CBSE परीक्षार्थियों के लिए बड़ा एलान: गृह जिले में ही परीक्षा देने की सुविधा

देश में कोरोना संकट के कारण घोषित लॉकडाउन के बीच सरकार ने सीबीएसई के 10वीं व 12वीं के परीक्षार्थियों को बड़ी राहत दी है। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने एलान किया है।

नई दिल्ली: देश में कोरोना संकट के कारण घोषित लॉकडाउन के बीच सरकार ने सीबीएसई के 10वीं व 12वीं के परीक्षार्थियों को बड़ी राहत दी है। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने एलान किया है कि जो बच्चे लॉकडाउन के दौरान अपने गृह जिलों या अन्य प्रदेशों में चले गए हैं, उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है। ऐसे परीक्षार्थी अपने जिले में परीक्षा दे सकते हैं।
अपने स्कूलों को तुरंत देनी होगी जानकारी

निशंक ने कहा कि सरकार ने परीक्षार्थियों की दिक्कतों को महसूस करते हुए यह बड़ा फैसला किया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए 10वीं व 12वीं के छात्र छात्राओं को अपने स्कूल को करीब के सेंटर के बारे में जानकारी देनी होगी। सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं अगले महीने एक से 15 जुलाई के बीच आयोजित की जाएगी। निशंक ने कहा कि कोरोना संकट के कारण हजारों बच्चे अपने गृह प्रदेश चले गए हैं। ऐसे परीक्षार्थियों की दिक्कतों को दूर करने के लिए गृह जिले में परीक्षा की सुविधा देने का फैसला किया गया है।

यह भी पढ़ें…कोरोना की चपेट में IPS अधिकारी, दिल्ली में अब तक 450 पुलिसकर्मी मिले संक्रमित

जून के पहले सप्ताह में सेंटर की जानकारी

मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि छात्र-छात्राओं को इस बाबत जल्द से जल्द अपने स्कूल से संपर्क करके उसे सूचना दे देनी चाहिए। स्कूल और विभाग की ओर से इसकी पूरी व्यवस्था की जाएगी और जून के प्रथम सप्ताह तक बच्चों को सेंटर के बारे में जानकारी दे दी जाएगी।

29 विषयों की होगी परीक्षा

कोरोना संकट में लॉकडाउन के कारण सीबीएसई ने 83 विषयों की परीक्षाएं रोक दी थी। इसके बाद सीबीएसई ने बड़ा फैसला लेते हुए बताया था कि इन 83 विषयों में से 29 विषयों की ही परीक्षा होगी। ये वही विषय होंगए जो अगली क्लास में जाने के लिए जरूरी हैं।

यह भी पढ़ें…बड़ी चुनौतियों में घिरीं ममता: BJP ने लॉन्च किया चुनावी कैंपेन, दिया ये बड़ा नारा

नहीं बदलेगा एडमिट कार्ड

सीबीएसई के अधिकारियों का कहना है कइ छात्र -छात्राओं के एडमिट कार्ड भी वही रहेंगे। सीबीएसई के सूत्रों के मुताबिक अलग-अलग स्टूडेंट्स के अलग-अलग पेपर है और हर पेपर में स्टूडेंट की संख्या भी काफी कम है। छात्र छात्राओं के मेन स्ट्रीम के पेपर पूरे हो चुके हैं। कॉमर्स साइड का एक पेपर सिर्फ बिजनेस स्टडीज का ही बचा हुआ है। होम साइंस, भूगोल और बायोटेक्नोलॉजी के साथ ही आईटी के कुछ पेपर बचे हैं। उत्तर पूर्वी दिल्ली को छोड़कर बाकी देश में फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी, लिटरेचर सहित विभिन्न मेन स्ट्रीम के पेपर हो चुके हैं।

यह भी पढ़ें…UP के 75 जिलों में 2790 कोरोना के मामले एक्टिव, इतने मरीज हुए ठीक

सोशल डिस्टेंसिंग का होगा पालन

सीबीएसई के अधिकारियों का कहना है कि परीक्षा केंद्रों पर स्टूडेंट्स के बीच सोशल डिस्पेंसिंग का पूरी तरह पालन किया जाएगा। सरकार चाहती है कि परीक्षा देने के दौरान परीक्षार्थियों में कोरोना संक्रमण का किसी प्रकार का भी खतरा न रहे। यही कारण है कि सीबीएसई की डेटशीट में यह कोशिश की गई है कि एक दिन एक ही विषय का पेपर हो ताकि परीक्षार्थियों की अधिक भीड़ ना हो।