खतरनाक वायरस की भारत में दस्तक! जानिए क्या हैं इसके लक्षण, ऐसे करें बचाव

भारत में खतरनाक कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। दो संदिग्धों को मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल उनका परीक्षण हो रहा है। इस बीच कोरोना वायरस से चीन में अब 26 लोगों की जान चली गई है तो वहीं 830 लोग संक्रमित हैं।

नई दिल्ली: भारत में खतरनाक कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। दो संदिग्धों को मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल उनका परीक्षण हो रहा है। इस बीच कोरोना वायरस से चीन में अब 26 लोगों की जान चली गई है तो वहीं 830 लोग संक्रमित हैं। चीन के वुहान समेत 9 शहरों को बंद कर दिया गया है। वुहान में 700 से अधिक भारतीय छात्र पढ़ते हैं।

मिली जानकारी के चीन से वापस आए दो लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका जताई जा रही है। दोनों मरीजों को कस्तूरबा अस्पताल में अलग वार्ड में भर्ती किया गया है। कस्तूरबा अस्पताल के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक दोनों मरीजों का हल्के सर्दी-जुकाम के लक्षण हैं। फिलहाल अस्पताल में भर्ती मरीजों को इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। चीन में कोरोना वायरस फैलने से लोगों में दहशत का माहैल है।

कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर एहतियातन बीएमसी ने कस्तूरबा अस्पताल को खास निर्देश दिए हैं। चिंचपोकली के कस्तूरबा अस्पताल में कोरोना वायरस के मरीजों के लिए अलग वार्ड बनाया गया है ताकि उनकों बाकी मरीजों के संपर्क से दूर रखा जा सके और हर संभव इलाज किया जा सके।

यह भी पढ़ें…EC का सुप्रीम कोर्ट को सुझाव, कहा- अपराधियों को न मिले टिकट

भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिल्ली, मुंबई व कोलकाता हवाई अड्डों पर चीन से आने वाले अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की एहतियातन थर्मल स्कैनर के जरिए जांच करने के निर्देश दे दिए हैं। इस संबंध में विमानों में भी घोषणाएं की जा रही हैं। चीन जाने वाले और वहां से आने वाले यात्रियों के लिए परामर्श जारी हुआ है।

एक रिपोर्ट में बताया गया है कि जर्मनी के कुछ वैज्ञानिकों ने इसकी वैक्सीन तैयार करने के फॉर्मूले का पहला पड़ाव पार कर लिया है। जल्द ही इसकी आधिकारिक दवा का ऐलान किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें…महाराष्ट्र में घमासान! अब फोन टैपिंग में सरकार परेशान, जानें क्या है मामला

कोरोना वायरस

कोरोना वायरस विषाणुओं के परिवार का है। यह वायरस ऊंट, बिल्ली और चमगादड़ समेत कई पशुओं में भी प्रवेश कर रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, कोरोना वायरस सी-फूड से संबंधित है।

वायरस के लक्षण

कोरोना वायरस के मरीजों में जुखाम, खांसी, गले में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बुखार जैसे शुरुआती लक्षण दिखाई देते हैं। इसके बाद ये लक्षण न्यूमोनिया में बदल जाते हैं और किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं। फेफड़े में गंभीर किस्म का संक्रमण हो जाता है।

अभी तक इस वायरस से बचने के लिए कोई वैक्सीन नहीं बनी है, लेकिन इसके लक्षणों के आधार पर ही चिकित्सक इसके इलाज में दूसरी जरूरी दवाओं का उपयोग कर रहे हैं। हालांकि अब इसकी दवा भी खोजी जा रही है।

यह भी पढ़ें…PM मोदी ने ‘वीर बच्चों’ से स्मृति ईरानी को लेकर किया ये सवाल, लगने लगे ठहाके

ऐसे करें बचाव

अपने हाथ साबुन और पानी या अल्कोहल युक्त हैंड रब से साफ करें। खांसते और छींकते वक्त अपनी नाक और मुंह को टिश्यू या मुड़ी हुई कोहनी से ढंक कर रखें।

जिनमें सर्दी या फ्लू जैसे लक्षण हों, उनके साथ दूरी बनाकर रखें।

इसके अलावा खाने को अच्छे से पकाएं, मीट और अंडों को भी पकाकर ही खाएं। जानवरों के संपर्क में कम आएं।