×

इंटरनेशनल हवाई यात्रा की बात अभी भूल जाएं, सरकार ने लिया ये फैसला

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देख कर केंद्र सरकार ने अभी अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा सेवा को बंद रखने का फैसला किया है। सरकार आदेश के अनुसार कमर्शियल अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा सेवा पर प्रतिबंध 15 जुलाई तक लागू रहेगा। हालांकि, यह प्रतिबंध कारगो ऑपरेशन और डीजीसीए (नागर विमानन महानिदेशालय) से अनुमति प्राप्त उड़ानों पर लागू नहीं होगा।

suman
Updated on: 26 Jun 2020 1:32 PM GMT
इंटरनेशनल हवाई यात्रा की बात अभी भूल जाएं, सरकार ने लिया ये फैसला
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देख कर केंद्र सरकार ने अभी अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा सेवा को बंद रखने का फैसला किया है। सरकार आदेश के बाद कमर्शियल अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा पर प्रतिबंध 15 जुलाई तक लागू रहेगा। हालांकि, यह प्रतिबंध कारगो ऑपरेशन और डीजीसीए (नागर विमानन महानिदेशालय) से अनुमति प्राप्त उड़ानों पर लागू नहीं होगा।

यह पढ़ें...UP Board Result 2020: कल होगा बच्चो के भविष्य का फैसला, ऐसे देखें अपना रिजल्ट

बता दें कि देश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए 25 मार्च को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगाया गया था। इस दौरान रेल और विमान सहित सभी प्रकार के परिवहन पर रोक लगा दी गई थी। हालांकि, 31 मई के बाद सरकार ने लॉकडाउन में चरणबद्ध तरीके से ढील देनी शुरू की, जिसके तहत घरेलू उड़ानों को अनुमति दे दी गई है।

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बीते दिनों कहा था कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को लेकर सरकार जुलाई में कोई फैसला कर सकती है।नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा था कि अगर कोरोना वायरस संक्रमण अनुमान के मुताबिक फैसला है और उड़ानों को संचालित करने की व्यवस्था और संबंधित देश तैयार हो जाते हैं तो सरकार जुलाई में इसे लेकर कोई फैसला करेगी।

यह पढ़ें...सीएम व स्वास्थ्य मंत्री की आफतः अस्पताल के दौरे के बाद वार्ड ब्वाय निकला पॉजिटिव

देश में कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार ने अभी अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा सेवा को बंद रखने का फैसला किया है। शुक्रवार को जारी एक आदेश के अनुसार कमर्शियल अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा सेवा पर प्रतिबंध 15 जुलाई तक लागू रहेगा। हालांकि, डीजीसीए ने कहा है कि स्थितियों के अनुसार चयनित मार्गों पर कुछ अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवाओं को संचालन की अनुमति दी जा सकती है। यह प्रतिबंध कारगो ऑपरेशन (माल ढुलाई) और डीजीसीए (नागर विमानन महानिदेशालय) से अनुमति प्राप्त उड़ानों पर लागू नहीं होगा।

यह पढ़ें...संशोधन बिल को पारित न होने देने की अपील, चेयरमैन ने केंद्र सरकार को लिखा पत्र

इससे पहले गुरुवार को रेलवे बोर्ड ने ट्रेनों पर लगी रोक को आगे बढ़ाने का एलान किया था। बोर्ड ने कहा था कि 12 अगस्त तक सभी मेल, एक्सप्रेस, पैसेंजर, लोकल और ईएमयू ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा। इसके साथ ही किसी का आरक्षण है तो उसे टिकट की पूरी कीमत वापस की जाएगी।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

suman

suman

Next Story