है। सीबीएसई ने इस संबंध में सभी स्कूलों को नोटिस कर दिया है और उन छात्रों की अटेंडेस की गिनती करने को कहा है।

नई दिल्ली: सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं में बैठने के लिए 75 प्रतिशत उपस्थिति को अनिवार्य कर दिया है। सीबीएसई ने इस संबंध में सभी स्कूलों को नोटिस कर दिया है और उन छात्रों की अटेंडेस की गिनती करने को कहा है जो इस साल कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षाओं के लिए हिस्सा लेंगे। कम उपस्थिति वाले छात्रों की सूची क्षेत्रीय कार्यालयों तक भेजी जाएगी और आखिरी फैसला 7 जनवरी को या उससे पहले लिया जाएगा।

बोर्ड ने कहा है कि अगर किसी छात्र के पास कम उपस्थिति के पीछे कोई वास्तविक कारण है, तो उसे 7 जनवरी तक बताना होगा। इसके लिए जरूरी दस्तावेज भी पेश करने होंगे।

यह भी पढ़ें…बंपर नौकरियां: यूपी वालों में खुशी की लहर, 25 हजार पदों पर होंगी भर्तियां

सर्कुलर के मुताबिक, ऐसे किसी केस पर 7 जनवरी के बाद विचार नहीं किया जाएगा। बोर्ड ने 1 जनवरी, 2020 तक का डाटा बुलाया है। जिन छात्रों की उपस्थिति 75 प्रतिशत से कम होगी, उन्हें CBSE के नियम के अनुसार परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं होगी।

यह भी पढ़ें…अभी-अभी रद्द हुई परीक्षा: मचा हड़कंप, प्रतियोगी छात्रों के लिए फिर मुसीबत

बता दें, CBSE बोर्ड की परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू होंगी। एडमिट कार्ड केवल उन छात्रों के लिए जारी किए जाएंगे जो अनिवार्य उपस्थिति सहित सभी मापदंडों पर खरे उतरेंगे।

यह भी पढ़ें…PCS की तैयारी करने वालों के लिए बुरी खबर, आयोग ने उठाया ये बड़ा कदम

सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं में 2020 से कई नए नियम लागू होंगे, जिनमें प्रश्नों की संख्या कम करना भी शामिल है। प्रश्न पत्र में रॉट मेमोराइजेशन आधारित प्रश्नों के बजाए 33 प्रतिशत विकल्प और हायर ऑर्डर थिंकिंग पर अधिक प्रश्न होंगे। थ्योरी की परीक्षाएं 100 अंकों के बजाय, 80 अंकों की होगी। जहां प्रैक्टिकल असेसमेंट नहीं है, वहां इंटरनल असेसमेंट कुल 20 अंकों तक होगा।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App