किसानों के आन्दोलन के कारण किन-किन बॉर्डरों पर लगा है महाजाम, यहां जानें

दिल्ली के चारों ओर पंजाब और हरियाणा के किसानों ने पिछले कुछ दिनों डेरा जमाया हुआ है। कृषि कानून के खिलाफ सड़कों पर उतरे किसान अब पीछे हटने का नाम नहीं ले रहे हैं और दिल्ली में घुसने के लिए अड़े हैं।

kisan andolan

किसानों के आन्दोलन के कारण किन-किन बॉर्डरों पर लगा है महाजाम, यहां जानें (फोटो:सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: कृषि बिल के खिलाफ किसानों का आन्दोलन जारी है। केंद्र सरकार की तरफ से किसानों के आन्दोलन को खत्म करने के लिए तमाम तरह की कोशिशें की गई लेकिन सब बेनतीजा रही। किसान आन्दोलन खत्म करने के मूड में नहीं हैं।

उनका कहना है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती हैं वे अपने घर लौटकर नहीं जाएंगे। वे इस बार अपने साथ रहने और खाने का पूरा साजो सामान लेकर आये हैं।

वे दिल्ली से लौटकर इतनी आसानी से इस बार नहीं जाने वाले हैं। उन्हें दिल्ली आने से रोकने के लिए उनके ऊपर वाटर कैनन का इस्तेमाल किया गया और आंसू गैस के गोले भी दागे गये लेकिन किसान पीछे नहीं हटे बल्कि आगे बढ़ते ही चलें गये।

farmer protest
किसानों के आन्दोलन के कारण किन-किन बॉर्डरों पर लगा है महाजाम, यहां जानें (फोटो: सोशल मीडिया)

किसानों को 2000 रुपये: पीएम योजना का बड़ा फायदा, छोड़ दें प्रदर्शन कर लें यह काम

पंजाब और हरियाणा के किसानों ने दिल्ली को चारों तरफ से घेरा

दिल्ली के चारों ओर पंजाब और हरियाणा के किसानों ने पिछले कुछ दिनों डेरा जमाया हुआ है। कृषि कानून के खिलाफ सड़कों पर उतरे किसान अब पीछे हटने का नाम नहीं ले रहे हैं और दिल्ली में घुसने के लिए अड़े हैं।

पहले दिल्ली-हरियाणा के सिंधु बॉर्डर पर किसानों ने बड़ी संख्या में डेरा जमाया, पुलिस से संघर्ष किया। अब गाजीपुर बॉर्डर पर भी ऐसा ही हाल है और किसान यहां पर बैठ गए हैं, जिसके कारण दिल्ली-एनसीआर के लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

किसान प्रदर्शन को देखते हुए जारी की गई दिल्ली पुलिस की एडवाइजरी के मुताबिक, टिकरी बॉर्डर किसी भी ट्रैफिक मूवमेंट के लिए बंद है। इसके अलावा झारोदा, धांसा, दौराला झटीकरा, बडूसरी, कापसहेड़ा, राजोखरी NH 8, बिजवासन / बजघेरा, पालम विहार और दुंदाहा बॉर्डर खुला है, जहां से यात्री अपनी यात्रा कर सकते हैं।

गाजियाबाद और गाजीपुर को जोड़ने वाली सीमा पर बड़ी संख्या में किसान जमा हैं। यहां बीती रात बड़ी संख्या में किसान सड़कों पर रहे, कृषि कानून का विरोध किया।

रातभर गाना गाया और एक दूसरे का हौसला बढ़ाया।  दिल्ली पुलिस के मुताबिक, टिकरी और सिंधु बॉर्डर पर किसी तरह की ट्रैफिक मूवमेंट की परमिशन नहीं दी गई है।

दिल्ली-देहरादून और दिल्ली-मेरठ हाइवे पर तरह से जाम

कुछ ऐसा ही हाल यूपी का भी है। यहां पर किसानों ने मेरठ आने वाले रास्ते पर भी डेरा जमाया हुआ है। मेरठ, मुजफ्फरनगर, बागपत के किसान भारतीय किसान यूनियन की अगुवाई में दिल्ली-देहरादून हाइवे को जाम किए हुए हैं और दिल्ली आने पर अड़े हैं। लेकिन पुलिस ने रास्ते में ही किसानों को रोका हुआ है और जिसके कारण दिल्ली-मेरठ के रास्ते पर बुरी स्थिति है।

उधर किसानों के विरोध प्रदर्शन की वजह से दिल्ली-बहादुरगढ़ रोड पर टिकरी बॉर्डर पर लोगों को तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यहां ट्रैफिक मूवमेंट ठप है, ऐसे में लोग मेट्रो का रुख कर रहे हैं जहां सुरक्षा पहले से और भी ज्यादा कड़ी कर दी गई है।

Farmers
किसानों के आन्दोलन के कारण किन-किन बॉर्डरों पर लगा है महाजाम, यहां जानें (फोटो: सोशल मीडिया)

मिला हीरों का खजाना: पूरे गाँव में मच गई भगदड़, खोदे गए पूरे के पूरे पहाड़

टिकरी बॉर्डर पर किसानों का लगा हुआ भारी जमावड़ा

वहीं दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर भी बड़ी संख्या में किसान इकट्ठा हो गए हैं। अब यहां पर पुलिस ड्रोन कैमरे के जरिए उनकी निगरानी की जा रही है।

टिकरी बॉर्डर पर भी किसानों की मौजूदगी है, जहां बड़ी संख्या में किसान डटे हुए हैं। किसान सिंधु बॉर्डर पर भी एकत्र हैं, जहां पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए सड़क पर ही गड्ढा कर दिया था।

किसानों ने पुलिस पर पथराव किया तो पुलिस ने भी पानी की बौछार, आंसू गैस का इस्तेमाल किया। इस जगह किसानों और पुलिस के बीच लंबा संघर्ष भी चला। किसान इस बार पूरी तैयारी करके यहां तक पहुंचे हैं।

तूफान में सोने की बाढ़: समुद्र किनारे जुटे सैंकड़ों भारतीय, मच गई अफरा-तफरी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App