अनुच्छेद 370 : 15 अगस्त को कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं रहेगा

भारत सरकार का जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 समाप्त करने के फैसले के बाद से अनेक विपक्षी दल इस फैसले की कड़ी आलोचना कर रहे हैं। आर्टिकल 370 को लेकर एमडीएमके के प्रमुख वाइको ने विवादित बयान दिया है।

Published by Vidushi Mishra Published: August 13, 2019 | 3:34 pm
Modified: August 13, 2019 | 6:00 pm

नई दिल्ली :भारत सरकार का जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 समाप्त करने के फैसले के बाद से अनेक विपक्षी दल इस फैसले की कड़ी आलोचना कर रहे हैं। आर्टिकल 370 को लेकर एमडीएमके के प्रमुख वाइको ने विवादित बयान दिया है। इससे पहले भी कश्मीर मुद्दे को लेकर कांग्रेस-भाजपा पर निशाना साधते रहे हैं। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह ने भी इसे लेकर कड़ी टिप्पणी की है। एमडीएमके प्रमुख वाइको ने कहा है कि सत्‍तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी कश्मीर को बर्बाद करने पर आमादा है।

यह भी देखें… सावधान दिल्ली वालों: अब सरेआम बीच सड़क पर लूट जाएंगे आप

वाइको का विवादित बयान

कश्मीर के मुद्दे को पर एमडीएमके प्रमुख वाइको ने विवादित बयान देते हुए कहा- जब देश अपना 100वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा होगा, तब कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं रहेगा। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा ने कश्मीर को कीचड़ में धकेल दिया है।

यह भी देखें… उन्नाव रेप केस अपडेट: गुजरात में ट्रक ड्राइवर और क्लीनर का नार्को टेस्ट

मैंने पहले भी कश्मीर पर अपने विचार व्यक्त किए हैं। कश्मीर मुद्दे पर मैंने कांग्रेस पर 30% और भाजपा पर 70% हमला किया है। वाइको के मुताबिक, एमडीएमके अगले महीने पूर्व मुख्यमंत्री और डीएमके संस्थापक सीएन अन्नादुरई की 110वीं जयंती मनाएगी।

मनमोहन सिंह का विवादित बयान

इसके साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आर्टिकल 370 खत्म करने से पहले सरकार को जम्मू-कश्मीर के लोगों की राय जाननी चाहिए थी। वे बोले देश गहरे संकट में चला गया है। केंद्र सरकार को जम्मू-कश्मीर के लोगों की बात सुननी चाहिए।

यह भी देखें… मोदी का वज्रासन: पत्थर पर ऐसे बैठने के पीछे छिपा है ये बड़ा राज

आगे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि सरकार का यह फैसला देश के कई लोगों को पसंद नहीं आ रहा। यह जरूरी है कि इन सभी लोगों की बात सुनी जाए। ऐसे लोग देश के लिए सोचते हैं, इसलिए अपनी आवाज उठा रहे हैं।