वैक्सीनेशन से पहले ये बातें जाननी जरूरी, जानें किसे नहीं लगवानी है वैक्सीन

दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान भारत में शुरू हो गया है। इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने नई गाइडलाइंस जारी कर बताया है कि किन लोगों को वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए।

Published by Shreya Published: January 16, 2021 | 12:44 pm
vaccination

वैक्सीन लगाने के बाद एक और शख्स की मौत, जानें अब तक कितने लोगों की गई जान(फोटो: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान भारत में शुरू हो गया है। लोगों में वैक्सीन के बारे में उत्साह, उम्मीद और जिज्ञासा है। वैक्सीनेशन के पूर्वाभ्यास के लिए तीन बार ड्राई रन हो चुका है, लेकिन फिर भी वैक्सीनेशन को सफल और सुरक्षित बनाने के लिए सरकार लगातार निर्देश जारी कर रही है। अब स्वास्थ्य मंत्रालय ने नई गाइडलाइंस में बताया गया है कि किन लोगों को वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए।

जान लीजिये ये बातें

– स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को बताया है कि 18 साल से कम उम्र के लोगों को वैक्सीन नहीं दी जानी चाहिए।

– गर्भवती, अपनी गर्भावस्था को लेकर अनिश्चित महिलाओं और बच्चों को स्तनपान कराने वाली मांओं से वैक्सीन लगवाने से बचने को कहा गया है। अभी तक ऐसी महिलाओं पर वैक्सीन का ट्रायल नहीं किया गया है।

– ट्रायल में शामिल अगर किसी व्यक्ति को वैक्सीन से एलर्जी हुई थी तो उसे भी खुराक लगवाने से बचने को कहा गया है।

– उन लोगों को भी वैक्सीन न लगवाने को कहा गया है जिन्हें किसी भी वैक्सीन या इंजेक्शन के जरिये दिए जाने वाले इलाज और दवाओं आदि से एलर्जी है।

– अगर किसी में संक्रमण के लक्षण नजर आ रहे हैं तो उन्हें तुरंत वैक्सीन न लगवाने को कहा गया है। ऐसे लोग 4 से 6 सप्ताह बाद वैक्सीन की खुराक लगवा सकेंगे।

– प्लाज्मा थैरेपी या कोरोना का इलाज करवा रहे लोगों से भी ठीक होने के 4 से 6 सप्ताह बाद वैक्सीन लगवाने को कहा गया है।

यह भी पढ़ें: सरकार का अलर्ट: इस मैसेज पर भूलकर भी न करें क्लिक, नहीं तो अकाउंट होगा खाली

corona vaccination
(फोटो- सोशल मीडिया)

हेल्पलाइन नंबर जारी

केंद्र सरकार ने वैक्सीनेशन से संबंधित सारे सवालों के जवाब देने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। लोग 1075 नंबर पर फोन कर इससे जुड़ी सारी जानकारी ले सकते हैं। यह नंबर सातों दिन चौबीसों घंटे काम करेगा।

दोनों खुराकों के बीच 28 दिन का अंतर होगा

केंद्र सरकार ने राज्यों को वैक्सीन देने में अतिरिक्त सावधानी बरतने और दोनों अलग-अलग वैक्सीनों की खुराक देने से बचने को कहा है। वैक्सीनेशन के दौरान लोगों को एक ही वैक्सीन की खुराक लगवानी होगी और उनके पास वैक्सीन चुनने का विकल्प नहीं होगा। लोगों को ये पूछ लेना चाहिए कि उनको कौन सी वैक्सीन लगाई जा रही है।

यह भी पढ़ें: कोहरे की चपेट में दिल्ली: सैकड़ों फ्लाइट और 25 ट्रेनें रद्द, जारी हुआ अलर्ट

corona virus vaccination
(फोटो- सोशल मीडिया)

वैक्सीन की दोनों खुराकों के बीच 28 दिन का अंतराल होगा और दूसरी खुराक मिलने के 14 दिन बाद शरीर में कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडीज बनना शुरू होंगी। इसलिए वैक्सीन लगवाने के बाद भी सावधानी जरूरी है। चूँकि अभी वैक्सीन भी नयी है और कोरोना के बारे में भी अभी जानकारियाँ मिल ही रहीं हैं सो वैक्सीन लगवाने के बाद मास्किंग, 6 फुट की दूरी, साफ़ सफाई, हैण्ड वाशिंग जैसे एहतियात पूरी शिद्दत के साथ जारी रखने होंगे।

नीलमणि लाल

यह भी पढ़ें: युवक के इंटरनल पार्ट में एयरप्रेशर से भरी हवा, आईसीयू में भर्ती, हालत चिंताजनक

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App