अब PoK होगा हमारा! सेना प्रमुख के बयान का सरकार ने किया समर्थन

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे के पीओके वाले बयान का केंद्र सरकार ने समर्थन किया है। बड़ा बयान देते हुए रक्षा राज्यमंत्री ने कहा कि सरकार इस पर गौर करेगी।

अब PoK होगा हमारा! सेना प्रमुख के बयान का सरकार ने किया समर्थन

अब PoK होगा हमारा! सेना प्रमुख के बयान का सरकार ने किया समर्थन

नई दिल्ली: भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे के पीओके वाले बयान का केंद्र सरकार ने समर्थन किया है। बड़ा बयान देते हुए रक्षा राज्यमंत्री ने कहा कि सरकार इस पर गौर करेगी।

बता दें कि मुकुंद नरवाणे ने कहा कि अगर संसद चाहे तो पीओके पर भी कार्रवाई करेंगे। सेना प्रमुख ने कहा था कि ‘यह एक संसदीय संकल्प है कि संपूर्ण कश्मीर भारत का हिस्सा है। अगर संसद ने कहा कि वो क्षेत्र (पीओके) भी हमारा होना चाहिए और हमें उस आशय के आदेश दे तो हम उसके लिए उचित कार्रवाई करेंगे।’

यह भी पढ़ें: फिर आग की चपेट में दिल्ली: दमकल की 26 गाड़ियां मौके पर, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

आर्मी चीफ जनरल मुकुंद नरवणे ने कही ये बात

देश के नए आर्मी चीफ जनरल मुकुंद नरवणे ने शनिवार को कहा था कि सियाचिन हमारे लिए बहुत अहम है। उन्होंने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में विश्वास भरा पैगाम देते हुए कहा कि सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है, सुरक्षा के साथ किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जा सकता।

सीडीएस के गठन से सेना को मजबूती मिलेगी

आर्मी चीफ ने कहा था कि चीफ ऑफ आर्मी डिफेंस (CDS) का बनना महत्वपूर्ण कदम है, सीडीएस के गठन से सेना को मजबूती मिलेगी। उन्होंने आगे कहा कि तीनों सेनाओं के बीच तालमेल जरूरी है, हम भविष्य की चुनौतियों और खतरों को ध्यान में रखकर प्लानिंग करेंगे और प्राथमिकता के हिसाब से बजट का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने कहा था कि कि हम क्वॉन्टिटी पर ध्यान ना देकर क्वॉलिटी पर फोकस करेंगे।

यह भी पढ़ें: सेना पर आफत! बर्फीले तूफान ने जवानों को घेरा, अब तक 5 शहीद-रेस्क्यू जारी

भारतीय सेना पहले की तुलना में आज बेहतर तैयार है

उन्होंने सेना की बेहतरी के बारे में कहा था कि, ‘भारतीय सेना पहले की तुलना में आज बेहतर तैयार है। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति और सैन्य मामलों के विभाग का निर्माण एकीकरण की दिशा में एक बहुत बड़ा कदम है और हम अपनी ओर से यह सुनिश्चित करेंगे कि यह सफल हो।’

पाकिस्तान और चीन सीमा पर सेना को संतुलित करने की आवश्यकता पर नरवाणे ने कहा, ‘संतुलन की आवश्यकता है क्योंकि उत्तरी और पश्चिमी दोनों सीमाओं पर समान ध्यान देने की आवश्यकता है।’

यह भी पढ़ें: नसबंदी के बाद महिला की मौत, जिले में मचा हड़कंप