मरने पर पाबंदी: सोचा तो नहीं होगा, लेकिन जानोगे तो हिल जायेगा दिमाग

मृत्यु तो किसी को कभी भी आ सकती है, लेकिन इस दुनिया में कुछ देश ऐसे भी हैं जहां पर लोगों के मरने पर ही पाबंदी है।

लखनऊ : ये दुनिया अजब गजब किस्सों और कहानियों से भरी पड़ी है। दुनिया में ऐसी ही  कुछ जगहों के बारे में हम आपको बता रहे हैं । दुनिया में आमतौर पर अगर कोई शख़्स किसी को जान से मार डाले तो उसे सज़ा दी जाती है। लेकिन इस दुनिया में कुछ जगहें ऐसी भी हैं, जहां लोगों को नेचुरल डेथ पर भी पाबंदी है।

जी हां, सही सुना आपने। मृत्यु तो किसी को कभी भी आ सकती है, लेकिन इस दुनिया में कुछ देश ऐसे भी हैं जहां पर लोगों के मरने पर ही पाबंदी है। आइए जानते हैं इन देशों के बारे में…

ये भी देखें : रोज मेरी इज्जत लूटते रहे 20 आदमी, इसकी चाह ने पहुंचाया जिस्म की मंडी में

सेलिया- इटली

2015 में इटली के इस शहर में 537 लोग ही बचे थे। इनमें से अधिकतर 65 साल से अधिक उम्र के लोग हैं। इसलिए यहां के मेयर ने लोगों  को हेल्दी रहने की हिदायत दी थी और समय-समय पर हेल्थ चेकअप न करवाने वाले पर फ़ाइन लगाने पर बात कही थी। ये नियम लोगों को स्वस्थ रहने और शहर को बचाने के लिए बनाया गया था।

कगनाक्स- फ्रांस

फ़्रांस के इस गांव में दो ही कब्रिस्तान है, जहां पर केवल 17 लोगों को दफनाने की जगह ही बची है। इसलिए साल 2007 में ही यहां पर लोगों के मरने पर पाबंदी लगा दी गई है। अगर किसी की मौत होने वाली होती है, तो उसे इस गांव से दूसरी जगह ले जाया जाता है।

सर्पोरेंक्स- फ्रांस

कगनाक्स से प्रेरित होकर यहां के मेयर ने भी अपने इलाके में लोगों के मरने पर पाबंदी लगा दी थी। क्योंकि यहां के कब्रिस्तान में भी सिर्फ़ 260 लोगों को दफ़नाने के लिए जगह रह गई थी।

ये भी देखें : CWC मीटिंग: कांग्रेस अध्यक्ष के लिए दलित नाम पर लग सकती है मोहर

बिरिटिबा- ब्राजील

2005 में यहां के मेयर ने भी लोगों के मरने पर बैन लगा दिया था। क्योंकि यहां के कैथोलिक चर्च ने कब्रिस्तान में जगह न होने की बात कही थी। हालांकि, साल 2010 में यहां पर नया कब्रिस्तान बना दिया गया था।

लंजरोन- स्पेन

1999 में दक्षिणी स्पेन के इस शहर के मेयर को भी कब्रिस्तान की कमी का सामना पड़ा था। इससे निपटने के लिए उन्होंने भी यहां पर जब तक नए कब्रिस्तान की व्यवस्था नहीं हो, जाती तब तक शहर में लोगों के मरने पर प्रतिबंध लगा दिया था।

लॉन्गेयरबाईन- नॉर्वे

नार्वे का ये इलाका बहुत ही बर्फ़िला है। इसलिए यहां पर किसी को दफ़नाने पर न तो शव गलते हैं और न ही सड़ते हैं। जिसके कारण लोगों में कई प्रकार की बीमारियां फैलने का ख़तरा बना रहता है। इसलिए यहां पर जब भी कोई व्यक्ति बीमार पड़ता है या फिर मरने वाला होता है, तो उसे दूसरे शहर ले जाया जाता है।

ये भी देखें : राखी का पति निकला भौकाली, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप से है ये कनेक्शन

फालिसियानो डेल मासिको- इटली

साल 2012 में यहां के लोगों ने पड़ोसी शहर नेपल्स के कब्रिस्तान को साझा करने का प्लान बनाया था। क्योंकि यहां के कब्रिस्तान फुल हो चुके थे। पर नेपल्स के कब्रिस्तान में पड़ोसी शहर के लोगों के लिए कब्र के लिए अधिक पैसे लेते थे। क्या आप इन शहरों के बारे में ऐसी बातें जानते थे ? कैसा लगा जानकर ?