कोरोना के इलाज में प्लाज्मा थेरेपी कारगर, 4 मरीजों पर ट्रायल में चौंकाने वाले नतीजे

नई दिल्ली में चार मरीजों पर प्लाज्मा थेरेपी का ट्रायल किया गया। उसके नतीजे काफी अच्छे आये हैं। ये सभी मरीज लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल में भर्ती हैं। ये जानकारी सीएम अरविंद केजरीवाल ने दी।

नई दिल्ली: नई दिल्ली में चार मरीजों पर प्लाज्मा थेरेपी का ट्रायल किया गया। उसके नतीजे काफी अच्छे आये हैं। ये सभी मरीज लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल में भर्ती हैं।

ये जानकारी सीएम अरविंद केजरीवाल ने दी। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ने से रोकने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर हर संभव कदम उठा रही हैं।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की इजाजत के बाद हमने प्लाज्मा थेरेपी का ट्रायल किया था, हमने 4 मरीजों पर इसका ट्रायल किया था, उसके नतीजे काफी अच्छे आये हैं।

” उन्होंने कहा कि ”हमने लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल के 4 मरीज़ों पर प्लाज्मा का ट्रायल करके देखा, उसके अब तक के नतीजे उत्साहवर्धक हैं।”

वहीं डॉक्टरों ने बताया कि नतीजे बेहतर रहे हैं। हमें ज्यादा से ज्यादा प्लाज्मा की जरूरत है। इसलिए जो भी लोग ठीक हो रहे हैं वो आगे आएं और प्लाज्मा डोनेट करें। अभी भी कई ऐसे मरीज हैं जिन्हें प्लाज्मा की जरूरत है।

कोरोना काल के बाद भयानक होने वाली है स्थिति, लोगों का होगा ऐसा हाल

बन गई कोरोना की दवा, इस देश ने बंदरों पर किया सफल परीक्षण, इंसानों पर ट्रायल

क्या है ये प्लाज्मा थेरेपी

ये एक ट्रीटमेंट की टेक्नोलोजी है, जिसके अंतर्गत कोरोना से इलाज के बाद ठीक हो चुके मरीजों का ब्लड कोरोना संक्रमित में चढ़ाया जाता है और इसके जरिए कोरोना वायरस का ट्रीटमेंट किया जाता है।

अमूमन होता ये है कि कोरोना से ठीक हो चुके आदमी के शरीर से खून लेकर उसमें से प्लाज्मा निकाला जाता है और इस प्लाज्मा को नए कोरोना मरीज में चढ़ाया जाता है। ऐसा करने से कोरोना संक्रमित मरीज में एंटीबॉडिज बनाता है।

उसके शरीर में कोरोना से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता मजूबत होती है। उम्मीद की जाती है कि कोरोना के खिलाफ तैयार हुए इस प्रतिरोधक क्षमता से कोरोना के विषाणु को खत्म किया जा सकता है। ब्लड प्लाज्मा थेरेपी में बीमारी से स्वस्थ्य हुए मरीज के शरीर से प्लाज्मा निकाला जाता है।

ब्लड प्लाज्मा शरीर में मौजूद पीले रंग का तरल होता है। ये खून में 55 फीसदी तक मौजूद रहता है। जबकि शरीर में 41 फीसदी के आसपास रेड ब्लड सेल और 4 परसेंट वाइट ब्लड सेल होते हैं।

खून में मौजूद ब्लड प्लाज्मा की वजह से ही पूरे शरीर में रक्त का संचार होता है। ब्लड प्लाज्मा में 91 परसेंट पानी होता है जबकि 9 फीसदी हिस्से में शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्व जैसे विटेमिन, मिनरल और प्रोटीन होता है।

ये भी पढ़ें…कोरोना संकट के बीच गांव वालों ने दुनिया को बड़ा संदेश दिया-पीएम मोदी