कोरोना हारेगा: एप, बताएगा किस अस्पताल में कितने बेड, सोमवार को होगा लॉन्च

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि जितनी जरूरत है उससे ज्यादा इंतजाम दिल्ली सरकार कर रही है। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली का मुख्यमंत्री होने के नाते दो बातें मेरे लिए चिंताजनक होंगी।

नई दिल्ली: लॉक डाउन के चौथे चरण की समाप्ति के पहले के पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज कोरोना के बढ़ते केस और उसके लिए सरकार द्वारा की गई तैयारियों के बारे में बताया। केजरीवाल ने एक बार फिर दुहराया और कहा कि लॉकडाउन हमेशा के लिए नहीं हो सकता। कोई नहीं कह सकता कि कोरोना की ये बीमारी कब खत्म होगी। इसलिए हालात सामान्य करना जरूरी है।

हम कोरोना से चार कदम आगे हैं- केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना से चिंता जरूर होगी लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है। कोरोना के केस जरूर बढ़ रहे हैं लेकिन हम कोरोना से चार कदम आगे हैं। उन्होंने कहा कि इस समय दिल्ली में अधिकतर मरीजों का इलाज घर में चल रहा है। अस्पतालों में सिर्फ 2100 मरीज भर्ती हैं। कल तक दिल्ली में कोरोना के कुल मामले 17386 थे। 7846 लोग ठीक हो चुके हैं, 9142 लोग अभी भी बीमार हैं, 398 लोगों की मौत हो गई है। पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में कोरोना के केस बढ़ रहे हैं, जो मैं स्वीकार करता हूं।

मुख्यमंत्री होने के नाते दो बातें मेरे लिए चिंताजनक होंगी

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि जितनी जरूरत है उससे ज्यादा इंतजाम दिल्ली सरकार कर रही है। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली का मुख्यमंत्री होने के नाते दो बातें मेरे लिए चिंताजनक होंगी। पहला अगर मौतें ज्यादा होने लगे और दूसरा ये कि अगर कोरोना के 10 हजार मरीज जा जाएंऔर मेरे पास 8000 बेड हैं तो लोगों का इधर-उधर भटकना मेरे लिए चिंता का विषय होगा। उन्होंने कहा पिछले एक हफ्ते में हमने बेड का खूब इंतजाम कर लिया है।

ये भी देखें: मंदिर का 7वां दरवाजा: कोई नहीं खोल पाया इसे, रहस्यों से भरा है ये द्वार

5 जून तक दिल्ली में 9500 बेड का इंतजाम हो जाएगा-केजरीवाल

कल तक 17386 मरीज आए थे जिनमें से 2100 मरीज अस्पतालों में हैं। बाकी मरीजों का घर पर इलाज चल रहा है। आज के समय में हमने 6600 बेड का इंतजाम कर लिया है। एक हफ्ते पहले हमारे पास 4500 बेड का इंतजाम था। एक हफ्ते में 2100 बेड का और इंतजाम कर लिया है। 5 जून तक दिल्ली में 9500 बेड का इंतजाम हो जाएगा, इसका आदेश हमने पिछले हफ्ते जारी कर दिया था।

यहां जानें कि किन अस्पतालों में हैं कितने बेड

सीएम केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में 2500 बेड हैं, 5 जून तक 4600 बेड हो जाएंगे। केंद्र सरकार के अस्पतालों में अब तक 2329 बेड थे, जो कम होकर 2229 रह गए हैं। प्राइवेट अस्पतालों में 677 बेड थे, जो आज के समय में 2677 हो गए हैं।

ये भी देखें: साक्षी-अजितेश बवाल: फिर गरमाया ये मुद्दा, युवक के फोन ने मचाया घमासान

15 दिन साढ़े आठ हजार पेशेंट बढ़े

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बताया कि 15 मई को दिल्ली में साढ़े आठ हजार केस थे और आज 17 हजार केस हैं। 14 मई को दिल्ली के अस्पतालों में 1600 मरीज थे और आज 2100 मरीज हैं। साढ़े आठ हजार पेशेंट बढ़े लेकिन अस्पताल में मरीजों की संख्या कम बढ़ी। दिल्ली में जिन लोगों को कोरोना हो रहा है, उनमें या तो बहुत मामूली लक्षण हैं या फिर हैं ही नहीं। अधिकतर लोग अपने घरों में ठीक हो रहे हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है।

ये भी देखें: आज रुकेगा पूरा शहर: शाम साढ़े 5 बजे थम जाएगा सब कुछ, जानें क्या है वजह

एप, बताएगा किस अस्पताल में कितने बेड

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बताया कि हमने एक एप बनाने में सफलता पा ली है जो बताएगा कि किस अस्पताल में कितने बेड हैं और कितने वेंटिलेटर हैं। वो ये भी बताएगा कि कितने बेड खाली हैं और कितने वेंटिलेटर खाली हैं। यह एप सोमवार को लॉन्च किया जाएगा। इसके बाद आपको भटकना नहीं पड़ेगा। अगर स्मार्ट फोन नहीं है तो वेबसाइट और हेल्पलाइन नंबर 1031 से भी सभी जानकारी ले सकते हैं।