मोदी का वज्रासन: पत्थर पर ऐसे बैठने के पीछे छिपा है ये बड़ा राज

डिस्कवरी चैनल के शो ‘मैन वर्सेस वाइल्ड’ में पीएम मोदी ने बेयर ग्रिल्स के साथ उत्तराखंड के जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान के जंगलों में ठंड और बारिश की मार झेली। सोमवार रात 9 बजे डिस्कवरी चैनल के शो मैन वर्सेस वाइल्ड में पीएम मोदी बेयर ग्रिल्स के साथ दिलचस्प अंदाज में ही नजर आए।

मोदी का वज्रासन: पत्थर पर ऐसे बैठने के पीछे छिपा है ये बड़ा राज

मोदी का वज्रासन: पत्थर पर ऐसे बैठने के पीछे छिपा है ये बड़ा राज

नई दिल्ली : डिस्कवरी चैनल के शो ‘मैन वर्सेस वाइल्ड’ में पीएम मोदी ने बेयर ग्रिल्स के साथ उत्तराखंड के जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान के जंगलों में ठंड और बारिश की मार झेली। सोमवार रात 9 बजे डिस्कवरी चैनल के शो मैन वर्सेस वाइल्ड में पीएम मोदी बेयर ग्रिल्स के साथ दिलचस्प अंदाज में ही नजर आए। टीवी के डिस्कवरी चैनल पर दिखाया जाने वाला यह एडवेंचर शो भारत के साथ 180 देशों में भी दिखाया गया।

बियर ग्रिल्स का कहना है कि पीएम मोदी बहुत ऊर्जावान और उत्साही हैं। इस दौरान ग्रिल्स ने मजाक किया, ”आप भारत के सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं और मेरा काम आपको जीवित रखना है।”

यह भी देखें… कश्मीर को अमेरिका ने बताया द्विपक्षीय मसला, मध्यस्थता से अब ट्रंप का इंकार

पीएम मोदी और बेयर ग्रिल्स के इस दिलचस्प सफर पर 69 साल के पीएम नरेंद्र मोदी नदी किनारे वज्रासन में बैठे दिखाई दिए। पीएम मोदी की इन रोचक तस्वीरों की सोशल मीडिया पर काफी तारीफ हो रही है। इससे पहले भी पीएम मोदी की वज्रासन पर बैठे हुए कई तस्वीरें सामने आ चुकी है। इसी साथ जानते है कि आखिर वज्रासन करने के क्या फायदे होते हैं और इसे किस प्रकार किया जाता है?

आपकों बता दें, वज्रासन को अंग्रेजी में  थांडरबोल्ट पोस्चर कहा जाता है। वज्रासन के करने समय हमेशा ध्‍यान मुद्रा में ही रहना चाहिए। वज्रासन करते समय अपनी आंखों को बंद रखना चाहिए। इस आसन को करने से व्यक्ति का शरीर में मजबूती और स्थिरता आती है। वज्रासन की एक खासियत यह है कि आप इसे दिन में किसी भी समय कर सकते हैं। जरूरी बात यह है कि इस आसन को खाना खाने के बाद करने से पाचन शक्ति अच्छी हो जाती है।

यह भी देखें… पीएम मोदी की कहानी: चाय-कोयले से अब तक ऐसा रहा का सफर

इस प्रकार करें वज्रासन :

सबसे पहले घुटनों को मोड़कर पंजों के बल सीधा बैठ जाएं।

आपने शरीर का सारा भार पैरों पर रखें और दोनों हाथों को जांघों पर रखें।

कमर से ऊपर का हिस्सा बिल्कुल सीधा होना चाहिए। थोड़ी देर इस अवस्था में बैठकर लंबी सांस चाहिए।

इस बात का ध्यान रखें कि आपके दोनों पैरों के अंगूठे आपस में मिले हुए हो और एड़ियों में थोड़ी दूरी बनी होनी चाहिए।

 

यह भी देखें… बम्पर वैकेंसी: 8 सितम्बर से पहले ऑफिसर पदों के लिए तुरंत करें आवेदन

ये हैं वज्रासन के फायदे

वज्रासन को करने से कमर और पैरों की मांसपेशियों का तनाव दूर होता है और ज्वाइंट्स खुलते हैं। ज्यादा चलने या देर तक खड़े होने के बाद इस आसन को करने से आराम मिलता है।

गहरी श्वास लेने और छोड़ने की क्रिया श्वास से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में मददगार है। इस आसन के नियमित अभ्यास से श्वास संबंधी समस्याओं में भी सुधार होता है।

वज्रासन करने से जिन महिलाओं को मासिक धर्म से समय दिक्कत होती है उससे भी छुटकारा पा सकती हैं।

वज्रासन करने से जब पाचन क्रिया सही रहती है तो इसको नियमित रूप से करने पर आपके वजन घटने में भी मदद मिलती है। यह आसन शरीर के मेटाबॉलिज्म को ठीक रखता और और मांसपेशियों को लचीला बनाता है। इसलिए अगर आप अच्छा फिगर चाहते हैं तो इस आसन का जरूर करें। यह आसन ज्वाइंट पेन और गठिया जैसे रोगों से दूर रखने में मददगार है। इसके अलावा मांसपेशियों से जुड़ी समस्याओं में भी यह आसन मददगार है।

यह भी देखें… पाकिस्तान में तबाही: 161 की दर्दनाक मौत, जारी है बाढ़ और बारिश का प्रकोप

इन लोगों को नहीं करना चाहिेए वज्रासन

जोड़ो के दर्द से पीड़ित व्यक्ति को।

एड़ी के रोग से पीड़ित व्यक्ति को।

अगर वज्रासन करने पर आपको कमर दर्द, कमजोरी या चक्कर आने जैसे कोई समस्या हो तो आसन बंद कर अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

यह भी देखें… कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाराणसी पहुंचीं सोनभद्र