सेना प्रमुख नरवणे पहुंचे जम्मू, सेना की तैयारियों का लिया जायजा

थल सेना के प्रमुख जनरल एमएम नरवणे सोमवार को सेना की तैयारियों का जायजा लेने के लिए जम्मू पहुंचे। उन्होंने जम्मू-पठानकोट रीजन का दौरा किया।

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना पाकिस्तान के सीजफायर उल्लंघन के मामलों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम कर रही है। इस बीच थल सेना के प्रमुख जनरल एमएम नरवणे सोमवार को सेना की तैयारियों का जायजा लेने के लिए जम्मू पहुंचे। उन्होंने जम्मू-पठानकोट रीजन का दौरा किया। इस दौरान सेना प्रमुख ने राइजिंग स्टार कॉर्प्स के अग्रिम इलाकों में तैनात भारतीय सैनिकों, सुरक्षा प्रबंधों और सेना की ऑपरेशन की तैयारियों की जानकारी ली। इसके साथ ही चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ ने गुर्ज डिवीजन के अग्रिम इलाकों का भी दौरा किया।

यह भी पढ़ें: हैवानियत वाला अब्बू: सामने आईं दरिंदगी की सारी करतूतें, कई बच्चियों की जिंदगी तबाह

मौजूदा हालात और सुरक्षा की स्थितियों के बारे में ली जानकारी

इस दौरान जीओसी गुर्ज डिवीजन मेजर जनरल वाईपी खंडूरी ने सेना प्रमुख को मौजूदा हालात और सुरक्षा की स्थितियों के बारे में जानकारी दी। सेना प्रमुख नरवणे ने आंतरिक सुरक्षा मसलों और सुरक्षा के बुनियादी ढांचे के अपग्रेडेशन समेत सेना की ऑपरेशनल तैयारियों के बारे में लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी से जानकारी ली।

सेना और सरकार की एजेंसियां मिलकर कर रहीं काम

सेना प्रमुख जनरल नरवणे ने सैन्य अधिकारियों को स्पष्ट कर दिया है कि पाकिस्तान द्वारा लगातार किए गए जा रहे सीजफायर उल्लंघन और आतंकियों की घुसपैठ को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति है। उन्होंने कहा कि सेना और सरकार की एजेंसियां मिलकर काम कर रही हैं और हम विरोधियों की तरफ से छेड़े जा रहे छद्म युद्ध के नापाक इरादों को नाकामयाब बनाने के लिए मिलकर काम करते रहेंगे।

यह भी पढ़ें: गहलोत की बल्ले-बल्ले: समर्थन में आए 109 MLA, पायलट के साथ 16 विधायक

सेना प्रमुख ने सैनिकों का बढ़ाया मनोबल

जम्मू-पठानकोट रीजन के दौरे के दौरान सेना प्रमुख नरवणे ने फील्ड फॉर्मेशन कमांडर्स और अग्रिम इलाकों में तैनात सैनिकों से भी बातचीत की। साथ ही उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पश्चिमी कमान की सभी अधिकारियों को संबोधित किया और सैनिकों का मनोबल बढ़ाया। सेना प्रमुख ने सेना पर दुश्मनों के साजिशों को नाकाम करने और किसी भी परिस्थिति का सामना करने की क्षमता पर भरोसा जताया।

हमारी सेना किसी भी परिस्थिति से नि्पटने में सक्षम

उन्होंने सेना पर विश्वास जताते हुए कहा कि हमारी सेना दुश्मनों के किसी भी दुस्साहस को विफल बनाने और सभी परिस्थितियों को संभालने में सक्षम है। साथ ही उन्होंने कोरोना वायरस की महामारी के खिलाफ लड़ाई में पश्चिमी कमान के प्रयासों और ऑपरेशन नमस्ते की सराहना की।

यह भी पढ़ें: बन्द हुआ कलेक्ट्रेट: दूर दराज से आने वाले लोगों की बढ़ी मुसीबत, मचा कहर

भारतीय सेना आतंक के खिलाफ चला रही अभियान

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना लगातार पाकिस्तान की ओर से किए जा रहे सीजफायर उल्लंघन का मुंहतोड़ जवाब तो दे ही रही है। साथ ही सेना ने आतंकवाद के खिलाफ भी अभियान छेड़ रखा है। सेना ने इस ऑपरेशन के तहत कई बड़े-बड़े आतंकवादियों को ढेर भी कर दिया है। हाल ही में कश्मीर का मोस्ट वॉन्टेड आतंकवादी और हिज्बुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर रियाज नायकू भी एनकाउंटर में मारा गया था, जो सेना के लिए एक बड़ी कामयाबी मानी जा रही थी।

यह भी पढ़ें: नही भाया हरा, नारंगीः मांग है पांच दिन करने दें कारोबार, खुलें सभी दुकानें

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।