FASTag: लेन का एक चौथाई हिस्सा बनेगा हाइब्रिड, लोगों को 1 महीने की राहत

आज यानि 15 दिसंबर से देशभर के नेशनल हाइवेज के टोल प्लाजा पर फास्टैग सिस्टम के जरिये भुगतान की सुविधा आधी रात से लागू हो गई है, लेकिन सरकार ने शुरुआत में लोगों को एक महीने (30 दिन) की राहत दी है।

FASTag: लेन का एक चौथाई हिस्सा बनेगा हाइब्रिड, लोगों को 1 महीने की राहत

FASTag: लेन का एक चौथाई हिस्सा बनेगा हाइब्रिड, लोगों को 1 महीने की राहत

नई दिल्ली: आज यानि 15 दिसंबर से देशभर के नेशनल हाइवेज के टोल प्लाजा पर फास्टैग सिस्टम के जरिये भुगतान की सुविधा आधी रात से लागू हो गई है, लेकिन सरकार ने शुरुआत में लोगों को एक महीने (30 दिन) की राहत दी है। इसके तहत नेशनल हाइवेज के टोल प्लाजा पर चालकों को परेशानी से बचाने के लिए फास्टैग के 25% लेन को हाइब्रिड रखा जाएगा। 15 जनवरी तक आप इन हाइब्रिड लेन्स में फास्टैग सिस्टम के साथ कैश पेमेंट से भी टोल दे सकते हैं। बता दें कि, केंद्र सरकार ने 1 दिसंबर से सभी गाड़ियों में फास्टैग को अनिवार्य कर दिया था। हालांकि बाद में इसे बढ़ाकर 15 दिसंबर तक कर दिया गया।

यह भी पढ़ें: CAB: पूर्वोत्तर से निकाले गए 2400 यात्री, CM सोनोवाल करेंगे पीएम से मुलाकात

25% हिस्सा बन सकता है हाइब्रिड लेन

शनिवार को सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने कहा, ‘भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) के अनुरोध और लोगों को हो रही परेशानियों को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया है कि, टोल प्लाजा पर गाड़ियों की भीड़ के अनुसार फास्टैग लेन के 25% हिस्से (एक चौथाई) को हाइब्रिड लेन में बदला जा सकता है।’

हालांकि लेन के कितने हिस्से को हाइब्रिड लेन बदला जाएगा, यह हालात पर निर्भर होगा। परिवहन मंत्रालय ने आगे बताया कि, किसी भी हालत में यह सुनिश्चित होना चाहिए कि फास्टैग लेन 75% से कम न हो। मंत्रालय ने यह भी बताया है कि यह उपाय अस्थाई है और इस उपाय को केवल 30 दिन (एक महीने) के लिए मंजूरी दी गई है। ताकि लोगों को कोई तकलीफ न हो।

बता दें कि सरकार ने इससे पहले टॉल प्लाजा से निकलने के लिए फास्टैग को अनिवार्य करने की समय सीमा को एक दिसंबर से बढ़ाकर 15 दिसंबर तक बढ़ा दी थी।

यह भी पढ़ें: ऐसा क्या करने जा रही है मोदी सरकार, मंत्रियों की बुलाई बैठक, शाह और नड्डा भी रहेंगे

चाहे आपका वाहन प्राइवेट हो या कमर्शल, सबके लिए फास्टैग जरूरी है। इसलिए, अगर आपके वाहन के पास फास्टैग नहीं है तो जल्द ही इसे ले लें और परेशानियों से मुक्ति पाएं।

क्या है फास्टैग और कैसे करेगा काम?

– फास्टैग टोल टैक्स कलेक्शन के लिए प्रीपेड रिचार्जेबल टैग है, जिसके जरिए ऑटोमैटिक पेमेंट हो जाती है।

– अगर आपकी गाड़ी में फास्टैग है तो आपको टोल पर रुकने की जरूरत नहीं होगी, टोल से गुजरते समय ही टोल कट जाएगा।

– आपकी गाड़ी पर लगे फास्टैग से लिंक्ड आपके बैंक खाते से टैक्स डिडक्ट हो जाएगा।

– बता दें कि फास्टैग में एक्सपायरी डेट नहीं होती और यह तब तक खराब नहीं होते, जब तक टोल पर रीडेबल होते हैं।

– आप फास्टैग को 22 सर्टिफाइड बैंकों के पॉइंट ऑफ सेल और चुनिंदा बैंक शाखाओं से खरीदा सकते हैं। यह ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म पर भी उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें: ऐसा क्या करने जा रही है मोदी सरकार, मंत्रियों की बुलाई बैठक, शाह और नड्डा भी रहेंगे