बड़ी कार्रवाई! तब्लीगी मरकज पर एफआईआर, बिल्डिंग भी होगी सीज

अब तक 1300 लोगों को मरकज भवन से निकाला जा चुका है। 334 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, 700 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया है। जबकि दो दर्जन से अधिक लोग पॉजिटिव निकले हैं।

बड़ी खबर निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी मरकज के खिलाफ जल्द ही एफआईआर दर्ज होने जा रही है। इसके अलावा अनधिकृत रूप से बनाये गये मरकज के भवन को सील करने की कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है। एसडीएमसी स्टैंडिंग कमेटी के डिप्टी चेयरमैन राजपाल सिंह ने सेंट्रल जोन के डीसी को पत्र लिखकर बिल्डिंग को सील करने को कहा है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें

निजामुद्दीन के मरकज में कोरोना संदिग्धों का ऐसे हुआ खुलासा, मौलाना पर केस दर्ज

एलजी से कहा दर्ज कराएं एफआईआर

इस बीच सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास पर आपात बैठक के बाद। सीएम केजरीवाल ने मरकज़ में इस लापरवाही के लिए जिम्मेदार लोगों पर एफआईआर दर्ज कराने के लिए उपराज्यपाल को पत्र लिखा है। जल्द ही हजरत निजामुद्दीन थाने में एफआईआर दर्ज हो सकती है. अलबत्ता मरकज का दावा है कि वो इस पूरे मामले में पल-पल की जानकारी दिल्ली पुलिस और सरकार को दे रहा था।

इसे भी पढ़ें

इकट्ठा हो रहे 25 लाख मुस्लिम, ऐसा क्या होने जा रहा…

अब तक 1300 लोगों को मरकज भवन से निकाला जा चुका है। 334 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, 700 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया है। जबकि दो दर्जन से अधिक लोग पॉजिटिव निकले हैं। अंडमान में कुल 10 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, इसमें से 9 लोग निज़ामुद्दीन की मरकज़ से गए थे। 10 वीं मरीज़ इन्हीं में एक मरीज़ की पत्नी है, वह भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई है।

इसे भी पढ़ें

निजामुद्दीन पर बड़ी खबर, युद्धस्तर पर निकाले जा रहे हैं मरकज मुख्यालय से लोग

एक बड़ा खुलासा यह भी है कि इस कार्यक्रम में देश के विभिन्न राज्यों से दो हजार लोगों के अलावा 16 देशों से लोग शामिल हुए थे. इनमें नेपाल, मलेशिया, अफगानिस्तान, म्यांमार, अल्जीरिया, जिबूती, किर्गिस्तान, इंडोनेशिया, थाईलैंड, श्रीलंका, बांग्लादेश, इंग्लैंड, सिंगापुर, फिजी, फ्रांस और कुवैत के नागरिक आए थे।

इसे भी पढ़ें

हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर की सचिव पद्मिनी सिंगला ने निजामुद्दीन एरिया का किया मुआयना