×

छात्राओं की बल्ले-बल्ले: स्कूल जाने पर हर रोज मिलेंगे 100 रुपये, सरकार का ऐलान

कक्षाओं में हर छात्रा को उपस्थित होने पर हर रोज 100 रुपये मिलेंगे। ऐसे में ये जानकारी असम के शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने दी है। इस बारे में उन्होंने कहा कि बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा ये पहल की जा रही है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 5 Jan 2021 5:18 AM GMT

छात्राओं की बल्ले-बल्ले: स्कूल जाने पर हर रोज मिलेंगे 100 रुपये, सरकार का ऐलान
X
असम सरकार 12वीं बोर्ड की परीक्षा प्रथम श्रेणी में पास होने वाली छात्राओं को प्रज्ञान भारती योजना के तहत 22,000 दोपहिया वाहन वितरित कर रही है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: असम में स्कूल में पढ़ाई करने वाली छात्राओं के लिए बड़ा ऐलान हुआ है। अब कक्षाओं में हर छात्रा को उपस्थित होने पर हर रोज 100 रुपये मिलेंगे। ऐसे में ये जानकारी असम के शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने दी है। इस बारे में उन्होंने कहा कि बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा ये पहल की जा रही है। आगे शिक्षा मंत्री ने बताया कि वर्तमान महीने के अंत तक 100 रुपये प्रतिदिन की योजना शुरू की जाएगी।

ये भी पढ़ें...मेरठ के टॉप 10 छात्र-छात्राओं ने जताई ये इच्छा, DM ने किया सम्मानित

योजना के तहत 22,000 दोपहिया वाहन

असम सरकार 12वीं बोर्ड की परीक्षा प्रथम श्रेणी में पास होने वाली छात्राओं को प्रज्ञान भारती योजना के तहत 22,000 दोपहिया वाहन वितरित कर रही है। सरकार की इस योजना पर 144.30 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

ऐसे में शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने कहा कि सरकार उन सभी छात्राओं को स्कूटर मुहैया कराएगी, जो राज्य बोर्ड से प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुई हैं। भले ही यह संख्या एक लाख के पार हो जाए। 2018 और 2019 में प्रथम श्रेणी में कक्षा 12 की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाली सभी छात्राओं को भी स्कूटर प्रदान किए जाएंगे।

SCHOOL फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें...मोदी सरकार का ऐलान: रखेगी पैनी नजर, 80 करोड़ को बँटवायेगी राशन

बीते साल शुरू होनी थी योजना

राज्य शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने जानकारी देते हुए आगे बताया ​कि स्नातक और स्नातकोत्तर छात्राओं के बैंक खातों में जनवरी के अंत तक 1,500 रुपये और 2,000 रुपये की राशि जमा की जाएगी।

आगे उन्होंने कहा कि यह राशि उनके किताब और अन्य अध्ययन सामग्री आदि की खरीदारी में मददगार होगी। दोनों वित्तीय प्रोत्साहन योजना बीते साल ही शुरू होनी थी, पर महामारी कोरोना की वजह से शुरू नहीं हो सकी।

ये भी पढ़ें...रेट मीट पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, ‘हलाल’ शब्द को हटाया

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story