Top

कोरोना वायरस: रेलवे ने इन श्रेणियों को छोड़कर सभी टिकट किए निलंबित

इस बिच भारतीय रेलवे ने मरीजों, छात्रों और दिव्यांगजन श्रेणी के तहत रियायत पाने वालों को छोड़कर अन्‍य सभी टिकटों को 20 मार्च की आधी रात से अगली सूचना आने तक निलंबित करने का फैसला किया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए रेलवे की ओर से यह अस्‍थाई आदेश जारी किया गया है जिससे ट्रेनों में अनावश्‍यक भीड़ पर काबू पाया जा सके।

Ashiki Patel

Ashiki PatelBy Ashiki Patel

Published on 19 March 2020 12:16 PM GMT

कोरोना वायरस: रेलवे ने इन श्रेणियों को छोड़कर सभी टिकट किए निलंबित
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्‍ली: कोरोना का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इसकी वजह से चारो ओर हाहाकार मचा हुआ है। इस बिच भारतीय रेलवे ने मरीजों, छात्रों और दिव्यांगजन श्रेणी के तहत रियायत पाने वालों को छोड़कर अन्‍य सभी टिकटों को 20 मार्च की आधी रात से अगली सूचना आने तक निलंबित करने का फैसला किया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए रेलवे की ओर से यह अस्‍थाई आदेश जारी किया गया है जिससे ट्रेनों में अनावश्‍यक भीड़ पर काबू पाया जा सके।

ये भी पढ़ें: वैज्ञानिकों ने खोज लिया कोरोना का राज, चीन ने ऐसे बनाया ये खतरनाक वायरस

भीड़ कम करने के लिए लिया गया फैसला-

रेलवे की तरफ से जारी इस आदेश में कहा गया है कि अगली सूचना आने तक बुजुर्गों को रेलवे में रियायती टिकट नहीं मिलेगा जिससे वरिष्‍ठ नागरिकों की उन यात्राओं पर नियंत्रण लग सके जो जरूरी नहीं है। बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा ज्यादातर बुजुर्गों पर है। अभी तक इस वायरस से देश में जितनी भी मौतें हुई हैं उनमें सबकी उम्र 60 साल के ऊपर ही।

ये भी पढ़ें: जारी हुई नोटिस, कोरोना को लेकर यूजीसी ने उठाया ये महत्वपूर्ण कदम

इसके पहले रेलवे ने प्लेटफार्म टिकट के भी बढ़ाये थे दाम-

इसके आलावा प्‍लेटफार्मों पर भी भीड़ को कम करने के लिए रेलवे ने प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत में भी बढ़ोत्तरी कर दिया है। रेलवे ने देश के लगभग 250 स्‍टेशनों पर प्‍लेटफार्म टिकटों की कीमतें 10 रुपये से बढ़ाकर 50 रुपये कर दिए हैं। दिल्ली मंडल में 234 रेलवे स्टेशन हैं और उन सभी पर उक्‍त आदेश लागू हो गया है। यही नहीं रेलवे ने जोनों को गाइडलाइन जारी की है। उसमें कहा गया था कि जिस कैटरिंग स्टाफ को बुखार, कफ, नाक बहने या सांस लेने में दिक्कत जैसी परेशानी हो उसे काम पर नहीं लिया जाए।

ये भी पढ़ें: 2.5 करोड़ नौकरियों पर खतरा: कोरोना वायरस से दुनिया भर में बढ़ सकती है बेरोजगारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Ashiki Patel

Ashiki Patel

Next Story