Top

हिंसा में बड़ा खुलासा: पुलिस ने खोला राज, BJP नेता की सच्चाई सबके सामने

दिल्ली पुलिस के अनुसार, ये अफवाह जानबूझकर उपद्रवियों ने फैलाई थी, जिससे भीड़ को सड़कों पर निकाला जा सके। बात ये है कि चांदबाग इलाके में दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल की हत्या उपद्रवियों ने कर दी थी।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 24 Jun 2020 9:42 AM GMT

हिंसा में बड़ा खुलासा: पुलिस ने खोला राज, BJP नेता की सच्चाई सबके सामने
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हुई हिंसा में अब नया मोड़ सामने आया है। स्थानीय पुलिस के अनुसार, उपद्रवियों के बीच जानबूझकर ये अफवाह फैलाई गई थी कि कपिल मिश्रा के लोगों ने एंटी सीएए प्रोटेस्ट के पंडाल में आग लगा दी है, जिसके बाद भीड़ हिंसक हो गई थी। दिल्ली हिंसा को लेकर हुए खुलासे ने सभी को हैरान करके रख दिया है।

ये भी पढ़ें... चीन की पतलून गीली कर दी थी, अब मिल रहा इन वीरों को ये सम्मान

दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया

सीएए दिल्ली हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस की चार्जशीट में नया खुलासा हुआ है। इस हिंसा में मारे गए हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया है कि चांदबाग इलाके में उपद्रवियों के बीच ये अफवाह जानबूझकर फैलाई गई थी कि भाजपा नेता कपिल मिश्रा के लोगों ने एंटी सीएए प्रोटेस्ट के पंडाल में आग लगा दी है, जिसके बाद भीड़ हिंसक आक्रामक हो गई थी।

दिल्ली पुलिस के अनुसार, ये अफवाह जानबूझकर उपद्रवियों ने फैलाई थी, जिससे भीड़ को सड़कों पर निकाला जा सके। बात ये है कि चांदबाग इलाके में दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल की हत्या उपद्रवियों ने कर दी थी। डीसीपी अमित शर्मा पर जानलेवा हमला हुआ था।

ये भी पढ़ें... धरती खिसकी: भूकंप से गिरी इमारते हुआ भारी नुकसान, देखें मौत का मंजर

हिंसा के इस मामले में दिल्ली पुलिस ने काफी लोगों के बयान लिए थे, जिनका चार्जशीट में जिक्र है। लेकिन इस पर गवाहों ने बताया कि चांदबाग में उस दौरान कुछ लोगों ने शोर मचाया कि कपिल मिश्रा के लोगों ने पंडाल में आग लगा दी है लेकिन हमने ऐसा कुछ होते देखा नहीं था।

चार्जशीट में योगेंद्र यादव का नाम

इसके साथ ही आपको बता दें कि हेड कॉन्स्टेबल की हत्या की चार्जशीट में योगेंद्र यादव के नाम का भी आया है। इसमें बताया गया कि चांदबाग के एंटी सीएए प्रोटेस्ट में हिंसा के पहले योगेंद्र यादव ने भाषण दिया था। हालांकि चार्जशीट में योगेंद्र यादव न तो आरोपी हैं और न ही कॉलम 11 (संदिग्ध आरोपी या अन्य) में उनका नाम है। फिलहाल पुलिस अपनी जांच कर रही है।

ये भी पढ़ें...एनकाउंटर स्पेशलिस्ट ने खुद को मारी गोली, सामने आई ये बड़ी वजह

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Desk Editor

Next Story