Top

पति के प्यार में कोरोना का डर भूलीं सुहागिन, वट सावित्री की पूजा कर मांगी लंबी उम्र

आज वट सावित्री का व्रत है। हिन्‍दू धर्म में सुहागिनों के लिए इस व्रत का बेहद खास महत्व होता है। मान्‍यता है कि ये व्रत रखने से पति की उम्र लंबी होती है। साथ ही वैवाहिक जीवन में सुख-शांति आती है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 22 May 2020 6:17 AM GMT

पति के प्यार में कोरोना का डर भूलीं सुहागिन, वट सावित्री की पूजा कर मांगी लंबी उम्र
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आज वट सावित्री का व्रत है। हिन्‍दू धर्म में सुहागिनों के लिए इस व्रत का बेहद खास महत्व होता है। मान्‍यता है कि ये व्रत रखने से पति की उम्र लंबी होती है। साथ ही वैवाहिक जीवन में सुख-शांति आती है।

सुहागन महिलाएं इस व्रत को पूरे विधि विधान से करती हैं और अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं। इस बार ये व्रत कोरोना वायरस के संकट के बीच आया है, लेकिन महिलाओें ने कोरोना के डर को दूर करते हुए वट वृक्ष की पूजा की।

यह भी पढ़ें: अमेरिका का बड़ा कदम, अलकायदा के खूंखार आतंकी जुबैर को भारत को सौंपा

महिलाओं ने कोरोना वायरस और लॉकडाउन के बीच वट वृक्ष की पूजा की। पूजा करने के दौरान कईयों महिलाओं ने तो मास्क पहनकर नियमों का पालन किया तो वहीं कुछ महिलाएं बिना मास्क के भी देखी गईं। कई महिलाएं अपने घरों से बाहर निकलकर वट वृक्ष की पूजा करती हुई देखी गईं।

तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि पूजा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का भी पालन नहीं किया गया है। ज्यादातर महिलाएं एक-दूसरे के काफी नजदीक खड़ी हैं और बिना मास्क लगाए पूजा कर रही हैं। इस व्रत के महत्व के आगे महिलाओं ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के महत्व को भूला दिया है।

यह भी पढ़ें: शुरू हो गई ट्रेनिंग: मिशन में आई जबरदस्त तेजी, रूस में की जा रही हैं तैयारियां

अगर इस व्रत के बारे में बात की जाए तो इस दिन वट वृक्ष की पूजा होती है। कहा जाता है कि वटवृक्ष की जड़ों में ब्रह्मा, तने में भगवान विष्णु और डालियों और पत्तियों में भगवान शिव का निवास स्थान माना जाता है।

इस व्रत में महिलाएं वट वृक्ष की पूजा करती हैं, सावित्री-सत्यवान की की कथा सुनने के बाद महिलाओं की अखंड सौभाग्य की कामना पूरी होती है।

यह भी पढ़ें: भारत के साथ आया अमेरिका, चीन को बताया दुनिया के लिए खतरा

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story