Top

PM मोदी ने लाॅन्च किया आत्मनिर्भर रोजगार अभियान, कहा- CM योगी से सीखें राज्य

उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर यूपी का शुरुआत कर दी है। इसके जरिए 1.25 करोड़ मजदूरों को रोजगार मिलेगा। पीएम मोदी ने रिमोट के जरिए आत्मनिर्भर यूपी का आगाज किया।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 26 Jun 2020 5:44 AM GMT

PM मोदी ने लाॅन्च किया आत्मनिर्भर रोजगार अभियान, कहा- CM योगी से सीखें राज्य
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर यूपी का शुरुआत कर दी है। इसके जरिए 1.25 करोड़ मजदूरों को रोजगार मिलेगा। पीएम मोदी ने रिमोट के जरिए आत्मनिर्भर यूपी का आगाज किया। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।

इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना संकट में देश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को मंत्र दिया। उन्होंने कहा कि अब कामगार और श्रमिकों के लिए जिन योजनाओं को आगे बढ़ाने का मार्गदर्शन दिया था, अब रोजगार को बढ़ावा दिया जा रहा है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने प्रदेश में जितने भी प्रवासी श्रमिक आए हैं, 18 साल से कम बच्चों को छोड़कर लगभग 30 लाख मजदूरों की स्किल मैपिंग की गई है। इससे इन मजदूरों को काम देने में आसानी होगी।



यह भी पढ़ें...जन्मदिन पर विशेषः भाजपा की युवा पीढ़ी के दमदार नेता धर्मेंद्र प्रधान

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कुछ श्रमिकों और स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से बातचीत भी की। प्रधानमंत्री मोदी ने महिलाओं से उनके काम की जानकारी हासिल की। किस तरह से महिलाएं खुद को आत्मनिर्भर बनाने का काम कर रही हैं।

पीएम मोदी ने अहमदाबाद से गोरखपुर वापस आए नागेंद्र से बात की। अहमदाबाद के राजीव नगर में रहते थे। वहां स्टील बर्तन का काम करते थे। नागेंद्र ने बताया कि वापस आकर एक लाख रुपये से भैंस खरीदी। डेरी का काम कर रहे हैं। 7 किलो दूध बेचते हैं, 365 रुपये हर दिन मिलते हैं। वहां 7-8 हजार रुपये कमाते थे।



पीएम मोदी ने कहा कि आपको कोरोना से फायदा हुआ। आपने विपत्ति को अवसर में पलट दिया। आपने भैंस रखी है, क्या खिलाना होता है उसका ध्यान नहीं होता है। भारत सरकार ने टीकाकरण योजना चलाई है। आप अपनी भैंस का टीकाकरण करा दीजिए। पशु को बीमार नहीं होने देना चाहिए। उसके आहार की चिंता करनी चाहिए। मल-मूत्र से फर्टिलाइजर बनाकर बेच सकते हैं। नागेंद्र ने कहा- हां जरूर करेंगे।



यह भी पढ़ें...चीन-पाकिस्तान हुए एक: भारत के हर बॉर्डर पर चीनी सैनिक, तेजी से कर रहा घेराबंदी

प्रधानमंत्री ने सिद्धार्थनगर के कुर्बान अली से बात की और उनका हाल जाना। पीएम मोदी ने कहा कि कुर्बान अली जी इस बार मुंबई छोड़कर घर आ गए। रमजान का महीना घर पर मनाया होगा। कुर्बान अली ने कहा कि 12 मई को मैं अपने गांव वापस आ गया। पीएम मोदी ने पूछा गांव में क्या करते हैं? कुर्बान अली ने कहा कि मैं और मेरा छोटा भाई गांव में प्राइवेट में काम करते हैं। राज्य सरकार की ओर से काम मिलेगा। गांव में घर-घर शौचालय बनाए जाएंगे। पीएम मोदी- मेरी बहुत शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि हम सभी ने अपने व्यक्तिगत जीवन में अनेक उतार-चढ़ाव देखे हैं। हमारे सामाजिक जीवन में भी, गांव में, शहर में, अलग-अलग तरह की कठिनाइयां आती ही रहती हैं।



पीएम मोदी ने कोरोना को लेकर कहा कि इसकी एक दवाई हमें पता है। ये दवाई है दो गज की दूरी। ये दवाई है- मुंह ढकना, फेसकवर या गमछे का इस्तेमाल करना। जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं बनती, हम इसी दवा से इसे रोक पाएंगे।

यह भी पढ़ें...कांग्रेस ने ऐसे लूटा पीएम रिलीफ फंड का पैसा, जेपी नड्डा ने लगाया बड़ा आरोप

पीएम मोदी ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि योगी जी के नेतृत्व में, जिस तरह आपदा को अवसर में बदला गया है, जिस तरह वो जी-जान से जुटे हैं, देश के अन्य राज्यों को भी इस योजना से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा, वो भी इससे प्रेरणा पाएंगे। आज जब दुनिया में कोरोना का इतना बड़ा संकट है, तब उत्तर प्रदेश ने जो साहस दिखाया, जो सूझबूझ दिखाई, जो सफलता पाई, जिस तरह कोरोना से मोर्चा लिया, जिस तरह स्थितियों को संभाला, वो अभूतपूर्व है, प्रशंसनीय है।

चाहे यूपी के डॉक्टर हों, पैरामेडिकल स्टाफ हो, सफाई कर्मचारी हों, पुलिसकर्मी हों, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हो, बैंक और पोस्टऑफिस के साथी हों, परिवहन विभाग के साथी हों, श्रमिक साथी हों, हर किसी ने पूरी निष्ठा के साथ अपना योगदान दिया है। उत्तर प्रदेश के प्रयास और उपलब्धियां इसलिए विराट हैं, क्योंकि ये सिर्फ एक राज्य भर नहीं है, बल्कि उत्तर प्रदेश दुनिया के कई देशों से बड़ा राज्य है। इस उपलब्धि को यूपी के लोग खुद महसूस कर रहे हैं, लेकिन आप अगर आंकड़े जानेंगे तो और भी हैरान हो जायेंगे।



उत्तर प्रदेश के प्रयास और उपलब्धियां इसलिए विराट हैं, क्योंकि ये सिर्फ एक राज्य भर नहीं है, बल्कि उत्तर प्रदेश दुनिया के कई देशों से बड़ा राज्य है। इस उपलब्धि को यूपी के लोग खुद महसूस कर रहे हैं, लेकिन आप अगर आंकड़े जानेंगे तो और भी हैरान हो जायेंगे।

यह भी पढ़ें...भारत के साथ खड़ा हुआ US तो बौखलाया चीन, अब दी ये चेतावनी

पीएम मोदी ने कहा कि जो मेहनत यूपी की सरकार ने की है, हम कह सकते हैं कि एक प्रकार से अब तक कम से कम 85 हजार लोगों का जीवन बचाने में वो कामयाब हुई है! आज अगर हम अपने नागरिकों का जीवन बचा पा रहे हैं, तो ये भी बहुत संतोष की बात है। ये सब उस स्थिति में हुआ जब देशभर से करीब 30 लाख से अधिक श्रमिक साथी, कामगार साथी, यूपी में पिछले कुछ हफ्तों में अपने गांव लौटे थे। सैकड़ों श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को चलवाकर यूपी सरकार ने मुश्किल में फंसे अपने लोगों को वापस बुला लिया था।



यह भी पढ़ें...चीन विरोधी माहौल से ड्रैगन घबराया, व्यापार को सामान्य बनाने की लगाने लगा गुहार

उन्होंने कहा कि यूपी में 2017 से पहले जिस तरह का शासन चल रहा था, जिस तरह की सरकार चला करती थी, उस हालात में, हम इन नतीजों की कल्पना भी नहीं कर सकते। पहले वाली सरकारें होतीं, तो अस्पतालों की संख्या का बहाना बनाकर, बिस्तरों की संख्या का बहाना बनाकर, इस चुनौती को टाल देती। योगी जी ने, उनकी सरकार ने, हालात की गंभीरता को समझा। उन्होंने समझा कि इतने बड़े-बड़े देशों की क्या हालत हो रही है। ये देखते हुए उन्होंने और उनकी सरकार ने युद्धस्तर पर काम किया। क्वारंटीन सेंटर हो, आइसोलेशन की सुविधा हो, इसके निर्माण के लिए पूरी ताकत झोंक दी गई।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story