विपक्षी दल करेंगे राष्ट्रपति से मुलाकात, कृषि बिल को लेकर रखेंगे ये मांग

राज्यसभा में कल यानी रविवार को भारी हंगामे और शोर-शराबे के बीच कृषि सुधार से जुड़े दो विधेयकों को ध्वनिमत से मंजूरी मिल गई। कृषि बिल को लेकर संसद से सड़क तक अब भी संग्राम जारी है। इन सब के बीच विपक्षी पार्टियों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने का समय मांगा है।

Published by Shreya Published: September 21, 2020 | 3:36 pm
President Ramnath Kovind

विपक्षी दल करेंगे राष्ट्रपति से मुलाकात, कृषि बिल को लेकर रखेंगे ये मांग (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: संसद के मॉनसून सत्र का आज आठवां दिन है। राज्यसभा में कल यानी रविवार को भारी हंगामे और शोर-शराबे के बीच कृषि सुधार से जुड़े दो विधेयकों को ध्वनिमत से मंजूरी मिल गई। हालांकि इस दौरान विपक्ष की ओर से जमकर हंगामा किया गया। कृषि बिल को लेकर संसद से सड़क तक अब भी संग्राम जारी है। इन सब के बीच विपक्षी पार्टियों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने का समय मांगा है।

विपक्षी दल राष्ट्रपति से मुलाकात कर करेंगे ये मांग

माना जा रहा है कि विपक्षी पार्टियां राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात कर ये अपील करेंगी कि राष्ट्रपति दोनों कृषि बिलों पर अपने हस्ताक्षर ना करें और इन्हें वापस राज्यसभा में भेज दें। साथ ही इस दौरान विपक्ष द्वारा रविवार को राज्यसभा में क्या-क्या हुआ, इस बारे में राष्ट्रपति को पूरी जानकारी दी जाएगी। बता दें कि बीते दिन राज्यसभा में कृषि विधेयक पास होने के बाद काफी हंगामा हुआ था, माइक तक तोड़ दिए गए थे।

यह भी पढ़ें: दीदी का ‘हिन्दू कार्ड: बंगाल में भाजपा की बढ़ती जा रही पैठ, अब ममता ने कसी कमर

Monsson Session
कृषि विधेयकों के पास होने पर हुआ हंगामा (फोटो- सोशल मीडिया)

कृषि विधेयकों के पास होने पर हुआ हंगामा

रविवार को केंद्र की मोदी सरकार ने लोकसभा के बाद राज्यसभा से कृषि सम्बन्धी अध्यादेशों को पास करवाया तो इसके खिलाफ हंगामा खड़ा हो गया। जानकारी के लिए आपको बता दें कि राज्यसभा में ध्वनिमत से कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सरलीकरण) विधेयक-2020 और कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 को हरी झंडी दिखा दी गई है।

यह भी पढ़ें: NCB के इस 55वें सवाल पर फंस गई रिया चक्रवर्ती, ले लिए इन बड़े कलाकारों के नाम

सभापति ने किया आठ सांसदों को निलंबित

इसके अलावा विपक्षी पार्टियां आठ राज्यसभा सांसदों को पूरे मॉनसत्र सत्र के लिए निलंबित करने का भी मामला उठाएंगी। साथ ही कल एक बार फिर इस मसले को राज्यसभा में उठाया जाएगा। बता दें कि राज्यसभा सभापति वेंकैया नायडू रविवार को कृषि विधेयक पर हुए हंगामे को लेकर काफी नाराज दिखाई दिए। जिसके बाद उन्होंने हंगामा करने वाले विपक्ष के आठ सांसदों को हुए सत्र के लिए निलंबित कर दिया है।

8 mp suspended
सभापति ने किया आठ सांसदों को निलंबित (फोटो- सोशल मीडिया)

यह भी पढ़ें: सांसदों को हंगामा पड़ा भारी: की गई कड़ी कार्रवाई, अब सत्र से हुए सस्पेंड

इन्हें मॉनसून सत्र के लिए किया गया निलंबित

वेंकैया नायडू ने जिन आठ सांसदों को सत्र के लिए निलंबित किया है, उनमें डेरेक ओ ब्रायन, सैयद नासिर हुसैन, केके रागेश, ए करीम, संजय सिंह, रिपुन बोरा, राजीव साटव और डोला सेन का नाम शामिल है। इस तरह से अब उच्च सदन में विपक्ष की ताकत और कमजोर हो चुकी है और सत्तापक्ष का पलड़ा भारी हो चुकी है। आठ सांसदों के निलंबित होने के बाद उच्च सदन का समीकरण सत्ताधारी एनडीए के पक्ष में हो गया है।

यह भी पढ़ें: वैक्सीन कराएगी इंतजार: लग जाएगा 4 साल का लंबा समय, पढ़ें ये पूरी रिपोर्ट

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App