health tips: महिला की प्रजनन क्षमता को प्रभावित करता हैं यह समय, जान ले पूरी बात

शोधकर्ताओं का कहना है कि महिलाएं जो रात में जल्दी सोती हैं और सुबह जल्दी जाग जाती हैं, उनके गर्भवती होने की संभावना अधिक होती है।

Published by Monika Published: September 15, 2020 | 7:38 pm
pregnant women

pregnant women (file pic)

समय पर सोना और समय पर उठना एक अच्छी आदत होने के साथ तंदरुस्त रखने में भी मदद करती हैं। बचपन में आप की मां ने भी जल्दी सोने की सलाह दी होगी। लेकिन क्या आप जानते हैं ना सिर्फ बच्चों को बल्कि गर्भवती होने वाली महिलाओं के लिए भी समय पर सोना उनकी सेहर के लिए फायदेमंद होता हैं। यह हम नहीं बल्कि कई शोधकर्ताओं का मानना हैं।

शोधकर्ताओं का कहना है कि महिलाएं जो रात में जल्दी सोती हैं और सुबह जल्दी जाग जाती हैं, उनके गर्भवती होने की संभावना अधिक होती है। ब्रिटेन में यूनिवर्सिटी ऑफ वारविक के शोधकर्ताओं के मुताबिक, सुबह जल्दी उठने वाले लोग स्वस्थ रहते हैं और इसकी वजह से गर्भवती होने की बेहतर संभावना होती है। रात में देर तक जागने वालीं महिलाओं की तुलना में जल्दी सोने वाली महिलाओं की जीवनशैली स्वस्थ जीवनशैली होती है।

यह भी पढ़ें: पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी: 30 किलो गांजा किया बरामद, 2 आरोपी गिरफ्तार

डॉक्टर का कहना है कि रात में जल्दी सोने से सुबहे का अनुभव शरीर में ऊर्जा से भरपूर और ताजा महसूस करता है। चुस्त रहने से ना केवल आपको अच्छी नींद आती हैं बल्कि आप को आस पास का माहोल भी अच्छा लगता हैं।अगर आप देर रत जागती हैं तो यह सम्भावना हैं कि सुबह तक आप की नींद पुती नही होती और आस पास का माहौल आपको प्रेषण करता हैं। शोधकर्ताओं का कहना है कि जल्दी सोने वाली महिलाओं का न केवल वजन कम होता है, बल्कि मधुमेह और हृदय रोग होने का जोखिम भी कम होता है। ये सारी समस्याएं गर्भ धारण की संभावना को प्रभावित करती हैं।

यह भी पढ़ें: ताबड़तोड़ पत्थरबाजी: पुलिस की लापरवाही से बागपत में बवाल, जमकर पथराव

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर खाना

स्वस्थ महिला नियमित रूप से ओव्यूलेट करेगी और गर्भवती होने की अधिक संभावना होगी। पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, मिनरल और माइक्रोन्यूट्रीयंट्स मिलें। अधिक एंटीऑक्सिडेंट खाद्य जैसे फल, सब्जियां, नट्स और अनाज का सेवन करें। ये विटामिन सी और ई, फोलेट, बीटा-कैरोटीन और ल्यूटिन जैसे एंटीऑक्सिडेंट से भरे होते हैं। एंटीऑक्सिडेंट मुक्त कणों से लड़ सकते हैं, जो शुक्राणु और अंडाणु कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

सक्रिय रहें

विशेषज्ञों का कहना है व्यायाम जैसे चलना, योग या घरेलू गतिविधियां जैसे साफ-सफाई या बागवानी महिलाओं में प्रजनन क्षमता को बढ़ा सकती हैं। अत्यधिक तीव्रता वाले व्यायाम से बचें बे विपरीत प्रभाव डाल सकते हैं। बहुत अधिक व्यायाम भी ना करें।

यह भी पढ़ें: बाराबंकी : राईन समाज अखिलेश यादव से चुनाव में टिकट के लिए कर रहा मांग

तनाव कम करें

इसलिए यदि गर्भवती होने की कोशिश कर रही हैं तो अपने तनाव के स्तर को कम से कम रखें। बहुत अधिक तनाव कोर्टिसोल के बढ़ते स्तर के कारण हार्मोन के संतुलन को प्रभावित कर सकता है और गर्भधारण की संभावना को कम कर सकता है।

वजन पर ध्यान दें

कम वजन और ज्यादा वजन, दोनों ही महिलाओं की प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकते हैं। अपनी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए स्वस्थ वजन बनाए रखें। इन सभी चीजों को घर पर प्रयोग करने से पहले अपने निजी डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।

यह भी पढ़ें: Union Bank की तानाशाही: सुने ग्राहक-कस्टमर केयर की बात, सामने आई सच्चाई

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App