युद्ध के लिए तैयार भारत, गलवान में सेना ने तैनात किए T-90 टैंक, चीन की अब खैर नहीं

सीमा पर जारी विवाद के बीच भारत ने हिंसक झड़प वाली जगह यानी गलवान घाटी में 6 टी-90 टैंक्स तैनात कर दिए हैं।

नई दिल्ली: लद्दाख में लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर भारत-चीन के बीच बीते कुछ महीनों से तनातनी जारी है। इसके बाद गलवान घाटी में 15 जून की रात भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों की शहादत के बाद ये तनाव और बढ़ गया है। दोनों देश की सेनाएं आमने सामने हैं। वहीं युद्ध की स्थिति को देखते हुए सीमा पर सैनिकों की तैनाती बढ़ाई जा रही है।

गलवान घाटी में भारत ने तैनात किया 6 टी-90 टैंक्स

वहीं भारत चीन से किसी भी तरह से पीछे नहीं रहना चाहता और किसी भी परिस्थिति में उसको मुंहतोड़ जवाब देने अपने ताकतें लगातार बढ़ा रहा है। इसी क्रम में अब भारत ने हिंसक झड़प वाली जगह यानी गलवान घाटी में 6 टी-90 टैंक्स तैनात कर दिए हैं। बता दें कि दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति को सामान्य करने के लिए आज एक बार फिर से कोर कमांडर स्तर की बैठक हो रही है। जो भारतीय पक्ष में चुशुल में चल रही है।

यह भी पढ़ें: IRCTC ने खत्म की सैकड़ों कर्मचारियों की नौकरी, कहा- अब इनकी जरूरत नहीं

चीन को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारत कर रहा हथियारों की तैनाती

बता दें कि चीन लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर लगातार अपनी गतिविधि तेज कर रहा है। वहीं भारतीय सेना भी हर स्थिति के लिए तैयार रहना चाहती है, इसलिए सेना की तरफ से अपने हिस्से के भीतर सभी प्रमुख ऊंचाइयों पर हथियारों को तैनात कर रही है। जिससे किसी भी स्थिति से आसानी से निपटा जा सके। इसी क्रम में भारतीय सेना ने गलवान घाटी में टी-90 भीष्म टैंकों को भी तैनात कर दिया है।

यह भी पढ़ें: चीन में मिला एक और वायरस, कोरोना से भी है खतरनाक, वैज्ञानिकों के उड़े होश

155 एमएम हॉवित्जर के साथ इन्फैंट्री लड़ाकू वाहनों को तैनाती

भारतीय सेना ने सीमा पर चीन को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए 155 एमएम हॉवित्जर के साथ इन्फैंट्री लड़ाकू वाहनों को तैनात किया गया है। वहीं चीन की धोखेबाजी वाली चाल को मद्देनजर रखते हुए भारत ने चुशुल सेक्टर में भी दो टैंकों की तैनाती कर दी है। बता दें कि चीन हमेशा से ये दावा करता आया है कि विवादित जमीन उसकी है। जबकि भारत ने भी अपना रुख स्पष्ट करते हुए कह दिया है कि वह एक इंच जमीन भी किसी को लेने नहीं देगा।

यह भी पढ़ें: बैन चीनी ऐप्स को गूगल प्ले स्टोर से तुरंत हटाने के निर्देश, 48 घंटे में देना होगा जवाब

भारतीय सेना को मिली पूरी छूट

सैन्य कमांडरों के मुताबिक, भारत सीमा विवाद को लेकर लंबी खींचतान के लिए इस बार पूरी तरह से तैयार है। भारत सरकार की ओर से बी भारतीय सेना को पूरी छूट दे गई है। भारत सरकार ने सेना से कहा है कि दूसरे पक्ष के उकसाने पर जरूरी एक्शन लिया जाए। ऐसे में अब अगर चीन कोई भी कदम उठाता है तो भारतीय सेना उस पर जवाबी कार्रवाई कर सकता है।

यह भी पढ़ें: TIK TOK बैन होते ही सोशल मीडिया पर मीम्स की बहार, सेलेब्स ने दिए ऐसे रिएक्शन

27 जुलाई तक भारत आ सकते हैं राफेल विमान

आपको बता दें कि 27 जुलाई को फ्रांस से छह राफेल लड़ाकू विमान भी भारत आ सकते हैं। पहले राफेल मई में भारत पहुंचने वाले थे, लेकिन कोरोना के चलते भारत को यह समय पर नहीं मिल सके। चीन के साथ सीमा पर जारी तनाव के बीच राफेल विमान भारत पहुंचने से वायु सेना की ताकत में जबरदस्त इजाफा होगा।

यह भी पढ़ें: CM योगी का बजा डंका: ये मुहिम लाई रंग, UP में कैंपस खोलेगी माइक्रोसॉफ्ट

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।