इकट्ठा हो रहे 25 लाख मुस्लिम, ऐसा क्या होने जा रहा…

दरअसल, भोपाल में हर साल तीन दिन के तब्लीगी इज्तिमा का आयोजन किया जा रहा है। इस इज्तिमा में देशभर के अलावा विदेशों से आने वाले मुस्लिम भी शिरकत करते हैं।

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में तीन दिन के लिए देशभर से 25 लाख से अधिक मुस्लिम इकट्ठा हो रहे हैं। तो अब आप जानना चाह रहे होंगे कि आखिर क्यों? तो आइये आपको बताते हैं…

बता दें कि भोपाल में ये जलसा 23 नवंबर से 25 नवंबर तक चलेगा। लाखों की संख्या में जुटने वाली भीड़ को देखते हुए इस कार्यक्रम के लिए प्रशासन ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी है। इसके लिए रेलवे से ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाने की अपील की गई है। यही नहीं इस संबंध में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बुधवार को अधिकारियों के साथ बैठक कर इंतजामों पर चर्चा किया।

ये भी पढ़ें—देश की सबसे खूबसूरत साध्वी, वाकई में क्या गजब की सुंदरता है इनके पास

3 दिन चलेगा देश का सबसे बड़ा इज्तिमा

दरअसल, भोपाल में हर साल तीन दिन के तब्लीगी इज्तिमा का आयोजन किया जा रहा है। इस इज्तिमा में देशभर के अलावा विदेशों से आने वाले मुस्लिम भी शिरकत करते हैं।

ये भी पढ़ें—आखिर कहां जाते हैं राहुल गांधी, जिसपर बीजेपी ने उठाया सवाल

क्या होता है इज्तिमा का मतलब?

बता दें कि इज्तिमा का मतलब एक धार्मिक सम्मेलन हैं। जहां धर्म की जानकारी देने के साथ ही कुछ सामाजिक फैसले भी लिए जाते हैं। जैसे शादी में दहेज प्रथा को बंद किया जाए। शिक्षा पर क्या-क्या काम होने चाहिए।
गौरतलब है कि कई दशकों से यहां इज्तिमा का आयोजन किया जाता रहा है। बीते साल (2018) इज्तिमा चार दिन तक चला था।

ये भी पढ़ें—मोदी सरकार का बड़ा फैसला, नहीं बढ़ेंगे प्याज और दाल की कीमत

सीएम ने इज्तिमा को लेकर बुलाई बैठक

मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने अधिकारियों से कहा है कि तब्लीगी इज्तिमा के मौके पर बेहतर इंतजाम हों। कोशिश करें कि इसमें आने वाले लोग शासन के व्यवस्था से न सिर्फ संतुष्ट रहें बल्कि तारीफ भी करें। सीएम तब्लीगी इज्तिमा की तैयारियों के सिलसिले में बुधवार को मंत्रालय में समीक्षा बैठक कर रहे थे।

ये भी पढ़ें—चीन पर भारत का बड़ा बयान, कहा- जम्मू कश्मीर को UT दर्जा देना अंदरूनी मामला

उन्होंने कहा कि इज्तिमा में पूरे देश और विदेशों से भी लोग शामिल होने आएंगे। इस दौरान साफ-सफाई की बेहतर से बेहतर व्यवस्थाएं हों। उन्होंने सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करवाने के साथ ही इसकी मॉनिटरिंग व्यवस्था को भी चुस्त-दुरूस्त रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश यह हो कि इस वर्ष का इज्तिमा व्यवस्थाओं और साफ-सफाई के मामले में मिसाल बने।

ये भी पढ़ें—हिल रही है इमरान खान की कुर्सी, जानिए क्यों ये मौलाना करना चाहता है तख्तापलट

यात्रा के लिए अतिरक्त कोच लगाने की कही बात

अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आरिफ अकील ने इज्तिमा में शामिल होने वाले लोगों के लिए रेलवे द्वारा बेहतर व्यवस्था रखने और अतिरिक्त बोगियांं लगाने को कहा है। इस मौके पर बैठक में शामिल भोपाल डिवीजन रेलवे मंडल के प्रमुख उदय बोरवनकर ने डीआरएम भोपाल द्वारा प्रस्तावित रेल सुविधाओं की जानकारी दी।