तबाह हो जाएगा पूरा पाकिस्तान, भारत ने किया इस खतरनाक मिसाइल का परीक्षण

डीआरडीओ ने आज दोपहर पिनाका मिसाइल सिस्टम का सफल परीक्षण किया। ये रीक्षण ओडिशा के तट पर चांदीपुर रेंज से किया गया। पिनाका एक आर्टिलरी मिसाइल सिस्टम है जो 75 किलोमीटर की दूरी तक सटीक निशाना लगाने में सक्षम है।

Published by Aditya Mishra Published: December 19, 2019 | 6:16 pm

नई दिल्ली: डीआरडीओ ने आज दोपहर पिनाका मिसाइल सिस्टम का सफल परीक्षण किया। ये रीक्षण ओडिशा के तट पर चांदीपुर रेंज से किया गया। पिनाका एक आर्टिलरी मिसाइल सिस्टम है जो 75 किलोमीटर की दूरी तक सटीक निशाना लगाने में सक्षम है।

पहले पिनाका में गाइड लाइन सिस्टम नहीं था। इसे अब एडवांस गाइड लाइन सिस्टम से लैस किया गया है। इस सिलसिले में हैदराबाद रिसर्च सेंटर इमारत (आरसीआई) ने नौवहन दिशा निर्देशन एवं नियंत्रण कीट विकसित किया है।

सूत्रों के अनुसार मिली जानकारी के अनुसार इस बदलाव से पिनाका की मारक क्षमता और सटीकता दोनों बढ़ गई है। पहले इसकी मारक क्षमता 40 किमी. थी जो अब बढ़कर 70 किमी. हो गई है।

ये भी पढ़ें…तीन देशों ने लगाया ईरान पर आरोप- कहा सबसे अच्छी मिसाइल क्यों बनायी

टेलीमेट्री सिस्टम से पूरे मार्ग की निगरानी

चांदीपुर के रक्षा क्षेत्र में रडार इलेक्ट्रो आप्टिकल सिस्टम, टेलीमेट्री सिस्टम ने पिनाका राकेट के पूरे मार्ग की निगरानी किया। पिनाका को पुणे के अमार्टमेंट रिसर्च एण्ड डेवलेपमेंट स्टाबलिसमेंट, आरीसीआई और हैदराबाद के डिफेंस रिसर्च एण्ड डेवलेपमेंट लाब्रोटरी ने मिलकर तैयार किया है।

इस राकेट के परीक्षण के मौके पर रक्षा अनुसंधान व विकास संगठन तथा अंतरिम परीक्षण परिसर (आईटीआर) से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी व वैज्ञानिक दल मौजूद था।

सूत्रों की माने तो इस महीने के अंत तक और कई राकेट व मिसाइल का परीक्षण होने की सम्भावना है। गौरतलब है कि अभी कुछ दिन पहले रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन तथा रूस के वैज्ञानिकों के मिश्रित प्रयास से निर्मित जमीन से जमीन पर मार करने वाले क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का चांदीपुर आइटीआर के एलसी तीन से सुबह 8 बजकर 30 मिनट पर सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया था।

ये भी पढ़ें…पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल परीक्षण, दुश्मनों को कर देगी तबाह

300 किलोग्राम वजन तक विस्फोटक ढोने में सक्षम

यह प्रक्षेपास्त्र 8.4 मीटर लंबा 0 पॉइंट 6 मीटर चौड़ा था, इसका वजन 3000 किलोग्राम था। यह प्रक्षेपास्त्र 300 किलोग्राम वजन तक विस्फोटक ढोने तथा 290 किलोमीटर तक मारक क्षमता रखता है।

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल आवाज की गति से भी 2.8 गुना तीव्रगति क्षमता रखता है। इस प्रक्षेपास्त्र को पानी के जहाज, हवाई जहाज, जमीन तथा मोबाइल लांचर से भी छोड़ा जा सकता है। इसे किसी भी दिशा एवं लक्ष्य की ओर मनचाहा तरीके से छोड़ा जा सकता है। ये एक सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान ने मिसाइल से किया भारत पर बड़ा हमला, सेना ने उठाया ये कड़ा कदम

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App