बैन चीनी ऐप्स को गूगल प्ले स्टोर से तुरंत हटाने के निर्देश, 48 घंटे में देना होगा जवाब

सरकार की तरफ से अब इन कंपनियों को 48 घंटे का वक्त दिया गया है, जिसमें कंपनी अपनी तरफ से सफाई पेश कर सकती है। वहीं, सरकार द्वारा गठित एक कमेटी सभी कमेटियों की बात सुनेगी।

Published by Shreya Published: June 30, 2020 | 12:31 pm
Modified: June 30, 2020 | 1:39 pm

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद मोदी सरकार ने चीन के खिलाफ कई सख्त फैसले लिए हैं। अब इसी क्रम में भारत सरकार ने चीन को एक और तगड़ा झटका दिया है। दरअसल, सोमवार को सरकार ने 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगा दिया है। सरकार ने मशहूर Tik Tok ऐप, यूसी ब्राउजर, कैम स्कैनर जैसे कई और भी ऐप्स को बैन कर दिया है।

यह भी पढ़ें: IRCTC ने खत्म की सैकड़ों कर्मचारियों की नौकरी, कहा- अब इनकी जरूरत नहीं

कंपनियों को सफाई पेश करने के लिए दिया गया 48 घंटे का समय

वहीं सरकार की तरफ से अब इन कंपनियों को 48 घंटे का वक्त दिया गया है, जिसमें कंपनी अपनी तरफ से सफाई पेश कर सकती है। वहीं, सरकार द्वारा गठित एक कमेटी सभी कमेटियों की बात सुनेगी। सरकार ने इसके लिए एक कमेटी गठित की है, जिसमें आईटी, गृह मंत्रालय, सूचना मंत्रालय और कानून मंत्रालय के अधिकारियों को शामिल किया गया है। इसमें कंपनियों से डाटा चोरी को लेकर सवाल-जवाब किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेता की गिरफ्तारी पर भड़कीं प्रियंका, योगी सरकार को दे डाली ये चेतावनी

गूगल प्ले स्टोर को ऐप्स को हटाने के दिए गए निर्देश

बता दें कि सरकान ने बैन किए 59 चाइनीज ऐप्स को गूगल प्ले स्टोर को अपने यहां से हटाने के लिए निर्देश दिए हैं। यानी अब ये ऐप्स गूगल प्ले स्टोर से हटा दिए जाएंगे और अब कोई नया यूजर इन ऐप्स को डाउनलोड नहीं कर पाएगा। इसके अलावा सरकार की तरफ से इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स से भी इन ऐप को ब्लॉक करने को कहा गया है।

कुछ और ऐप्स को बैन कर सकती है सरकार

सूत्रों के मुताबिक, सरकार कुछ और ऐप्स को भी बैन कर सकती है। ये अभी आखिरी लिस्ट नहीं है, इसमें नए ऐप्स के नाम भी जोड़े जा सकते हैं। मतलब, जो ऐप सेफ्टी के लिहाज से खतरा होंगे, उन्हें भी सरकार बैन कर सकती है।

यह भी पढ़ें: मार्शा पी जॉनसन को गूगल ऐसे कर रहा याद, जानिए इनके बारे में

TikTok India ने जारी किया बयान

वहीं इंडिया में बैन होने के बाद मंगलवार को TikTok India का बयान सामने आया है। जिसमें कंपनी ने दावा किया है कि किसी भी इंडियन टिकटॉक यूजर्स (Indian TikTok Users) की किसी तरह की जानकारी विदेशी सरकार या फिर चीनी सरकार को नहीं दी गई है। TikTok India  ने कहा कि, हमें स्पष्टीकरण और जवाब देने के लिए संबंधित सरकारी हितधारकों से मिलने के लिए आमंत्रित किया गया है।

यह भी पढ़ें: भारत में बैन के बाद Tik Tok का बयान, कहा- कभी नहीं किया ऐसा काम

भारत सरकार ने इसलिए बैन किए यह ऐप्स

सरकार के मुताबिक इन 59 ऐप्स को बैन करने का फैसला इसलिए लिया गया है, क्योंकि उपलब्ध जानकारी के मद्देनजर वे उन गतिविधियों में लगे हुए हैं जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए पूर्वाग्रहपूर्ण हैं।

यह भी पढ़ें: भारत में Tik Tok बैन: डेविड वार्नर को लगा झटका, अश्विन ने इस अंदाज में लिए मजे

इन ऐप्स को किया गया बैन

सरकार की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि सरकार उन 59 मोबाइल ऐप पर बैन कर दिया जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए पूर्वाग्रहपूर्ण थे। भारत ने जिन ऐप्स को बैन किया है, उसमें टिकटॉक, वीचैट, Shareit, UC Browser, Shein, Likee, YouCam makeup, Helo जैसे कई ऐप्स शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: सुशांत के पिता से मिले शेखर सुमन, बताई ये सच्चाई, जानकर रो देंगे आप

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।