बच्चों को बड़ी राहत: CBSE ने किया बड़ा एलान, सिलेबस में 30 फीसदी की कटौती

बोर्ड ने अपने सिलेबस से (CBSE Syllabus 2020-21) क्लास 9th से लेकर 12th तक का पाठ्यक्रम 30 प्रतिशत तक घटा दिया है।

नई दिल्ली: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए छात्रों को बड़ी राहत दी है। दरअसल, बोर्ड ने अपने सिलेबस से (CBSE Syllabus 2020-21) क्लास 9th से लेकर 12th तक का पाठ्यक्रम 30 प्रतिशत तक घटा दिया है। CBSE ने अपने सिलेबस के कुछ अहम चैप्टर को हटा दिया है। बोर्ड के अकादमिक निदेशक इमेनुअल जोसफ ने कहा कि तय 70 प्रतिशत पाठ्यक्रम से ही एग्जाम में प्रश्न पूछे जाएंगे।

यह भी पढ़ें: पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर जी की जयंती पर पुष्प चढ़ाते एमएलसी जसवंत सिंह, देखें तस्वीरें

इसलिए बोर्ड ने उठाया ये महत्वपूर्ण कदम

दरअसल, देश भर में कोरोना वायरस महामारी के संकट को देखते हुए अधिकतर स्कूल बंद रखे गए हैं। ऐसे में बच्चों की पढ़ाई पर भी काफी ज्यादा प्रभावित हो रही है। ऐसे में क्लास में स्टूडेंट्स को पढ़ाने के लिए पर्याप्त वक्त न होने की वजह से केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने क्लास 9th से लेकर 12th तक का पाठ्यक्रम 30 प्रतिशत तक घटा दिया है।

CBSE ने सिलेब्स में 30 प्रतिशत की कटौती का किया एलान

CBSE ने आज साल 2020-2021 के लिए सिलेब्स में 30 प्रतिशत की कटौती करने का एलान किया है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सात जुलाई को कोरोना वायरस महामारी के बीच स्टूडेंट्स को राहत देने के लिए नौवीं से लेकर बारहवीं तक के सिलेबस को कम करने के लिए कहा था।

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार ने खोला पिटारा, फ्री LPG सिलेंडर समेत इन तीन प्रस्तावों पर लगी मुहर

सिलेबस से इन विषयों को हटाया गया

मंत्रालय के आदेश के बाद बोर्ड ने 9th से लेकर 12th तक में पढ़ाए जाने वाले राजनीति विज्ञान और अर्थशास्त्र को संशोधित किया है। 11वीं के छात्र साल 2020-21 के दौरान ”राजनीतिक विज्ञान में संविधान में संघवाद के बारे में नहीं पढ़ेंगे। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की तरफ से नागरिकता, धर्मनिरपेक्षता और राष्ट्रवाद आदि पाठों को भी हटा दिया गया है। जबकि ‘स्थानीय सरकार’ चैप्टर की दो यूनिट को हटा दिया गया है। इन यूनिट में ‘हमें स्थानीय सरकारों की क्यों जरूरत होती है?’ और ‘भारत में स्थानीय सरकार का विकास’ जैसे अहम सब्जेक्ट पढ़ाए जाते थे।

यह भी पढ़ें: बारिश ने मचाया कहर: हुआ ये भयानक हादसा, तबाह हो गया पूरा परिवार

12वीं कक्षा के पाठ्यक्रम में से हटाया गया ये टॉपिक

इसके अलावा 12वीं कक्षा के पाठ्यक्रम में से भारत के अपने पड़ोसी देशों के साथ संबंध को हटा दिया गया है। इसके अलावा सामाजिक आंदोलनों, भारत के आर्थिक विकास की बदलती प्रकृति, पर्यावरण और प्राकृतिक संसाधन और योजना आयोग जैसे पाठों को भी हटा दिया गया है।

9th के बच्चे नहीं पढ़ेंगे ये चैप्टर

वहीं क्लास 9th के राजनीति विज्ञान सिलेबस से मानव अधिकार और भारतीय संविधान के ढांचे जैसे अहम चैप्टर को हटा दिया गया है। अर्थशास्त्र से भी भारत में खाद्य सुरक्षा जैसे चैप्टर को हटाया गया है।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान को पड़ी लताड़: भारत ने अकल लगाई ठिकाने, UN में घेरा

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App